blogid : 10385 postid : 52

जय हिन्द जय भारत वन्दे मातरम् हममे है वोह दम दिखाने की बात नहीं करकेदिखा देंगे हम |

Posted On: 27 Jan, 2013 Others में

rbi updatesJust another weblog

omshukla

45 Posts

24 Comments

मेरा प्रश्न है क्या झंडा ऊचा रहे हमारा विजई विश्व तिरंगा प्यारा आज हो रहा है | लोग कहते है की हम देश के लिए जान भी दे सकते है पर जब मौका आता है तो सब पीछे हट जाते है | झंडा तो सब लेते है पर जब वोह जमीन पे परा होता है तो कितने लोग उसे उठाते है | आज के नवजवान भी पैसे की होड़ में लगे हुए है और देश के लिए कुछ करने के बजाये अपने मतलब को सिद्ध करने में लगे हुए है | झंडा ऊचा कैसे हो सकता है हमारा जब हम ही अपने देश को दुत्कारने में लगे रहते है | लोग नेताओ को गली देते है की वोह कुछ नहीं करते है पर इसके जिम्मेदार भी भारत की जनता ही है और कोई नहीं | अगर जनता चाहे तो क्या नहीं करवा सकती है अगर किसी को सर पर चढ़ा सकती है तो उसे निचे भी गिर सकती है पर जन्ताजनार्दन तो मूक दर्शक की भाति किसी के कहने या करने का इंतज़ार करती है | और पीछे पीछे चलती है ऐसा क्यों हो रहा है इस देश में जहा बड़े बड़े क्रांतिकारियों ने अपना जीवन इस देश को आजादी दिलाने के लिए देश पे कुर्बान कर दिया वह के लोग क्यों नहीं जागरूक हो रहे है | इंसान को अपनी पहचान खुद बनानी होगी | अगर आज का नागरिक सचेत नहीं होगा तो देश की तार्राकी कभी नहीं हो पायेगी यह एक सुनिचित बात है |

एक कथन है की अगर आप खुद की ही मदद नहीं कर पा रहे है तो खुदा भी आपकी कोई मदद नहीं करेगा | क्योकि बिना प्रयास के तो कुछ भी नहीं मिलता है | खाना अगर कोई बना भी दे तो क्या फायदा जब तक वोह खाया न जाए | वैसे मैं तो झंडे की ही बात करूँगा क्योकि कल हमारा ६४ गढ़तंत्र दिवस था | अगर देखा जाए तो हम भारतीय झंडे का बड़ा सम्मान करते है पर क्या आपने सोचा है की हम भारतीय ही झंडे का अपमान भी कर रहे है जैसे पतंग में तिरंगा बनाके, अपने शरीर पे तिरंगा बनवा के  | झंडा जब जमीन पे पड़ा होता है और रह चलते लोग उसे देखते हुए भी अनदेखा करते है | और कोई केक में झंडा बनवाता है और उसे खाता है | जब हम अपने देश में ही इस तरह अपने देश के झंडे का अपमान करते है तो अगर कोई  दूसरा उसके बारे में कुछ बोले तो क्यों बुरा लगता है ? अगर हम ही सुधर जाए तो दूसरे की हिम्मत ही नहीं होगी हमे  या हमारे मुल्क के बारे में बोलने की अपमान तो दूर की बात है | पर हम एकजुट होते भी तो नहीं है और इसी का फयदा पहले फिरंगी उठाते थे अब दुसरे मुल्क भी उठाने लगे है | हम भारतीयों का फायदा पहले भी विदेशियो ने उठाया था और आज भी उठा रहे है तभी जो भी व्यक्ति देश छोड़ के जाता है उसे यहाँ आने का मन ही नहीं करता है और देश के प्रति प्यार भी कम दीखता है | जो लोग इस देश में रहते है पर विदेश जाने के सपने देखते है वोह ऐसा इस लिए करते है क्योकि उन्हें लगता है की हमारे देश में तो भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार  है और यहाँ हमारी कोई तरक्की  नहीं होगी | और वोह इस देश में रहना भी पसंद नहीं करते है क्योकि उन्हें अपनी उन्नति से मतलब है पर इस देश से नहीं जिसे हम प्रगतिशील देश कहते है वोह तो आज भी कार्य प्रगति पे है वाली इस्थिति  में है और ऐसा ही रहा तो शायद कभी  भी विकशित न हो पाएगा | इस देश की विडम्बना तो देखो यही से गया हुआ व्यक्ति अपने को भारतवासी बताने में संकोच करता है और तो और भारत से आये हुए लोगो को भी अच्छी द्रस्ती से जब विदेश के लोग ही नहीं देखते है तो वोह जो भारतीय वह रहने लगते है उन्हें भी नया व्यक्ति जो भारत से विदेश गया है उसे ऐसे ही देखते है | वैसे अपने देश में जितना सम्मान दिया जाता है उतना सम्मान तो कही नहीं दिया जाता है और इसी का फायदा बहरी लोग उठाते आये है और आगे भी उठाते रहेंगे अगर हमने अपनी सोच को नहीं बदला क्योकि इंसान की सोच ही इंसान को बनाती है या उसे जीते जी ख़तम कर देती है तो हमे पहले अपने आप को बदलना होगा तभी हम कुछ कर पाएंगे और अपने देश का नाम और तिरंगे की शान रख पाएंगे |

जय हिन्द

जय भारत

वन्दे मातरम्  हममे है वोह दम दिखाने की बात नहीं करकेदिखा देंगे  हम |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग