blogid : 314 postid : 1379948

इस वजह से 15 जनवरी को मनाया जाता है आर्मी डे, जानें भारतीय सेना की खास बातें

Posted On: 15 Jan, 2018 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1444 Posts

925 Comments

भारतीय सेना के जज्‍बे व बलिदान के चलते ही देश सुरक्षित और देशवासी चैन-सुकून से जीवन जी रहे हैं। आज यानी 15 जनवरी को सेना दिवस है। देश में हर साल मनाए जाने वाले सेना दिवस (आर्मी डे) की शुरुआत होने के पीछे भी एक रोचक कहानी है। वर्षों से मनाए जाने वाले इस दिन नई दिल्ली में और सेना के सभी मुख्यालयों में परेड व अन्य मिलिट्री शो का आयोजन होता है। देश की आजादी के बाद भारतीय सेना ने कई ऊंचाइयों को छुआ है। इस समयावधि में जहां भारतीय सेना ने महत्‍वपूर्ण युद्ध जीते, वहीं अपनी शक्ति को भी मजबूत किया। आइये आपको बताते हैं कि क्‍यों 15 जनवरी को मनाया जाता है आर्मी डे और भारतीय सेना की खास बातें।


indian army


देश भर में 53 छावनियां और 9 आर्मी बेस


army india


फील्ड मार्शल केएम करियप्पा ने आज के ही दिन यानी 15 जनवरी 1949 को आखिरी ब्रिटिश कमांडर इन चीफ जनरल सर फ्रांसिस बूचर से भारतीय थल सेना के कमांडर इन चीफ का प्रभार संभाला था। इसी वजह से 15 जनवरी को हर साल आर्मी डे यानी सेना दिवस मनाया जाता है। 1776 में कोलकाता में ईस्ट इंडिया कंपनी सरकार के अधीन भारतीय सेना का गठन हुआ था। अभी देश भर में भारतीय सेना की 53 छावनियां और 9 आर्मी बेस हैं।


युद्ध में पाकिस्‍तान को चटाई धूल


indian army12


1971 का भारत-पाकिस्तान का युद्ध पाकिस्तानी सेना के करीब 93,000 सैनिकों और अधिकारियों के सरेंडर के साथ समाप्‍त हुआ। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद हिरासत में लिए गए युद्ध बंदियों की यह सबसे बड़ी संख्या थी। इस युद्ध के बाद ही बांग्लादेश का निर्माण हुआ था। इस दौरान लोंगेवाला पोस्‍ट की तरफ भी पाकिस्‍तान ने हमला किया था। यहां भारत के सिर्फ 120 सैनिकों ने 2000 पाकिस्तानी सैनिकों से मोर्चा लिया था। इसमें भारत की सिर्फ दो कैजुअल्टी हुई थी और भारत के बहादुर सैनिकों ने पाकिस्तान को धूल चटा दी। इस युद्ध पर बॉलीवुड फिल्‍म ‘बॉर्डर’ बनी है।


भारतीय सेना के पास एक घुड़सवार रेजिमेंट


army1


भारतीय सेना के पास एक घुड़सवार रेजिमेंट है। दुनिया में अब इस तरह की सिर्फ तीन रेजिमेंट्स रह गई हैं, जिनमें से एक भारत की है। वहीं, हिमालय पर्वत की द्रास और सुरु नदियों के बीच लद्दाख की घाटी में स्थित बेली पुल दुनिया का सबसे ऊंचा पुल है, जिसका निर्माण अगस्त 1982 में भारतीय सेना ने किया था। भारतीय वायु सेना का तजाकिस्तान में एक आउट स्टेशन बेस है और दूसरा बेस अफगानिस्तान में बनाने पर विचार किया जा रहा है।


एशिया की सबसे बड़ी नौसेना अकादमी


navy


एझिमाला केरल स्थित भारतीय नौसेना अकादमी, एशिया में अपने प्रकार की सबसे बड़ी नौसेना अकादमी है। भारतीय सेना संयुक्त राष्ट्र के शांतिबहाली ऑपरेशनों में भी अहम भूमिका निभाती है। बड़ी संख्या में भारतीय सैनिकों को इन ऑपरेशनों में तैनात किया जाता है। इसके अलावा परमवीर चक्र भारत का सर्वोच्च वीरता पुरस्कार है। दुश्मन के सामने उच्च दर्जे की बहादुरी या बलिदान के लिए यह पुरस्‍कार दिया जाता है…Next


Read More:

वो 5 मैच, जब विराट कोहली ने बचाई टीम इंडिया की लाज!
बॉलीवुड ही नहीं, खेल जगत के भी बादशाह हैं ये 5 फिल्‍मी सितारे!
ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर ने भारतीय बल्‍लेबाज को दी सिर फोड़ने की धमकी, जवाब पाकर हो गई बोलती बंद!


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग