blogid : 314 postid : 1390285

राजधानी दिल्ली में एक्टिव हो चुका है लूटमार करने वाला सॉरी गैंग! ऐसे रखें सावधानी

Posted On: 2 Jan, 2019 Common Man Issues में

Pratima Jaiswal

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1540 Posts

925 Comments

हमारे बड़ों ने हमारे बचपन में ठगी या अगवा होने से बचाने के लिए बताया था कि कोई भी रास्ते में खड़े होकर कहे कि आपके मम्मी-पापा या फैमिली मेम्बर आपको वहां बुला रहे हैं, अस्पताल में भर्ती है, तो भूलकर भी उनके साथ मत जाना।  90 के दशक में बच्चों का अपहरण कर उनके माता-पिता से फिरौती मांगने की घटनाएं सुर्खियां बनी थीं। अब वक्त बीतने के साथ ठगी और लूटमार की वारदातों को अंजाम देने के लिए अपराधी तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं। ऐसे में उनका शिकार होने से बचने के लिए हमें कुछ सावधानियां बेहद जरूरी है। दिल्ली में इन दिनों ‘सॉरी गैंग’ खासा एक्टिव है, जो खासतौर पर टूरिस्ट को निशाना बना रहे हैं।

 

प्रतीकात्मक

 

‘सॉरी गैंग’ ऐसे देता है घटना को अंजाम
पुलिस के मुताबिक, पंजाब से दिल्ली आए प्रॉजेक्ट मैनेजर दयाल चंद से बड़े ही शातिराना तरीके से पहाड़गंज में लूटपाट हुई। वह पहाड़गंज के आराकशां रोड स्थित एक होटल में ठहरे थे। 13 दिसंबर को वह होटल से बाहर घूमने निकले। इसी दौरान आराकशां रोड पर मदर डेयरी के सामने राह चलते उनसे एक शख्स पहले तो टकराया। फिर यह कहते हुए उलझ पड़ा कि तुमने चलते हुए बूट मारा है। इतने में वो नीचे झुका और बोला कि मैं आपके पांव पकड़ लूं। इतना कहते हुए उसने पैरों को पकड़ लिया और झटके से खींच लिया। जोर का झटका लगने पर वह गिर गए। उसके बाद आरोपी ने धक्कामुक्की करते हुए हाथापाई की। कुछ सेकंड बाद ही आरोपी वहां से बिना कुछ कहे भाग गया।

 

भीड़भाड़ वाले इलाके हैं निशाने पर
पुलिस अफसर के मुताबिक, पॉकेटमार अब नई ट्रिक के साथ सिर्फ भीड़भाड़ वाले मार्केट में घूम रहे हैं। बाजार में टकराना, सॉरी बोलना, ध्यान भटकाना जैसे काम में वे माहिर हैं। वारदात के समय एक से अधिक होते हैं। अधिकतर लोगों को इन पर शक भी नहीं होता। कई बार सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से पहचाने गए। पकड़े गए। इनके टारगेट पर सिर्फ मोबाइल व पर्स होता है। इनका एरिया जाना पहचाना है। जाने आने व भागने के सारे रास्ते मालूम हैं। इनमें अधिकतर नाबालिग हैं और पहाड़गंज की अचोट बस्ती, अमरपुरी जैसे इलाके में रहते हैं।

 

 

 

पुलिस की ओर से उठाया गया कदम
पुलिस ने ऐसे गिरोहों के बदमाशों पर नजर रखने के लिए मुख्य ठिकानों की पहचान कर वहां सादा कपड़ों में पुलिसकर्मी तैनात किए हैं। इलाके की असोसिएशन से संपर्क कर इनकी पहचान की जा रही है। इसके अलावा वहां लगे सीसीटीवी फुटेज व लोकल मुखबिरों से भी मदद ली जा रही है

 

 

ऐसे रखें सावधानी
अपनी सुरक्षा अपने हाथ वाली बात पर अमल करते हुए आपको कम कैश के साथ घर से बाहर जाना चाहिए।
फोन या मोबाइल स्पीड डायल पर रखें।
भीड़भाड़ वाले इलाकों में मोबाइल का इस्तेमाल न करें।
भीड़ या बाजार में चलते वक्त सावधानी रखें…Next

 

Read More :

एंटी स्मॉग पुलिस से लेकर चिमनी फिल्टर्स तक, प्रदूषण से निपटने के लिए इन देशों ने उठाए ये कदम

किताबें और फीस उधार लेकर केआर नारायणन ने की थी पढ़ाई, 15 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचते थे स्कूल

क्या है RBI एक्ट में सेक्शन 7, जानें सरकार रिजर्व बैंक को कब दे सकती है निर्देश

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग