blogid : 314 postid : 1390825

मार्टिन लूथर किंग का 45 महिलाओं से था अफेयर! 39 की उम्र में इस वजह से कर दी गई थी हत्या

Posted On: 28 May, 2019 Hindi News में

Pratima Jaiswal

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1621 Posts

925 Comments

इतिहास में कई मशहूर शख्सियतें ऐसी रही हैं, जिनके बारे में दशकों तक बात होती रहती है। इनमें से कुछ लोग तो इतने मशहूर होते हैं, कि किसी विषय पर बात होते ही उनका नाम सबसे पहले लिया जाता है। जैसे, अहिंसा पर बात होती है तो महात्मा गांधी का नाम लिया जाता है, वहीं अगर बाल कल्याण या बाल मजदूरी रोधी विषय पर चर्चा होगी, तो कैलाश सत्यार्थी का नाम लिया जाएगा।  इसी तरह इन दिनों अमेरिका के गांधी कहे जाने वाले मार्टिन लूथर किंग जूनियर का नाम चर्चा में है। अमेरिका में सामाजिक अधिकारों के लिए संघर्ष के कारण मशहूर हुए मार्टिन लूथर किंग जूनियर के बारे में कुछ हैरानी करनेवाले खुलासे हुए हैं। एक किताब के लेखक के अनुसार, एफबीआई ने मार्टिन के खिलाफ सबूत जमा करने के लिए कई टेप रिकॉर्ड किए थे जिसके अनुसार उनके 45 अफेयर थे।

 

मार्टिन लूथर किंग के 45 महिलाओं से था अफेयर!
मार्टिन की बायॉग्रफी लिखनेवाले डेविड गैरो का कहना है कि एफबीआई ने मार्टिन की गतिविधियों पर करीब 12 साल तक नजर रखी थी। टेप की रिकॉर्डिंग से ऐसा लगता है कि मार्टिन का अफेयर कई महिलाओं के साथ था। रिकॉर्डिंग सुनकर ऐसा लगता है कि मार्टिन के शादी के बाहर लगभग 45 महिलाओं के साथ अफेयर और शारीरिक संबंध थे। मार्टिन के मित्र लोगन केआरजे ने एक बार एक महिला का विलार्ड होटल में रेप भी किया था। लोगन की मौत 1991 में हुई। महिला ने जब शारीरिक संबंध बनाने से इनकार कर दिया तो लोगन ने जबरदस्ती की और इस दौरान मार्टिन यह सब देखते रहे।

 

मार्टिन लूथर किंग की हत्या,39 साल के आदमी का दिल 60 साल जैसा 
डॉ॰ मार्टिन लूथर किंग, जूनियर अमेरिका के एक पादरी, आन्दोलनकारी और अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक अधिकारों के संघर्ष के प्रमुख नेता थे। उन्हें अमेरिका का गांधी भी कहा जाता है। उनके प्रयासों से अमेरिका में नागरिक अधिकारों के क्षेत्र में प्रगति हुई, इसलिए उन्हें आज मानव अधिकारों के प्रतीक के रूप में भी देखा जाता है। अमेरिका के गांधी कहे जाने वाले मार्टिन की हत्या की घटना भी बेहद सनसनीखेज है।

 

 

29 मार्च 1968, किंग बेहतर इलाज की मांग कर रहे लोगों से मिलने टेनेसी गए थे। 3 अप्रैल को भाषण देने के बाद वो 4 अप्रैल की सुबह किंग ‘लॉरैन मोटल’ के कमरा नंबर 306 की बालकनी के बाहर खड़े थे। ऐसे में एक गोली चलती है और अमेरिका के गांधी दुनिया से विदाई ले लेते हैं। उनकी मौत की इस जगह को अब ‘लॉरैन मोटल’ म्यूजियम बना दिया गया है। इसके बाद पूरे अमेरिका में दंगे हुए। किंग की मौत सिविल राइट्स मूवमेंट को वो ऊंचाई देती है जिस पर चलकर लोग नस्लभेद खत्म करने के लिए खुलकर सामने आते हैं। जब बराक ओबामा राष्ट्रपति बनते हैं तो उसकी नींव में किंग का सपना होता है। वैसे, किंग इस मुद्दे को लेकर कितना चिंतित थे इसको ऐसे समझा जा सकता है कि 39 साल के किंग के पोस्टमार्टम में पता चला कि उनके दिल की हालत किसी 60 साल के आदमी जैसी थी।…Next

 

Read More :

संयुक्त राष्ट्र ने जैश आंतकी मौलाना मसूद अजहर पर बैन लगाया, तो क्या होगा उसपर असर

इन 7 लोगों को थी सर्जिकल स्ट्राइक 2 प्लान की खबर, पुलवामा अटैक के बाद शुरू कर दी थी तैयारी

पुलवामा हमले से जिंदा बचकर लौटा यह जवान, एक मोबाइल मैसेज ने बचाई जान

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग