blogid : 314 postid : 820866

बैंक चोरी में असफल चोर ने लिखा बैंक मेनेजर के नाम एक खत जिसे पढ़ आपका भी दिल पिघल जाएगा

Posted On: 23 Dec, 2014 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1625 Posts

925 Comments

अपनी गलती मान लेना अच्छी बात है लेकिन जिस तेजी से इस चोर ने अपनी गलती मानी है उसे देख तो एक ही शब्द मुख से निकलता है, ‘भई क्या बात है’. यह बात उत्तर प्रदेश और देश की राजधानी दिल्ली से सटे इलाके नोएडा की है जहां के केनरा बैंक में एक चोर चोरी करने आया, उसने चोरी भी की, लेकिन जाते-जाते ऐसा काम कर गया कि सब दंग रह गए.


Canara Bank


नोएडा सेक्टर-6 में स्थित केनरा बैंक की एक शाखा में रविवार को एक चोर ने बंद बैंक में घुसने की कोशिश की. सफलतापूर्वक वो अंदर दाखिल भी हो गया. लेकिन जिस कमरे में पैसे रखे थे कड़ी सुरक्षा की वजह से उसे तोड़ ना सका और बिना कोई पैसा चुराए उसे वहां से जाने के लिए विवश होना पड़ा. लेकिन जाने से पहले उसने बैंक के मैनेजर की मेज पर एक खत छोड़ गया, जिसमें लिखा था:


“भईया, काहे का शुभ संदेश, आज आपकी कुर्सी पर बैठकर यह लिख रहा हूं, छोटे-छोटे तीन बच्चे हैं, महंगाई बहुत ज्यादा हो गई है, प्राईवेट नौकरी थी, छूट गई.”


apology letter


Read: सारी उम्र बीत गई 5 पैसे की लड़ाई में…भारतीय न्यायतंत्र की लेटलतीफी का अनोखा मामला


खत पढ़ने के बाद यह कहा जा सकता है कि किस कदर इस चोर को महंगाई की मार ने चोर बनने के लिए विवश कर दिया है. लेकिन जब वो अपने काम में सफल नहीं हुआ तो जाते-जाते उसने अपना गुनाह इस खत के जरिए कुबूल करना सही समझा.


बैंक के कर्मचारियों का कहना है कि जब वे रोजाना की तरह सुबह बैंक पहुंचे तो दरवाजा पहले से ही खुला हुआ था. किसी ने उसे तोड़ा था लेकिन कोई भी पैसा, सामान या किसी तरह का दस्तावेज चोरी नहीं हुआ था. कर्मचारियों को हैरानी तब हुई जब उन्होंने मैनेजर की मेज पर एक खत देखा. एक कर्मचारी ने बताया कि चोर ने वो सामान भी बैंक के अंदर छोड़ दिया जिसकी मदद से उसने बैंक के दरवाजे का ताला तोड़ा था.


bank inside pic


फिलहाल वो चोर कौन था इस बात का पता नहीं लगा है क्योंकि बैंक में चल रही मरम्मत के कारण बैंक के सीसीटीवी कैमरा बंद थे. लेकिन बैंक द्वारा नोएडा सेक्टर-20 के पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करा दी गई है. Next…..


Read more:

बड़े अरमानों से विदा हुई वो फिर किसने पहुंचाया उसे मौत के अंजाम तक? क्रूरता और हैवानियत की हृदयविदारक दास्तां


बेड़ियों से बंधे इस बच्चे का क्या था गुनाह, जिसने पुलिस को ही जांच के घेरे में ला दिया


अगर अंतिम संस्कार ऐसा हो तो हर कोई मरना चाहेगा इस कुत्ते की मौत


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग