blogid : 314 postid : 807468

जमानत पर रिहा हुई वह महिला जिसने पुरुषों का वॉलीबॉल मैच देखने की हिमाकत की

Posted On: 24 Nov, 2014 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1467 Posts

925 Comments

तेहरान की एक अदालत ने एक ब्रिटिश-ईरानी महिला को पुरुषों का वॉलीबॉल मैच देखने की कोशिश करने का दोषी मानते हुए एक वर्ष के कारावास की सजा सुनाई थी. अदालत के इस फैसले की पूरी दुनिया में घोर निंदा की जा रही थी.


Ghoncheh_Ghavami_Iranian-Br_0


हालांकि न्यायधीशों ने सुर्खियों में चर्चित इस सजा से इंकार किया था लेकिन इस मामले ने अब नया मोड़ ले लिया है. गवामी की माँ सुसान मोश्ताघियन ने कहा है कि एक न्यायाधीश उसकी बेटी को करीब 1,000,000,000 ईरानी रियाल यानी तकरीबन 30,700 अमेरिकी डॉलर पर जमानत देने को राजी हो गए हैं. एक वर्षीय कारावास के अतिरिक्त गॉन्चेह गवामी को दो वर्षों तक ईरान छोड़कर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. आईएसएनए संवाद समिति की एक रिपोर्ट के अनुसार मोश्ताघियन कहती हैं कि,’’अपीलीय अदालत के अंतिम फैसला आने तक उसकी बेटी को रिहा किया गया है.’’


Read: एक महिला जिसने दुनिया को तो जीना सिखा दिया लेकिन उसके दर्द को सुनकर किसी की भी रूह कांप जाएगी


गवामी की ज़मानत का फैसला तब आया है जब अदालत में चिकित्सीय आधारों पर उसके ज़मानत के लिए याचिका दायर की गई थी. गवामी को गत 20 जून को आजादी स्टेडियम से हिरासत में लिया गया था, जब ईरान की राष्ट्रीय वॉलीबॉल टीम इटली के खिलाफ मैच खेलने वाली थी. हालांकि, गवामी को कुछ देर बाद ही रिहा कर दिया गया था लेकिन कुछ दिनों बाद उसे फिर से गिरफ्तार कर उस पर अदालत में मुकदमा शुरू कर दिया गया था. इस मामले ने जहाँ एक ओर दोहरी नागरिकता व सुनवाई से पहले लंबी हिरासत के कारण लोगों का ध्यान खींचा था वहीं दूसरी ओर लोक मीडिया पर लोग इस फैसले के विरोध में अपनी प्रतिक्रियाएँ देकर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर कर रहे थे. अपनी गिरफ्तारी के विरोध में कारावास में होने के बावजूद गवामी ने भूख हड़ताल की थी.


download


ईरान के स्थानीय अख़बारों ने लंदन की 25 वर्षीय लॉ ग्रेजुएट गॉन्चेह गवामी के वकील अलीजादेह तबाताबेइ के हवाले से बताया गया था कि उसे एक साल के कारावास की सजा सुनाई गई है. अदालत के अनुसार, ईरानी शासन व्यवस्था के खिलाफ काम करने के अपराध में गवामी को सजा सुनाई गई थी. एमनेस्टी इंटरनेशनल के अनुसार, तेहरान में महिलाएँ पुरूषों का मैच नहीं देख सकती. इस पाबंदी के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए गवामी वॉलीबॉल स्टेडियम में कई महिलाओं के साथ घुसी थी. इसके बाद सभी महिलाओं व महिला फोटोग्राफर्स को स्टेडियम से बाहर निकाल दिया गया था. हालांकि, किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी. कुछ घंटों बाद पुलिस ने गवामी को गिरफ्तार कर लिया था और फिर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी को मामले में हस्तक्षेप कर गवामी को रिहा करने के लिए कहा था.


Read: 80 साल की एक बुजुर्ग महिला ने डांस मंच पर कुछ ऐसा किया कि देखने वालों के होश उड़ गए


उपरोक्त मामले के अलावा इस महिला पर जासूसी  का आरोप लगाया गया है. ईरान के आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, गवामी की सजा का वॉलीबॉल मैच से कोई लेना-देना नहीं है और उसे हिरासत में लेने का कारण कुछ और ही था. एक अन्य ख़बर के अनुसार गवामी को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. जासूसी का आरोप सही साबित होने पर उसे 6 वर्षों तक के कारावास की सज़ा हो सकती है.


Next…..



Read more:


तुलसी दिला सकती है महिलाओं को एक बड़ी बीमारी से निजात

बिछिया और महिलाओं के गर्भाशय का क्या है संबंध

जमीन पर ही नहीं आसमान में भी लड़ते हैं महिला-पुरुष…. आप यकीन नहीं करेंगे इस लड़ाई के बाद क्या हुआ


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग