blogid : 6240 postid : 737224

किसे चाहिए वैरागी ? हर दल मांगे, केवल दागी।

Posted On: 30 Apr, 2014 Others में

आईने के सामनेसामयिक मुद्दे पर लिखी गयी ब्यंगात्मक रचनाएं

manojjohny

74 Posts

227 Comments

किसे चाहिए वैरागी ? हर दल मांगे, केवल दागी।
जिसके पास है पैसा-पावर, जनता उसके पीछे भागी।

जाति-धर्म-धन जनता देखे, और नहीं कुछ जाँचें,
पैंसठ सालों में तो अब तक, जनता कभी नहीं जागी।

काम नहीं, जब जाति योग्यता, जन-जन ही यह सोचें,
टिकट मिलेगा जिसके जाति की, ज्यादा हो आबादी।

मन्दिर-ले लो, मस्जिद-ले लो, छोड़ो बिजली-पानी,
सेक्युलर मुद्दे में बस उलझो, भूलो मुद्दे बुनियादी।

पूजा करें देवियों की, और कन्या भ्रूण में मारें,
रेप-दहेज में झुलस रही है, अब तक आधी-आबादी।

बेईमानों की मौज हो रही, सजा पा रहे हैं सच्चे,
भ्रष्टतन्त्र की बन्धक बनी जो, लानत एसी आजादी।

किसे चाहिए वैरागी ? हर दल मांगे, केवल दागी।
जिसके पास है पैसा-पावर, जनता उसके पीछे भागी।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग