blogid : 11833 postid : 60

London Olympic 2012: सूबेदार विजय कुमार का लगा सटीक निशाना

Posted On: 4 Aug, 2012 Others में

Olympic 2012लंदन ओलंपिक पर गहरी नजर

London Olympic 2012

19 Posts

6 Comments

vijay kumarनिशानेबाज गगन नारंग के बाद करोड़ों दिलों में जगह बनाने वाले भारतीय निशानेबाज विजय कुमार ने लंदन ओलंपिक में शुक्रवार को रजत पदक जीतकर भारत के लिए दूसरा पदक हासिल किया. यह लम्हां उनके साथ-साथ पूरे देश के लिए गौरवमयी था. विजय कुमार से यह उम्मीद नहीं थी कि वह ओलंपिक जैसे खेल के महाकुंभ में भारत के लिए पदक लेकर आएंगे लेकिन उन्होंने उन सभी उम्मीदों पर विराम चिन्ह लगाकर भारत को एक और पदक दिलाया और अपना नाम स्वर्णिम इतिहास में दर्ज करा लिया.


Read: London Olympics 2012 : गगन ने पूरा किया अपना सपना


अपना पहला ओलंपिक खेल रहे विजय कुमार ने लंदन में बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए 25 मीटर रैपिड फायर में 130 के स्कोर के साथ रजत पदक जीता. रॉयल आर्टिलरी बैरक में आयोजित इस मुकाबले में क्यूबा के ल्यूरिस प्यूपो 134 अंको के साथ स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब रहे जबकि चीन के दिंग फेंग ने 27 शॉट लगाकर प्रतियोगिता का कांस्य पदक जीता. विजय कुमार के पदक जीतने के बाद हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के लोग काफी उत्साहित हैं. उनकी जीत के बाद मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने उन्हें एक करोड़ रुपये ईनाम स्वरूप देने की घोषणा की.


मध्यम वर्गीय परिवार में जन्में विजय कुमार के लिए निशानेबाजी एक बहुत बड़ी चुनौती थी. ऐसा माना जाता है कि निशानेबाजी अमीरों का खेल है क्योंकि इस खेल के लिए जो उपकरण प्रयोग में लाए जाते हैं वह काफी कीमती होते हैं. इसके अलावा जो ट्रेनिंग दी जाती है उसमें भी काफी पैसे खर्च होते हैं. लेकिन विजय कुमार को निशानेबाजी करनी थी ऐसे में उन्होंने सेना की सहायता से वह तमाम ट्रेनिंग ली जिसकी निशानेबाजी में जरूरत होती है. फिलहाल वह सेना में सूबेदार के पद पर तैनात हैं.


26 साल के इस निशानेबाज ने कई अंतरराष्ट्रीय खेलों में अपने देश के लिए पदक हासिल की है. विजय ने साल 2006 के मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स में 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में 2 गोल्ड मेडल जीते. इसके बाद 2006 के एशियन गेम्स में विजय ने ब्रॉन्ज मेडल जीता. उनके खेल को देखते हुए 2007 में उन्हें अर्जुन अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया. 2009 में शूटिंग वर्ल्ड कप में रैपिड फायर पिस्टल में विजय ने सिल्वर मेडल जीता. लेकिन 2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में विजय कुमार ने 3 गोल्ड मेडल और एक सिल्वर जीतकर यह बता दिया था कि वह भी ओलंपिक में मेडल ला सकते हैं.


Read : सेक्स के प्रति एथलीटों को आकर्षित करता यह शोध


Shooter vijay kumar, shooter vijay kumar, Vijay Kumar wins silver in 25m Rapid Fire Pistol, Vijay Kumar wins silver, india win silver, london olympics 2012 in hindi, olympics 2012 in hindi,


सेक्स के प्रति एथलीटों को आकर्षित करता यह शोध

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग