blogid : 2711 postid : 2329

सुन लो पुकार आज (विजयादशमी पर)

Posted On: 22 Oct, 2012 Others में

chandravillaविश्व गुरु बने मेरा भारत

nishamittal

307 Posts

13083 Comments

Happy dussehra greeting card Glitter graphics

रावण कुम्भकर्णी विशाल चतुरंगिनी सेना का

कहर धरा के ऋषि-मुनियों पर जब टूट रहा था,

हाहाकार,क्रंदन स्वर चहुँ ओर से गुंज रहा था

अनाचार से भारित यह भूमंडल भी डोल रहा था

पिनाक टंकार स्वर देवों ने अंबर तक गुंजायाथा

दिव्यशस्त्र चला असुरों का नाम निशाँ मिटायाथा

विजय घोष नाद किया सत्य ध्वजा फहरायाथा.

पुनः शान्ति छायी धरा हर मन संतोष आया था.

आज पुनः कलिकाल के दानवों ने फन फैलायाहै,

प्रदूषित कर डाले भूमंडल को ऐसा विष फैलाया है.

इनके घृणित  कृत्य देखो धरा संतुलन डगमगाया है.

पीड़ित मानव मूर्छित सा है निज साहस गंवाया है.


फूंक शंख,गदा,धनुष बल या फिर चक्र घुमाना है,

मूर्छित मानव को भगवन फिरसे होश  में लाना है,

पुकार रही यह धरा प्रभु चमत्कार अब दिखलाना है,

अवतार प्रभु जो राहत दे,अवतरित उस रूप आना है,

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग