blogid : 25351 postid : 1295290

मेरा वोट, मेरी ताकत

Posted On: 21 Apr, 2019 Politics में

NIRAJ YADAV(SARVODAYA)Just another Jagranjunction Blogs weblog

NIRAJ KUMAR

2 Posts

1 Comment

मेरे प्यारे देशवासियों , यह पत्र आपको प्रेषित कर रहा हूं आशा करता हूं आप सपरिवार सकुशल जीवन के कर्तव्य पथ पर नित्य नई आशाओं के साथ जीवन का सफर पूर्ण कर रहे होंगे। आजादी के बाद आज हम 72 वर्ष पूर्ण कर चुके हैं। हमारे महापुरुषों गांधीजी, विनोबा जी, जयप्रकाश जी , डॉ लोहिया और बाबा साहब अंबेडकर जी के दिखाए गए मार्ग पर उनके द्वारा बताए गए सिद्धांतों, आदर्शो के आधार पर वह जैसा भारत बनाना चाह रहे थे , आपको और हमें ऐसा लगता है कि हम वह नहीं बना पाए। जिसके पीछे कई तर्क और कारणों को गिनाया जा सकता है। लेकिन हमने उन हजारों लाखों आजादी के दीवानों के बलिदान को क्या भुला दिया है। जिन्होंने हंसते-हंसते अपना बलिदान इसलिए कर दिया कि हम सभी को एक स्वतंत्र मुल्क और हमें गुलामी की बंदिशों से मुक्त कराया जा सके। आज हम देश में विभिन्न समस्याओं का सामना कर रहे हैं, जिनमें से पिछड़ी कृषि (खेती- वाढी), बेरोजगारी, तीव्र जनसंख्या वृद्धि और भ्रष्टाचार आदि है। इन समस्याओं ने हमारे देश को खोखला कर दिया है।

देश में अनगिनत समस्याओं के निदान के लिए आंदोलनों के माध्यम से कुछ सार्थक प्रयास भी हमारी आजादी के मूल्य हमें प्रदान नहीं कर सके। क्या आपको लगता है कि इस सबके लिए हमारा भ्रष्ट तंत्र जिम्मेदार है। यदि हां तो हमें अपने मुल्क (राष्ट्र )के विकास और व्यवस्था परिवर्तन के लिए अपना संगठन तैयार करने की आवश्यकता है। हम जाति, वर्ग, धर्म, लिंग और भाषा के भेद को मिटा कर सब को साथ लाए, साथ चलें, और सब का उदय करें अर्थात सर्वोदय का भाव अपने अंतर्मन में निहित करें। आपको पता होगा कि सबसे पहले व्यवस्था परिवर्तन के लिए हमें राजनीति के शुद्धिकरण की आवश्यकता है। हम कम साधनों से ऐसे ईमानदार व्यक्तियों को इस लोकसभा चुनाव में लाये और अपना वोट दें जो सबकी भलाई और विकास की बात करते हो।

 

जो सैद्धांतिक राजनीति की बात करने वाले हो और सब को साथ लेकर आगे बढ़ने के सिद्धांत में विश्वास रखने वाले हो। आपका प्रत्याशी कितना ही निर्बल और असहाय क्यों ना हो, आपके वोट में वह ताकत है जिसके आधार पर वह निर्वाचित होकर आप का प्रतिनिधित्व देश के सर्वोच्च सदन में कर सकेगा। आपके बेहतर भारत के सपने को पूरा करने के लिए इस चुनाव में कम से कम जाति ,धर्म से ऊपर उठकर अपने विकास और आजादी के मूल्यों को सार्थक बनाने के लिए आपको अपने वोट के जरिए समर्थन करना होगा। आओ बेहतर और सशक्त भारत के निर्माण में अपना योगदान निभाए, देश में स्वच्छ और ईमानदार प्रत्याशियो को चुने।जय हिंद, जय सर्वोदय ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग