blogid : 314 postid : 1525

माई नेम इज शाहरुख खान

Posted On: 15 Apr, 2012 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1623 Posts

925 Comments

shahrukh khanबार-बार बेवजह किसी को परेशान करना अमरीका की आदत सी बन गई है. कुछ इसी तरह का बयान भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने उस समय दिया जब बॉलीवुड के सुपरस्टार अभिनेता शाहरुख खान को गुरुवार को न्यूयॉर्क हवाई अड्डे पर दो घंटे तक रोककर पूछताछ की गई. येल विश्वविद्यालय के हस्तक्षेप के बाद शाहरुख को छोड़ा गया. यहां यह बता दिया जाए कि शाहरुख को येल विश्वविद्यालय के एक खास कार्यक्रम में मेहमान के रूप में बुलाया गया. इस घटना को लेकर भारत की ओर से सख्त नाराजगी साफ तौर पर देखी जा सकती है. भारत ने अमरीका में भारतीय उच्च आयोग को तलब किया. भारत के कई बड़े नेता और मंत्री भी इस पूरे घटनाक्रम पर खासे नाराज दिखे.


थप्पड़ कांड : किंग खान को क्यूं आता है गुस्सा ?


ऐसा नहीं है अमरीका यह पहली बार किसी देश के खिलाफ कर रहा है. जब से अमरीका में 9/11 की घटना घटी और निरंतर मिल रहे आतंकवादी धमकियों से वह सुरक्षा को लेकर कोई कोताही नहीं बरतना चाहता इसलिए वह बाहर से आ रहे किसी भी देश के नागरिक खासकर दक्षिण और पश्चिम एशिया के नागरिकों से गहन पूछताछ करता है. उसमें यदि शाहरूख जैसे बड़े अभिनेता आ जाते हैं तो भी उसके लिए कोई मायने रखता. लेकिन अमरीका की यह सुरक्षा नीति किसी देश के साथ संबंध बिगाड सकती है. अमरीका को तय करना पड़ेगा कि किस व्यक्ति के साथ कैसा बर्ताव करना है.


शाहरुख के साथ पहले भी हुआ

यह पहला मौका नहीं है जब शाहरुख के साथ अमेरिका में इस तरह का बर्ताव किया गया है. इससे पहले अगस्त 2009 में एक हवाई अड्डे पर भी शाहरुख को रोककर दो घंटे तक पूछताछ के बाद छोड़ा गया था. शाहरुख को यह बर्ताव इतना बुरा लगा कि उन्होंने इसका जवाब फिल्म ‘माई नेम इस खान’ के जरिये दिया था.


अन्य नामचीन भारतीयों के साथ हुई यह घटना


एपीजे अब्दुल कलाम: अमेरिका ने न्यूयॉर्क के जेएफके हवाईअड्डे पर अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों द्वारा एपीजे अब्दुल कलाम की दो बार तलाशी ली. उन्होंने विस्फोटकों की तलाशी के तहत उनकी जैकेट और जूते उतारने को कहा. इस घटना पर भारत ने सख्त नाराजगी व्यक्त की. बाद में अमरीका द्वारा इस पूरे कार्यवाही पर माफी भी मांगी गई.


प्रफुल पटेल: शिकागो हवाई अड्डे पर सितंबर 2010 में तत्कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री को इसलिए रोका गया क्योंकि उनके नाम और जन्मदिन से मिलता-जुलता कोई अन्य शख्स अमेरिका में वांछित था.


जॉर्ज फर्नाडिस: 2002 और 2003 में दो बार वाशिंगटन के डूल्स अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भारत के तत्कालीन रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस को रोककर तलाशी ली गई.


मीरा शंकर: अमेरिका में भारतीय राजदूत के पद पर तैनात होने और राजनयिक पासपोर्ट से यात्रा करने के बावजूद 2010 में मिसीसिपी हवाई अड्डे पर उनकी तलाशी ली गई. वजह सिर्फ इतनी थी कि उन्होंने साड़ी पहन रखी थी.


हरदीप पुरी: संयुक्त राष्ट्र में भारतीय प्रतिनिधि हरदीप पुरी को नवंबर 2010 में ह्यूस्टन हवाई अड्डे पर 30 मिनट तक इसलिए रोका गया क्योंकि उन्होंने अपनी पगड़ी उतारने से इंकार कर दिया था.


किंग खान की अदाकारी का नया नमूना


Read Hindi News


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग