blogid : 4773 postid : 823007

कौन है जो मदद करे ?

Posted On: 26 Dec, 2014 Others में

Great Indiawith unite and love to all

Imam Hussain Quadri

107 Posts

253 Comments

आज २६ दिसम्बर २०१४ को मैं भारतीय राजदूतावास सऊदी अरब के ब्रांच दम्माम में अपने काम से गया था वहां बहुत से लोग अपने काम से गए थे उसी में से एक आदमी को मैं ने बहुत ही परीशान देखा उसकी हालत पुछि उसने अपनी परिशानी को जब बयान किया तो मुझे काफी दुःख हुआ उसने बताया के मेरा नाम जयप्रकाश चौहान है मेरा घर ग्राम कैंदी बुज़ुर्ग पोस्ट तमकुही जिला कोषीनगर थाना तरयां सूजन राज्य उत्तर प्रदेश है मैं यहाँ एक कंपनी में काम करता हूँ मेरी धर्मपत्नी श्रीमती पूनम देवी का मेरे घर कैंदी बुज़ुर्ग से ०७ /१०/२०१३ को अपहरण हो गया है और मैं यहाँ से उसी दिन से सबसे संपर्क कर रहा हूँ कोई भी मेरी मदद नहीं कर रहा है पुलिस एस पि , डी एम सबसे बात कर रहा हूँ कोई भी इतना नहीं कर सका के थाना में ऍफ़ आई आर दर्ज हो सके वहां जिन लोगों पर मेरा शक है वो लोग मुझे मारने का इंतज़ार कर रहे हैं अगर मैं चला जाऊं तो इस में कोई दो राय नहीं के मुझे भी मार दिया जाएगा कोई ऐसा नहीं जो मेरी मदद करे सब लोग पैसे से बिक चुके हैं मेरे बच्चे परीशान हैं मैं परीशान हूँ मेरा परिवार परीशान है यहाँ राजदूतावास का चक्कर लगा लगा कर थक रहा हूँ मैं क्या करूँ समझ में नहीं आ रहा है कोई ऐसा मिल जाय के मिडिया तक मेरी फरयाद पहुँच जाय के शायद मेरी मदद हो जाय पता नहीं आज तक मेरी पत्नि कहाँ है किस हाल में है ज़िंदा भी है या नहीं .
आज ये बात सुन कर मुझे लगा के हम कौन हैं हमारा कर्म क्या होना चाहिए ये क्यों भूल गए हैं अगर हम सब मिल कर इस आवाज़ को उठाएं तो मुमकिन है के उस गरीब की कोई मदद हो जाय जो भी सत्य है सामने आये .
इस लिए मैं आप सबसे आग्रह करता हूँ के जिस से जैसे होसके उस गरीब की मदद करें उमीद करता हूँ के एक भाई एक इंसान जो हमारा है हमारे देश का वासी है उसके लिए कुछ कर सके दूसरे देशों के तकलीफ पर हमारे आँख से आंसू निकलते हैं कलेजा मुंह को आता है जिसके लिए हम ज़यादह कुछ नहीं कर सकते मगर यहाँ तो कर सकते हैं उसके आंसू पोंछ सकते हैं उसे इंसाफ दिला सकते हैं हमें पता होना चाहिए के आज उसके घर वालों की क्या हालत होगी आज हमें कुछ करना होगा मैं भी अपने वतन से दूर हूँ मगर मेरी आवाज़ सब तक पहुँच रही है मैं चाहता हूँ के इस मंच के ज़रिये उस भाई की मदद की जाय अगर ज़रुरत पड़ी तो उसका मोबाइल नंबर भी मंच पर लिखूंगा ताके कोई भी चाहे तो उस से उसकी ज़बान से उसकी फरयाद सुन सके आज हमें अपना फ़र्ज़ निभाना है और उस भाई की मदद करनी है . आशा करता हूँ के आप लोग कुछ करेंगे . धन्यवाद

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग