blogid : 314 postid : 1382640

अब नारंगी पासपोर्ट नहीं लाएगी सरकार, इस वजह से लिया यू-टर्न

Posted On: 31 Jan, 2018 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1427 Posts

925 Comments

भारत का पार्सपोर्ट अगर आपने देखा होगा तो वो नीले कलर होता है जिसमें गोल्डन रंग से भारत का चिन्ह् बना होता है। लेकिन भारत सरकार ने इसकी तस्वीर बदलने की सोची थी और अगर ऐसा होता तो पार्सपोर्ट का रंग नीले से बदलकर नारंगी हो जाता। हालांकि अब सरकार ने इस फैसले को वापस ले लिया। ऐसे में चलिए जानते हैं आखिर क्यों सरकार पार्सपोर्ट का रंग बदलना चाहती थी और अब क्यों ये फैसला बदल दिया गया।


cover



पासपोर्ट में आखिरी पन्ना हटाना चाहती थी सरकार

सरकार ने कुछ समय फैसला किया था, पासपोर्ट के आखिरी पेज को अब प्रिंट नहीं किया जाएगा। बता दें कि इस पेज पर पासपोर्ट होल्डर के पिता का नाम, माता या पत्नी का नाम, पता, इमिग्रेशन चेक रिक्वायर्ड (ECR) की जानकारी होती है। साथ ही पुराने पासपोर्ट का नंबर और जहां से जारी हुआ है उस स्थान का नाम होता है। ऐसे में पासपोर्ट में आखिरी पन्ना हटाना था इसलिए वो ECR के दायरे में आएंगे उन्हें नारंगी रंग वाले कवर का पासपोर्ट दिया जाएगा।


index



सरकार क्यों बदल रही थी पासपोर्ट का रंग

सरकार ने एक कमेटी का सुझाव का मान कर ऐसा करने का फैसला लिया था। तीन सदस्यों वाली इस कमेटी में विदेश मंत्रालय और महिला व बाल विकास मंत्रालय के प्रतिनिधि थे। इसमें कहा गया था कि ऐसी व्यवस्था हो, जहां माता या बच्चों को पासपोर्ट पर पिता का नाम लिखने के लिए बाध्य न किया जाए। सिंगल पैरेंट या गोद लिए हुए बच्चों को भी ऐसा न करना पड़े। इसे ध्यान में रखते हुए सरकार इन जानकारियों को पासपोर्ट से हटा रही है।


pasport



नारंगी रंग के पासपोर्ट की क्यों हो रही थी आलोचना ?

इस कदम का विरोध करने वालों का कहना है कि नारंगी रंग का पासपोर्ट जारी कर सरकार सामाजिक और आर्थि‍क आधार पर भेदभाव कर रही है। खासकर खाड़ी देशों में काम के लिए जाने वाले भारतीय नागरिकों को सेकेंड क्लास सिटिजन के तौर पर देखा जाएगा। नए नेवी ब्लू रंग वाले पासपोर्ट को भी फिर से डिजाइन करने की योजना है।


pass


समीक्षा बैठक के बाद पिछला फैसला बदला गया

विदेश मंत्रालय ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक के बाद पिछला फैसला बदला। इस मुद्दे को लेकर विदेश मंत्रालय को काफी आवेदन मिले थे। इसके बाद विदेश मंत्री ने 29 जनवरी को समीक्षा बैठक की थी। गौरतलब है कि नारंगी पासपोर्ट के फैसले का कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी विरोध किया था और इसे सरकार की भेदभाव पूर्ण नीति बताई थी।…Nexr


Read More:

एक नहीं बल्कि तीन बार बिक चुका है ताजमहल, कुतुबमीनार से भी ज्यादा है लंबाई!

सीरिया-इराक से खत्म हो रही IS की सत्ता, तो क्या अब दुनिया भर को बनाएंगे निशाना!

अक्षय ने शहीदों के परिवार को दिया खास तोहफा, साथ में भेजी दिल छू लेने वाली चिट्ठी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग