blogid : 26149 postid : 744

ऐसी आवाजों पर सबसे तेजी से रिएक्ट करता है दिमाग, स्टडी में सामने आए ये तथ्य

Posted On: 10 Dec, 2018 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

110 Posts

1 Comment

आपने गौर किया होगा कि कोई-कोई आवाज आपको चुभती है यानि आपके दिमाग में उस आवाज से सुनाई देते ही हलचल मचने लगती है। जैसे कि आप ट्रक, बस या डीजे पर चलते तेज आवाज वाले गाने किसी व्यक्ति के दिमाग पर जोर डालते हैं। ऐसे में सभी के बारे में ये कहना बहुत मुश्किल है, कि किसे कौन-सी आवाज से परेशानी होती है लेकिन हाल ही में स्विट्जरलैंड के जिनेवा स्थित यूनिवर्सिटी में स्टडी करवाई गई, जिसमें सामना आया कि किस तरह की आवाज पर हमारा दिमाग सबसे तेज रिएक्ट करता है।

 

 

 

गुस्से वाली आवाजों पर तेजी से रिएक्ट करता है दिमाग
यूएनआईजीई में शोधकर्ता लियोनार्डो सेरावोलो ने कहा, “गुस्से में संभावित खतरे का संकेत हो सकता है, यही कारण है कि मस्तिष्क लंबे समय तक इस तरह की उत्तेजना का विश्लेषण करता है।” शोधकर्ताओं ने कहा कि अध्ययन में पहली बार सामने आया कि कुछ सौ मिलीसेकंड में हमारा दिमाग गुस्से वाली आवाजों की उपस्थिति को लेकर संवेदनशील है।

 

 

सेरावोलो ने कहा, “मुश्किल परिस्थितियों में संभावित खतरे के सोर्स का तेजी से पता लगाना जरूरी है, क्योंकि यह खतरे की स्थिति में महत्वपूर्ण है और हमारे अस्तित्व के लिए काफी फायदेमंद है।”
यानी साफ है कि गुस्से में बोले गए शब्द या पटकी हुई चीजों के प्रति हमारा दिमाग ज्यादा संवेदनशील है।

 

 

ऐसे हुई स्टडी
सुनने के दौरान खतरों को लेकर दिमाग के रिऐक्शन की प्रतिक्रिया की जांच करने के लिए, शोधकर्ताओं ने 22 मानव आवाज की लघु ध्वनियों (600 मिलीसेकंड) को प्रस्तुत किया जो न्यूट्रल थे या गुस्सा और खुशी व्यक्त करते थे। दो लाउडस्पीकरों के जरिए इन साउंड्स को 35 पार्टिसपन्ट्स को सुनाया गया। इस दौरान इलेक्ट्रोइन्सेफलोग्राम (ईईजी) के जरिए दिमाग में मिलीसेकंड तक विद्युत गतिविधि को मापा गया। खास तौर पर, शोधकर्ताओं ने ऑडिटरी अटेंशन प्रोसेस से संबंधित इलेक्ट्रो फिजियोलॉजिकल पार्ट पर ध्यान केंद्रित किया…Next

 

 

Read More :

ब्रिटिश शाही परिवार को ज्योतिबा फुले ने ऐसे दी थी चुनौती, उनकी जिंदगी के दिलचस्प किस्से

सरकारी स्कॉलरशिप के लिए पढ़ने वाला लड़का ऐसे बना ‘मिल्कमैन ऑफ इंडिया’ इनके आंदोलन पर आधारित थी ये फिल्म

खोया हुआ फोन ढूंढना हुआ आसान, गूगल ने फाइड माय डिवाइस में जोड़ा एक और फीचर

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग