blogid : 314 postid : 1926

अब खून की होली खेलने को बेताब कानून मंत्री !!

Posted On: 17 Oct, 2012 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1625 Posts

925 Comments

Salman Khurshidजब किसी देश को लोकतंत्र का दर्जा मिलता है तो उम्मीद की जाती है कि वह देश अपने नागरिकों के अधिकारों और तरक्की को लेकर काम करेगा. वहां की सरकार ऐसा कानून नहीं बनाएगी जिससे नागरिकों की सुरक्षा को खतरा हो. लेकिन उसी लोकतंत्र में यदि देश का कानून मंत्री अपने पद का दुरुपयोग करके खुलेआम धमकी देता है तो समझ लीजिए पानी सर से उपर चढ़ चुका है.


Read: गंदी नाली के कीड़े हैं अरविंद – सलमान खुर्शीद


खबरिया चैनलों के मुताबिक भारत के कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने इंडिया अगेस्ट करप्शन के नेता अरविंद केजरीवाल को खुलेआम धमकी दी है कि “केजरीवाल फर्रुखाबाद आएं, लेकिन वहां से लौटकर भी दिखाएं”. उन्होंने आगे कहा कि “बहुत दिनों से मैं कलम से काम कर रहा था लेकिन अब वक्त आ गया है कि कलम के साथ-साथ लहू से भी काम करूं”.उन्होंने कहा कि केजरीवाल को ऐसा सबक सिखाएंगे कि वह सवाल पूछना भूल जाएंगे”. जवाब में अरविंद केजरीवाल ने कहा है, हम खुर्शीद की धमकियों से नहीं डरेंगे और फर्रुखाबाद जरूर जाएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि उनकी जिंदगी भगवान के हाथ में है और उन्हें किसी सरकारी सुरक्षा की जरूरत नहीं है. केजरीवाल ने कहा, मैं मारा भी गया तो 100 और अरविंद पैदा हो जाएंगे.


सलमान खुर्शीद द्वारा दिया गया यह बयान किसी कानून मंत्री का नहीं हो सकता. इस तरह का लहजा माफिया और गुंडे इस्तेमाल करते हैं जो थोड़े से पैसे के लिए किसी की जान भी लेते हैं. उनके धमकी भरे लहजे से यह अंदाजा लगाया जा सकता कि कांग्रेस की आलाकमान ने किसके भरोसे देश की कानून व्यवस्था और सुरक्षा को छोड़ रखा है. अरविंद ने जनहित से जुड़े सवाल उनसे क्या पूछ लिए वह अपनी पद की गरिमा को भूल कर मरने-मारने पर उतारू हो गए. जब कोई कानून मंत्री अपना पद संभालता है तो उससे अपेक्षा की जाती है कि वह ऐसा कानून बनाए जिससे सबके हित सुरक्षित हों लेकिन यहां तो स्वयं कानून मंत्री ही कानून की लगातार धज्जियां उड़ा रहे हैं.


घमंड में पूरी तरह से नहाए ऑक्सफोर्ड से पढ़े सलमान खुर्शीद ने इस तरह का अलोकतांत्रिक भाषा का प्रयोग पहली बार नहीं किया है. इससे पहले उन्होंने केजरीवाल को गंदी नाली का कीड़ा तक कह डाला था. हाल ही में वह एक प्रेस कांफ्रेस में एक चैनल के पत्रकारों को भी धमका चुके हैं. अपने पद का धौंस जमाने वाले सलमान खुर्शीद न केवल व्यक्तिगत कटाक्ष करते हैं बल्कि वह संवैधानिक संस्थाओं पर हमला करने से भी नहीं चूकते. उत्तर प्रदेश 2012 के चुनाव के समय उन्होंने चुनाव आयोग को ही ललकार दिया और यह तक कह डाला कि वह चुनावी आचार संहिता के खिलाफ प्रचार करते रहेंगे. अगर इसमें यदि चुनाव आयोग उन्हें सजा भी दे तो वह नहीं डरते.


अब यहां सवाल उठता है कि आखिर क्यों प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार ने ऐसे सांप को पाल रखा है जो कभी भी देश के लोकतंत्र पर हमला कर सकता है. देश की कानून-व्यवस्था को अराजकता में तब्दील कर सकता है. सरकार सलमान खुर्शीद की करतूतों से अनजान नहीं है. अगर सरकार में थोड़ी-बहुत भी शर्म बची है तो जल्द से जल्द ऐसे मंत्री को अपने मंत्रिमंडल से बाहर करे.


Read: क्या भाजपा भी अरविंद से डरी हुई है ?


Tag: Arvind Kejriwal, India Against Corruption, Kumar Vishwas, Salman Khurshid, Zakir Hussain trust, Salman Khurshid threat, Arvind Kejriwal, Zakir Hussain Memorial Trust, politics news, जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट, सलमान खुर्शीद, धमकी, अरविंद केजरीवाल, फर्रुखाबाद.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग