blogid : 10385 postid : 678916

नए साल कि पूर्व संध्या पर विचारनिए प्रस्न कौन बनाये अगली सरकार २०१४ के इलेक्शन में??????????????????????

Posted On: 31 Dec, 2013 Others में

rbi updatesJust another weblog

omshukla

45 Posts

24 Comments

इस साल के  अंत  और नए  साल कि शुरुआत में अब कुछ ही समय बाकी रह गया है | २०१३ इतिहास के पन्नो में अंकित हो रहा है और २०१४ कि नीव रख गया है | समय बड़ा बलवान है कब किसे क्या दिन दिखा दे कुछ केह नहीं सकते ? पर अभी तो मोदी और केजरीवाल ने ही अपनी सख्शियत से प्रभावित किया है और जो गिरे है उनमे राहुल गांधी,अखिलेश यादव  और संत के नाम पे कलंक साबित हुए आशाराम बापू | लोग अब देश में सुधार लाना चाहते है तो सरकार को  भी कदम उठाने परड़ेंगे वर्ना जो हालत अभी आम चुनावो में हुई है उससे बुरी हालत लोक सभा चुनावो में होगी | देश बदलाओ चाहता है पर विश्वास किस पर करे एक तरफ मोदी  और दूसरी तरफ राहुल गांधी | तीसरा विकल्प आया है केजरीवाल के रूप में | पर क्या से सब के सब एक थैली के चट्टे बट्टे नहीं है ?

अगर मोदी कि बात कि जाए तो एक आदमी ही दो चार अन्य आदमी के ठीक होने से बाकी तो नहीं बच पाएंगे | क्योकि मोदी तो बस ऊपर से आदेश ही दे सकते है पर उनके निचे जितने भी नेता है वोह सब तो भ्रस्टाचार से लिप्त ही है उसका उद्धरण यह है कि जब चुनाव हुआ था तब से अब तक मैंने भारतीय जनता पार्टी के विधायक को जितने के बाद से कभी नहीं देखा कि उसने कभी अपनी विधान सभा कि और पलट के भी देखा हो |

वोही कांग्रेस में भी चोरो कि कोई कमी नहीं और वह तो और भी बड़े बड़े चोर है जो सिर्फ वायदे ही करते है पर कोई कम नहीं करते है | बस बाते बनाना ही आता है इन नेताओ को | लोकपाल बिल क्यों पास हुआ यह भी सभी को पता है |लोगो का दिल जितने के लिए पर क्या फायदा जब अब भी सिर्फ और सिर्फ अपनी जेबे भरने में आतुर है तो इस देश का क्या हो गा|

सपा एक ऐसी सरकार जिसने पूरे उत्तर प्रदेश कि नाक काट के रख दी है जिसको देखो वही अपने आपको बहुत बड़ा तुर्रम खा समझता  है | जहा देहो वह गुंडा गर्दी  और सरे आम मार पिट के अलावा कुछ भी नहीं हो रहा है |अराजकता का मोहाल है लोग अपनी जमीन जायदाद खुद बचाय क्योकि मुलयम कि सरकार है और यादवो और मुस्लमानो का ही सपा सरकार पे राज़ है |

बसपा सरकार में हरिजन बाहुल्य है |जहा सिर्फ और सिर्फ माया का राज है |

आप यानि आम आदमी पार्टी तो अभी पैदा हुई है पर विवाद पैदा होते ही हो गया एक मंत्री न बनाये जाने से बिदक उठा तो उसे मानना पड़ा |

अब सवाल यह उठता है कौन बनाये अगली सरकार क्योकि भ्रस्टाचार, गुंडा गर्दी , और लोगो को अनसुना कर देना तो आम बात है |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग