blogid : 314 postid : 870816

लड़की का यह उत्तर पढ़ शिक्षक हुआ शर्मसार

Posted On: 15 Apr, 2015 Hindi News में

समाचार ब्लॉगदुनियां की हर खबर जागरण न्यूज के साथ

Hindi News Blog

1404 Posts

925 Comments

शिक्षा का गौरवपूर्ण अतीत समेटे एक भारतीय राज्य बिहार में बोर्ड परीक्षा की तस्वीरों को चर्चा में रहे अभी ज्यादा दिन नहीं हुए हैं. उस तस्वीर ने न केवल राज्य सरकार व जिला प्रशासन की पोल खोल कर रख दी बल्कि अभिभावकों के चरित्र को भी उजागर किया. एक ऐसी तस्वीर जिसके पीछे कुछ अभिभावकों की विवशता थी और परीक्षा दे रहे कई छात्रों के सगे-संबंधियों का स्वार्थ. लेकिन आज ईमानदारी और बेईमानी के बीच अवसर पाने और ना पाने को ही अंतर मान लिया गया है.


up ilu


बिहार की उस तस्वीर पर लोगों ने बिना पूरे मामले पर शोध किये बिहारियों की डिग्री पर चुटकी लेना शुरू किया. लेकिन ये सिर्फ बिहार की तस्वीर नहीं थी. कमोवेश यही हाल देश के उन राज्यों का भी है जिनकी तस्वीरें मीडिया के दायरे में नहीं आ पायी. बिहार के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में परीक्षा की कॉपियों की जाँच में शिक्षक लगे हुए हैं. उत्तर प्रदेश के गाज़ीपुर में प्रश्नों के उत्तर जाँचते-जाँचते शिक्षकों के सामने उत्तर-पुस्तिकाओं में जो पढ़ने को मिल रहा है वो बिहार की तस्वीर से जुड़ी हमारी शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलने वाली एक और पहलू ही है.


Read: वायरल हो रही बोर्ड की परीक्षा में नकल की इस तस्वीर के पीछे ये है सच्चाई


इन उत्तर-पुस्तिकाओं में विद्यार्थियों ने सौ रूपये का नोट लगा रखा है. कई छात्राओं ने अंक पाने के लिये पुस्तिका जाँचने वाले अज्ञात शिक्षक से अपने प्यार का इज़हार किया है. इसके लिये उन्होंने उन्हीं तीन शब्दों का इस्तेमाल किया है जिसे एक प्रेमी अपनी प्रेयसी से और एक प्रेयसी अपने प्रेमी से कहता है. परीक्षक को विश्वास में लेने का हथकंडा अपनाते हुए उन्होंने अपने फ़ोन नंबर तक साझा किये हैं. वहीं कुछ विद्यार्थियों ने प्रेम-पत्र लिखकर उसे उत्तर पुस्तिका के साथ जमा कर दिया है. कई विद्यार्थियों ने निवेदन पत्र भी लिख डाला है.


बेचारा


सच ही है मर्ज़ का पूरा उपचार न कर अगर लक्षणों का उपचार किया जाता रहा तो वो दिन दूर नहीं जब भारतीय परीक्षा-प्रणाली इससे भी ज्यादा बड़ा भद्दा मज़ाक बन कर रह जायेगा!Next….


Read more:

बाराती हुए लेट तो हर मिनट 100 रुपये के हिसाब से देना पड़ सकता है जुर्माना!

45 बार मैट्रिक फेल होकर बने कलयुग के भीष्म पितामह…लिया कुछ ऐसा शपथ

बॉलीवुड के ‘लखन’ पास भी नहीं कर सके थे अभिनय की प्रवेश-परीक्षा, लेकिन अपने दमदार अभिनय से कमाया नाम


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग