blogid : 314 postid : 1390172

गूगल मैप्स और सर्च से हो रहे हैं बैंकिंग फ्रॉड, ऐसे सिक्योर करें अपनी इंटरनेट बैकिंग सिक्योरिटी टिप्स

Posted On: 23 Nov, 2018 Common Man Issues में

Pratima Jaiswal

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1522 Posts

925 Comments

टेक्नोलॉजी के आने से हमारा काम आसान तो हुआ है लेकिन साथ ही साथ टेक्नोलॉजी से जुड़ी कई चुनौतियां भी हैं, जिनसे निपटना बहुत जरूरी है। इन दिनों गूगल मैप्स और सर्च से बैंकिंग फ्रॉड हो रहे हैं, जिससे निपटना बेहद जरूरी है।
गूगल की यूजर जेनेरेटेड कॉन्टेंट पॉलिसी के तहत कोई भी गूगल मैप्स के पेज पर दिए गए कुछ इनफॉर्मेशन एडिट कर सकता है। इसमें फोन नंबर और अड्रेस शामिल हैं। लोगों को बेवकूफ बना कर उनके बैंक अकाउंट से पैसे उड़ाने के लिए स्कैमर्स गूगल मैप्स और गूगल सर्च कॉन्टेंट पर बैंक की जगह गलत नंबर और जानकारी दर्ज कर देते हैं। लोगों को लगता है कि गूगल पर दिया गया नंबर सही होगा और वो उसे बैंक का नंबर समझ कर कॉल करते हैं। उधर से कॉलर भी बैंक के कर्मचारी की तरह बात करता है और कॉल करने वाले को पता नहीं चलता की वो फ्रॉड है। इस तरह से वो यूजर से उसकी कार्ड की और जरूरी डीटेल्स मांगता है। डीटेल्स मिलने के बाद कई तरीके हैं जिससे बैंक से पैसे उड़ाए जा सकते हैं।

 

 

 

 

ऐसे रखें अपनी इंटरनेट बैकिंग सिक्योर

फिशिंग ईमेल
यह किसी बड़ी संस्था के नाम पर भेजा गया फ्रॉड ईमेल होता है।फिशिंग ईमेल में एक मेलवेयर या स्पाई वेयर होता है जो क्लाइंट डीटेल, पासवर्ड और पिन जैसी जरूरी सूचना चुरा लेता है। यह आपके चैनेल के पॉइंट ऑफ़ कांटेक्ट पर भी आपको परेशान कर सकते हैं।

 

पैसे जीतने/एक्स्ट्रा इनकम ईमेल स्कैम

यह उन लोगों को टारगेट करने के लिए भेजा जाता है जो जॉब की तलाश में हों, ऑनलाइन कमाई के रास्ते ढूंढ रहे हों या इन्टरनेट के प्रयोग के प्रति जागरूक नहीं हों। इस तरह के मेल में किसी बड़ी कंपनी की वेबसाइट का यूज कर लोगों को आसानी से बड़ी रकम कमाने का ऑफर दिया जाता है।

 

असली एंटी वायरस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल
कम्प्यूटर को फिशिंग, मेलवेयर या दूसरे खतरे से बचाने के लिए हमेशा असली एंटी वायरस सॉफ्टवेयर यूज करें। एंटी वायरस उन स्पाई वेयर को पहचानने और दूर करने में मदद करता है जो आपकी गोपनीय सूचना में सेंध लगा सकते हैं।

 

 

ओपन वाई-फाई से बचना जरूरी
ओपन वाई-फाई नेटवर्क का सबसे बड़ा खतरा यह है कि हैकर एंड यूजर और हॉट स्पॉट के बीच बैठकर आपके सभी डेटा पर बिना किसी परेशानी के नज़र रख सकता है। अनसिक्योर्ड कनेक्शन को हैकर एक मौके की तरह देखता है, जहां वह आसानी से आपके सिस्टम में मेलवेयर पहुंचा सकता है।

 

ऑपरेटिंग सिस्टम अपडेट
स्मार्टफोन यूजर को हमेशा यह ध्यान रखना चाहिये कि उसका फोन लेटेस्ट सिक्योरिटी पैच और ऑपरेटिंग सिस्टम से लैस है। आपको अपने फोन से किसी भी सिक्योरिटी कंट्रोल हटाना नहीं चाहिए। इसे जेल ब्रेकिंग या रूटिंग कहते हैं। एप डाउनलोड करते समय हमेशा लिमिटेड एक्सेस दें और जो बहुत जरूरी हों, सिर्फ उन्हीं एप को डाउनलोड करें।

 

बेवसाइट पर जाकर करें लॉग इन
नेट बैंकिंग के लिए हमेशा बैंक की वेबसाइट पर जाकर ही लॉग इन करें। किसी थर्ड पार्टी वेबसाइट या प्रोमोशनल मेल से नेट बैंकिंग पर जाना खतरनाक हो सकता है। हम पहले भी बता चुके हैं कि बैंक आपसे कभी भी लॉग इन या ट्रांजेक्शन पासवर्ड या पिन नंबर नहीं मांगते…Next

 

 

Read More :

खोया हुआ फोन ढूंढना हुआ आसान, गूगल ने फाइड माय डिवाइस में जोड़ा एक और फीचर

एंटी स्मॉग पुलिस से लेकर चिमनी फिल्टर्स तक, प्रदूषण से निपटने के लिए इन देशों ने उठाए ये कदम

14 साल की उम्र में जेल गए थे मुलायम सिंह यादव, राजनीति में इन बातों की वजह से बटोर चुके हैं सुर्खियां

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग