blogid : 10385 postid : 49

सावधान देशवासियो फर्जी नौकरी दिलवाने वाले विज्ञापनों से ........................

Posted On: 12 Oct, 2012 Others में

rbi updatesJust another weblog

omshukla

45 Posts

24 Comments

जब इंसान मेहनत करे वो  भी पूरी लगन से और उसका परिणाम अछा नहीं आता है तो दिल को बहुत बुरा लगता  है | पर जिंदगी का येही फलसफा है | मैं भी ऐसे ही घूमता रहता हूँ और मेरे सामने बहुत से लोगो ने अपना तजुर्बा बाटा है | और उनसे काफी सीखे भी मिली है जैसे की अगर कोई भी अपने को कंपनी बताये और पैसे भी मांगे तो समझो की वोह फ्रौड़ के सिवा कुछ भी नहीं है कंपनी जैसे की दैनिक जागरण के व्वार्गिक्रत में निकलती है उसमे अधिकतर फर्जी की कंपनी होती है और लोगो को मुर्ख ही बनाती है | आप जाओगे वोह लोग आपसे पैसे मांगेगे और आपका मिन्द्सेट ऐसा कर देंगे की आप पैसे भी दे दोगे पर सावधानी और सतर्कता ही हमे इनसे बचा सकते है |
मैं हाल की घटना का वर्णन करना चाहता हूँ | हुआ यूं कि मेरे एक परम मित्र इस जाल में फंसते फंसते रह गए |  उन्होंने दैनिक जागरण के वर्गीकृत पेज पर एक विज्ञापन देखा कि हिमालय कंपनी में जॉब निकली है | नंबर भी उपलब्ध थे उस पर तो उन्होंने फ़ोन किया एक महिला ने फ़ोन उठाया और जब उससे बातचीत हुई तो उसने बताया कि हिमालय में जॉब  है पर उसके लिए १५०० रुपये का पंजीकरण  कराना  होगा जो कि बाद में वापस कर दिया जायेगा और उसके लिए उनको दिली में उत्तम नगर में बुलाया | वह जाने पे उन्होंने पाया कि जो बोला था वोह कुछ तो था ही नहीं एक मैडम बैठी थी और उन्होंने मेरे मित्र को बैठाया और चाय पानी करवाया पर वह का वातावरण उसे राज़ न आया फिर भी वोह उसके कहने पे ब्रांच मेनेजर से मिला जो कि बच्चा था उसकी नज़र में | उसने भी कहा कि आपको हिमालय में ही नौकरी मिलेगी | और १५०० रुपये ले लिए और कई जगह पे हस्ताचर करवा  लिए | फिर एक लिफाफा दे दिया कि इसे लेकर गाजिअबाद चले जाओ और वहासे उनकी जोइनिंग बताई जाएगी | यह महाशय वहा से गाजिअबाद आ गए और वहा भी एक ब्रांच मेनेजर था उससे मिले और उसने भी येही कहा कि आपको हिमालय कंपनी में ही जॉब मिलेगी और फिर उसने  रुपये मांगे कोई चार्ज बता के और इन्होने वोह भी दे दिया |
एक बात बताना भूल गया कि दोनों ऑफिस तो किसी तरह से नहीं लग रहे थे फिर भी देखो इनकी बुधी को क्या हो गया कि उनकी बातो में यह आते गए और पैसे देते चले गए | खैर गाजिअबाद वाले ने बताया कि दो जगह खली है एक बांदा में  और एक अल्लाहबाद में | तो उनोहने अल्लाहबाद चुना और फिर ब्रांच  मेनेजर  ने एक लिफाफा दिया (लोकेंदर ) कि यह तुम्हारा अप्पोइन्त्मेन्त लैटर है और येही दिखाने पे तुम वहा जा पाओगे | महाशय वहा से अल्लाहबाद चल दिए और वहा पहुच कर देखा कि कंपनी तो गुरुकुल मैनेजमेंट एंड मार्केटिंग लिमिटेड करके थी और वहा भी unhe कुछ खास समझ  नहीं आया | वहा पे ग.डी.पाण्डेय करके मेनेजर था जो कि sakal से ही मुर्ख बनाने वाला दिख रहा था और ऐसे चुतिया ब्रांच मेनेजर उसने आज तक नहीं देखे थे | पर चुतिया banana भी उनसे कोई सीखे ऐसा बनाया कि कोई बोले | वहा भी पैसे कि फरमाइश जारी थी और दिए भी | पर जब वहा पहला दिन कटा तो पता चला कि हर आदमी यहाँ बस फाश ही गया है और इस जाल से निकलना मुस्किल ही नामुमकिन है पर महाशय ने इतना तो किया कि खुद भी निकल आये और साथ में और लोगो को भी निकाल लाये .
पर कर कुछ न सके क्योकि यह व्यापार तो चल ही रहा है और न जाने कितने लोग इसकी कापेट में आ रहे है दैनिक जागरण से अनुरोध है कि कृपया कोई भी विज्ञापन छापने से पहले उसकी जांच परताल जरुर कर ले पता चले कि वोह तो भलाई करना चहेते है पर लोग ही बुरे कर रहे हो | वैसे यह हर नागरिक का कर्त्तव्य है  कि ऐसी कोई भी जानकारी हो तो यथा शीग्र उसे अपने nazdiki पुलिश केंद्र को दे | क्योकि एक गरीब रोज़ी रोटी के चक्कर में सायद फंश जाता है और फिर उसका nikalpana मुस्किल हो जाता है | क्योकि कोई उसकी तो सुनता भी नहीं है | जिंदगी में बहुत से हादसे होते रहते है तो कृपया इनसब से सीख लेकर दुसरो कि भी मदद करे ताकि वोह समय से पहेले ही सतर्क हो जाए |

जब इंसान मेहनत करे वो  भी पूरी लगन से और उसका परिणाम अछा नहीं आता है तो दिल को बहुत बुरा लगता  है | पर जिंदगी का येही फलसफा है | मैं भी ऐसे ही घूमता रहता हूँ और मेरे सामने बहुत से लोगो ने अपना तजुर्बा बाटा है | और उनसे काफी सीखे भी मिली है जैसे की अगर कोई भी अपने को कंपनी बताये और पैसे भी मांगे तो समझो की वोह फ्रौड़ के सिवा कुछ भी नहीं है कंपनी जैसे की दैनिक जागरण के व्वार्गिक्रत में निकलती है उसमे अधिकतर फर्जी की कंपनी होती है और लोगो को मुर्ख ही बनाती है | आप जाओगे वोह लोग आपसे पैसे मांगेगे और आपका मिन्द्सेट ऐसा कर देंगे की आप पैसे भी दे दोगे पर सावधानी और सतर्कता ही हमे इनसे बचा सकते है |

मैं हाल की घटना का वर्णन करना चाहता हूँ | हुआ यूं कि मेरे एक परम मित्र इस जाल में फंसते फंसते रह गए |  उन्होंने दैनिक जागरण के वर्गीकृत पेज पर एक विज्ञापन देखा कि हिमालय कंपनी में जॉब निकली है | नंबर भी उपलब्ध थे उस पर तो उन्होंने फ़ोन किया एक महिला ने फ़ोन उठाया और जब उससे बातचीत हुई तो उसने बताया कि हिमालय में जॉब  है पर उसके लिए १५०० रुपये का पंजीकरण  कराना  होगा जो कि बाद में वापस कर दिया जायेगा और उसके लिए उनको दिली में उत्तम नगर में बुलाया | वह जाने पे उन्होंने पाया कि जो बोला था वोह कुछ तो था ही नहीं एक मैडम बैठी थी और उन्होंने मेरे मित्र को बैठाया और चाय पानी करवाया पर वह का वातावरण उसे राज़ न आया फिर भी वोह उसके कहने पे ब्रांच मेनेजर से मिला जो कि बच्चा था उसकी नज़र में | उसने भी कहा कि आपको हिमालय में ही नौकरी मिलेगी | और १५०० रुपये ले लिए और कई जगह पे हस्ताचर करवा  लिए | फिर एक लिफाफा दे दिया कि इसे लेकर गाजिअबाद चले जाओ और वहासे उनकी जोइनिंग बताई जाएगी | यह महाशय वहा से गाजिअबाद आ गए और वहा भी एक ब्रांच मेनेजर था उससे मिले और उसने भी येही कहा कि आपको हिमालय कंपनी में ही जॉब मिलेगी और फिर उसने  रुपये मांगे कोई चार्ज बता के और इन्होने वोह भी दे दिया |

एक बात बताना भूल गया कि दोनों ऑफिस तो किसी तरह से नहीं लग रहे थे फिर भी देखो इनकी बुधी को क्या हो गया कि उनकी बातो में यह आते गए और पैसे देते चले गए | खैर गाजिअबाद वाले ने बताया कि दो जगह खली है एक बांदा में  और एक अल्लाहबाद में | तो उनोहने अल्लाहबाद चुना और फिर ब्रांच  मेनेजर  ने एक लिफाफा दिया (लोकेंदर ) कि यह तुम्हारा अप्पोइन्त्मेन्त लैटर है और येही दिखाने पे तुम वहा जा पाओगे | महाशय वहा से अल्लाहबाद चल दिए और वहा पहुच कर देखा कि कंपनी तो गुरुकुल मैनेजमेंट एंड मार्केटिंग लिमिटेड करके थी और वहा भी unhe कुछ खास समझ  नहीं आया | वहा पे ग.डी.पाण्डेय करके मेनेजर था जो कि sakal से ही मुर्ख बनाने वाला दिख रहा था और ऐसे चुतिया ब्रांच मेनेजर उसने आज तक नहीं देखे थे | पर चुतिया banana भी उनसे कोई सीखे ऐसा बनाया कि कोई बोले | वहा भी पैसे कि फरमाइश जारी थी और दिए भी | पर जब वहा पहला दिन कटा तो पता चला कि हर आदमी यहाँ बस फाश ही गया है और इस जाल से निकलना मुस्किल ही नामुमकिन है पर महाशय ने इतना तो किया कि खुद भी निकल आये और साथ में और लोगो को भी निकाल लाये .

पर कर कुछ न सके क्योकि यह व्यापार तो चल ही रहा है और न जाने कितने लोग इसकी कापेट में आ रहे है दैनिक जागरण से अनुरोध है कि कृपया कोई भी विज्ञापन छापने से पहले उसकी जांच परताल जरुर कर ले पता चले कि वोह तो भलाई करना चहेते है पर लोग ही बुरे कर रहे हो | वैसे यह हर नागरिक का कर्त्तव्य है  कि ऐसी कोई भी जानकारी हो तो यथा शीग्र उसे अपने nazdiki पुलिश केंद्र को दे | क्योकि एक गरीब रोज़ी रोटी के चक्कर में सायद फंश जाता है और फिर उसका nikalpana मुस्किल हो जाता है | क्योकि कोई उसकी तो सुनता भी नहीं है | जिंदगी में बहुत से हादसे होते रहते है तो कृपया इनसब से सीख लेकर दुसरो कि भी मदद करे ताकि वोह समय से पहेले ही सतर्क हो जाए |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग