blogid : 19936 postid : 1200621

अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर को 'टैक्स-चोरी' के लिए जेल से भारत सीखेगा कुछ या...

Posted On: 11 Jul, 2016 Others में

Mithilesh's PenJust another Jagranjunction Blogs weblog

mithilesh2020

360 Posts

113 Comments

हमारे देश में अक्सर ‘टैक्स-चोरी’ की बातें ज़ोर-शोर से कही जाती हैं, किन्तु हाल ही में एक आंकड़े को देखकर आप चौंक जायेंगे कि मात्र 1% लोग ही इनकम-टैक्स देते हैं. इसके लिए सरकार की गलत नीतियां भी जिम्मेदार रही हैं तो हमारे देश की जनता भी टैक्स चुराने के लिए जाने क्या-क्या उपाय अपनाती है. पर विदेशों में ‘टैक्स चोरी’ पर क्या कुछ हो सकता है, इसकी झलक हाल ही में देखने को मिली है. अर्जेंटीना के मशहूर फुटबॉलर लियोनेल मैैसी हमेशा अपने खेल को लेकर चर्चे में रहे हैं . फुटबॉल प्रेमियों के दिलो पर राज करने वाले मैसी सन्यास लेने के बाद एक बार फिर चर्चा में हैं, लेकिन इस बार की चर्चा का खेल से कोई संबंध नहीं है. जी हाँ! मशहूर फुटबॉलर लियोनेल मैैसी पर करीब 15 करोड़ के टैक्स चोरी आरोप हैं, जिसमें मैैसी के साथ उनके पिता जॉर्ज मैैसी भी दोषी बताये जा रहे हैं. पर दिलचस्प बात यह है कि इसके लिए स्पेनिश कोर्ट ने मैसी और उनके पिता को 21 महीने की जेल की सजा के साथ साथ 20 लाख यूरो का जुर्माना भी लगा दिया है. आपको यकीन नहीं होगा, क्योंकि भारत में इनकम टैक्स तो छोडिए (Lionel Messi tax fraud, Indian laws and celebrities) विजय माल्या जैसे लोग सरकार का लोन लेकर नहीं देते हैं तो मथुरा में सरकारी ज़मीन पर रामवृक्ष यादव जैसे लोग बकायदा सत्ता के सहयोग से कब्ज़ा कर लेते हैं. यह मामला सिर्फ विजय माल्या या रामवृक्ष यादव भर का ही नहीं है, बल्कि यह तो नमूने भर हैं और इनके जैसे हज़ारों या लाखों लोग हैं जो सरकारी संपत्ति ही डकार जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: कर्ज़ के मर्ज़ में सरकारी बैंक

Lionel Messi tax fraud, Indian laws and celebrities, Hindi Article

इनकम टैक्स जैसे मामले में कोई बड़ी सेलिब्रिटी जेल गयी हो, यह तो भारत में सोचना भी हास्यास्पद है. हाँ, कई मामलों में इनकम-टैक्स अधिकारी दबाव बनाने के लिए छापेमारी करने का दिखावा जरूर करते हैं, किन्तु जल्द ही उनकी जेबें गर्म हो जाती हैं और फिर सारा मामला सेटल हो जाता है. बड़ा सवाल यह है कि क्या हम इस मामले से कुछ सीख ले सकते हैं? ज्ञातव्य हो कि स्पेन के वार्सिलोना क्लब के लिए खेलने वाले फुटबॉल खिलाडी मैसी पर स्पेनिश कोर्ट में टैक्स से संबंधित 3 मामले चलाये जा रहे हैं. स्पेनिश कोर्ट के अनुसार मैसी करीब 15 करोड़ और उनके पिता जॉर्ज 2007 से 2009 के बीच करीब 41 लाख यूरो के टैक्स चोरी (Lionel Messi tax fraud) करने के लिए दोषी पाए गए हैं. खबरों के अनुसार जॉर्ज ने उरूग्वे और बेलिज देश में इमेज राइट से 41 लाख यूरो कमाए थे, लेकिन इसकी जानकारी को गुप्त रखा था. कोर्ट में मैसी ने बताया कि वह खेल में इतना व्यस्त रहते हैं कि उनको फाइनेंशियल मैनेजमेंट के बारे में कोई जानकारी नहीं है. हालाँकि, मैसी कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील करना चाहते हैं और शायद उनकी जेल की सजा भी निलंबित हो जाए, क्योकि स्पेन के कानून के अनुसार दो साल से कम की सजा वाले अहिंसक अपराधों के लिए पहली बार के अपराधियों की सजा निलंबित हो जाती है.

इसे भी पढ़ें: विवादों के किंग, ‘मीका सिंह’

Lionel Messi tax fraud, Indian laws and celebrities, Hindi Article

पर यही क्या कम बात है कि इतनी बड़ी अंतर्राष्ट्रीय हस्ती (Lionel Messi tax fraud)को अदालत ने कानून के आगे घुटने टिका दिए. यहाँ तो सलमान खान जैसों को ज़मानत देने के लिए कोर्ट और कानून देर रात तक ‘अतार्किक’ रूप से खड़ा रहता है. कहना अनुचित न होगा कि यदि स्पेन की जगह यही वाकया भारत में हुआ होता हो इतनी जल्दी फैसला तो दूर की बात है, यहाँ की घूसखोर और लचर-व्यवस्था कब का पैसे लेकर इसको दबा चुकी होती. एक खबर के अनुसार, बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन पर वर्ष 2001 के ‘कौन बनेगा करोड़पति’ शो से जुड़ी कमाई पर 1.66 करोड़ रुपए का टैक्स आज तक बकाया है, तो वोडाफोन जैसी बड़ी कंपनी ‘हच’ के अधिग्रहण से सम्बंधित टैक्स आज भी नहीं चुका रही है और मामला ठन्डे बस्ते में चला गया लगता है. अभी सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हुई कि नरेंद्र मोदी के करीबी उद्योगपति थडानी ग्रुप का 200 करोड़ का जुर्माना माफ़ कर दिया गया. हालाँकि, बाद में सरकार की ओर से सफाई आयी कि ऐसा नहीं है, किन्तु कॉर्पोरेट्स को लेकर हमारी तमाम सरकारें लचर रवैया अपनाती रही हैं, इस बात में दो राय नहीं!

इसे भी पढ़ें: न्यायिक अन्तर्विचार की आवश्यकता

Lionel Messi tax fraud, Indian laws and celebrities, Hindi Article, Vijay mallya

जहाँ तक इस अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉलर की बात है तो, आपको बता दें कि अर्जेंटीना में पैदा हुए लियोनेल मेसी महज 4 साल की उम्र से ही फुटबॉल खेलते थे. हाल ही में इंटरनेशनल फुटबॉल से रिटायर हुए मैसी (Lionel Messi tax fraud) के करियर की शुरुआत स्पेन के बार्सिलोना फुटबॉल क्लब से हुई और उसके बाद तो इतिहास उनके रिकॉर्ड का गवाह है, जो जबरदस्त है. 2008 के ओलिंपिक में अपने देश के लिए गोल्ड मेडल दिलाने और अपने देश के लिए सबसे ज्यादा 55 गोल करने वाले मैसी को 5 बार फीफा का बेस्ट प्लेयर का अवार्ड मिल चुका है. जाहिर है, इतनी बड़ी सख्शियत जब कानून का पालन करने को मजबूर होती है तो फिर और लोग भी समझ जाते हैं कि उन्हें भी कानून और नियमों का पालन करना चाहिए और करना ही होगा. काश, भारत में भी इस तरह की धारणा कानून पालन को लेकर बन पाये!

मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग