blogid : 314 postid : 1125154

केवल एक रुपए दहेज ..और भी कई ऐतिहासिक फैसले सुनाएं इस खाप पंचायत ने

Posted On: 23 Dec, 2015 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1467 Posts

925 Comments

उत्तर भारत की खाप पंचायत अपनी तालिबानी और दकियानुसी फरमानों के लिए पहचानी जाती है, लेकिन हरियाणा के जिंद में एक खाप पंचायत ने ऐसा निर्णय लिया है जिसे भ्रूण हत्या के मामले में सकारात्मक और ऐतिहासिक माना जाएगा.


wedding


सबको चौकाते हुए अपने इस फरमान में खाप पंचायत ने दहेज प्रथा जैसी कुरूतियों को खत्म करने का निर्णय लिया है. उन्होंने रस्म के तौर पर ‘एक रुपए दहेज’ की रकम को तय किया है. इसके अलावा खाप पंचायत ने तय किया है कि जो परिवार या दंपत्ति दो लड़कियों के बाद संतान पैदा नहीं करेगा उसे सम्मानित किया जाएगा.


Read: महिला ही नहीं हर भारतीय पुरुष को भी जानना चाहिए महिलाओं के लिए बनें ये 8 कानून


खाप पंचायत ने अपने समाज के भले के लिए कुछ और फरमान सुनाएं हैं. उनके अनुसार शादियों में होने वाले फिजूल खर्चे को कम किया जाए. इसके लिए पूरे बारात को शादी में ले जाने की बजाय 21 लोगों को बारात में ले जाया जाए. इससे वधू पक्ष पर बेकार का बोझ नहीं पड़ेगा.


image63

एक और अहम फैसले में खाप ने कहा है कि किसी की मौत पर अब 13 दिन की बजाय केवल 7 दिन का शोक मनाया जाए और मौत पर आटा, दाल और घी न ले जाया जाए. उल्लेखनीय है कि जब किसी व्यक्ति की मौत होती है तो यहां ससुराल पक्ष के लोग आटा, दाल और घी लेकर जाते हैं. इसे गलत करार देते हुए खाप ने कहा कि इस पुरानी परंपरा को समाप्त किया जाना चाहिए.


यह सर्वविदित है कि अन्य राज्यों के मुकाबले हरियाणा में लिंगानुपात बहुत ही खराब है. यहां 1000 पुरूष पर 879 महिलाएं हैं. लड़कियों की आबादी कम होने की वजह से यहां शादी के लिए लड़की मिलनी मुश्किल हो गई है. हालत यहां तक बदतर है कि परिवारवालों को अपने विवाह योग्य लड़कों के लिए लड़कियां दूरदराज के इलाकों से नहीं बल्कि दूसरे राज्यों से लानी पड़ रही है….Next


Read more:

पढ़िए आम से खास बनी एक विकलांग लड़की की कहानी जिसने कभी अपंगता को अपनी कमजोरी नहीं बनाया

लड़की का यह उत्तर पढ़ शिक्षक हुआ शर्मसार

ये कैसा चमत्कार! लड़की गधी में बदल गई



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग