blogid : 314 postid : 1390367

कौन थे ‘वॉकिंग गॉड’ श्री शिवकुमार स्वामी जिनके निधन पर पीएम समेत कई बड़े नेताओं ने जताया शोक

Posted On: 22 Jan, 2019 Hindi News में

Pratima Jaiswal

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1601 Posts

925 Comments

ऐसी बहुत कम शख्स होते हैं जिनपर राजनीति की सभी पार्टियां एक मत हो पाती हैं या उनके द्वारा दुनिया को अलविदा कहने पर सभी नेता उनके लिए शोक जताते हैं। ऐसी ही एक शख्सियत थे श्री शिवकुमार स्वामी जिन्हें ‘वॉकिंग गॉड’ के नाम से भी जाना जाता था।
श्री श्री श्री डॉक्टर शिवकुमारा स्वामीजी, जिन्होंने 111 साल की उम्र में सोमवार को अंतिम सांस ली, उन्हें कर्नाटक में ‘वॉकिंग गॉड’ या ‘चलता-फिरता भगवान’ के नाम से जाने जाते थे। वे पिछले आठ से भी ज्यादा दशक से सिद्धगंगा मठ के प्रमुख थे, जो बेंगलुरू से 70 किलोमीटर दूर टुमकूर में लिंगायत समुदाय की सबसे शक्तिशाली धार्मिक संस्थाओं में गिना जाता है।

 

 

कौन थे शिवकुमार स्वामी
डॉ शिवकुमार स्वामी कर्नाटक के तुमकुरु में स्थित सिद्धगंगा मठ के महंत थे। वे लिंगायत समुदाय के प्रमुख धर्मगुरु हुए। कर्नाटक में सबसे अधिक दबदबे वाले लिंगायत समुदाय की संख्या लगभग 18 फीसदी हैं। शिवकुमार स्वामी का जन्म 1 अप्रैल 1907 को कर्नाटक के रामनगर जिले के वीरपुरा गांव में हुआ था। उनके अनुयायी उन्हें 12वीं शताब्दी के समाज सुधारक बसावा का अवतार मानते थे। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में बुहत काम किया है। वह सिद्धगंगा एजुकेशन सोसाइटी के प्रमुख भी थे। राज्य के लगभग 125 शैक्षणिक संस्थानों, इंजिनियरिंग कॉलेजों और बिजनेस स्कूलों तक का संचालन किया है।
कहा जाता है कि इनके वोटर्स 100 से अधिक विधानसभा सीटों पर सीधा प्रभाव डालते हैं। इसलिए देश के बड़े-बड़े नेता भी स्वामी शिवकुमार के सामने सिर झुकाते थे।

 

 

पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया शोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ” श्री श्री श्री शिवकुमारा स्वामीगालू लोगों के लिए जिए। ख़ासकर ग़रीबों और वंचितों के लिए। उन्होंने ख़ुद को ग़रीबी, भूख और सामाजिक अन्याय जैसी बीमारियों को दूर करने के लिए समर्पित कर दिया। दुनिया भर में फैले उनके असंख्य अनुयायियों के साथ मेरी प्रार्थनाएं हैं। उनके प्रति एकजुटता प्रकट करता हूं।”

 

राहुल गांधी ने बताया आध्यात्मिक खालीपन
राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, “सिद्धगंगा मठ के प्रमुख शिवकुमारा स्वामी जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। हर धर्म और समुदाय के लाखों भारतीय स्वामी जी का आदर और सम्मान करते थे। उनके चले जाने से बड़ा आध्यात्मिक खालीपन आ गया है। उनके सभी अनुयायियों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।”

कर्नाटक सरकार ने स्वामी जी के प्रति सम्मान प्रदर्शित करते हुए मंगलवार को सभी सरकारी दफ़्तरों और शिक्षा संस्थानों को बंद रखने और तीन दिन का शोक मनाने का ऐलान किया…Next 

 

 

Read More :

ट्रैवल रिस्क मैप के मुताबिक ये देश हैं सबसे ज्यादा खतरनाक, भारत के इन राज्यों में ज्यादा खतरा!

सुप्रीम कोर्ट में घूमने के लिए जा सकते हैं आम लोग, जानें कैसे मिल सकती है एंट्री

क्या है RBI एक्ट में सेक्शन 7, जानें सरकार रिजर्व बैंक को कब दे सकती है निर्देश

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग