blogid : 26149 postid : 1175

अमूल एमडी के ड्राइवर के बेटे ने पास किया IIM-अहमदाबाद एग्जाम, इस व्यक्ति को बताया अपना रोल मॉडल

Posted On: 8 Apr, 2019 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

163 Posts

1 Comment

कहते हैं कि हम अपने वर्तमान को स्वीकार करते हुए भविष्य के लिए मेहनत करने का नाम ही जिंदगी है। अगर आपकी वर्तमान स्थिति ठीक नहीं है तो इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आपका भविष्य भी वैसा ही रहने वाला है बल्कि आपकी मेहनत आपके वर्तमान और भविष्य दोनों को बदल सकती है।

 

कुछ ऐसी ही मेहनत करके एक 22 साल के हितेश सिंह करोड़ों भारतवासियों के लिए एक प्रेरणा बन रहे हैं। हितेश के पिता पंकज सिंह अमूल के मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) के ड्राइवर हैं और आज उन्हें अपने बेटे की उपलब्धि पर गर्व हो रहा है। दरअसल, हितेश ने मुश्किल माने जाने वाले टेस्टों में से एक आईआईएम-अहमदाबाद के एंट्रेंस को पास किया है। हितेश देश के अग्रणी बिजनस स्कूलों में से एक इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद में फूड ऐंड ऐग्रो बिजनस मैनेजमेंट में दो वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा पास की है।

 

अमूल एमडी के ड्राइवर हैं हितेश के पिता
हितेश के पिता अमूल के एमडी आरएस सोढ़ी के ड्राइवर हैं। पंकज सिंह अपने बॉस सोढ़ी को लेकर आईआईएम-ए में जाते रहे हैं जहां वह गेस्ट लेक्चरर हैं। बिहार के रहने वाले पंकज सिंह जब अपने बॉस को आईआईएम-ए लेकर जाते थे तो उनके दिल में अपने बेटे को इस संस्थान में पढ़ाने का ख्याल आया। उनका सपना तब पूरा हुआ जब हितेश ने कॉमन ऐप्टिट्यूड टेस्ट (कैट) में 96.12 परसेंटाइल हासिल किया और फिर पर्सनल इंटरव्यू क्लियर किया।

 

आरएस सोढ़ी (अमूल एमडी)

डेयरी सेक्टर में बनाना चाहते हैं कॅरियर, सोढ़ी को बताया रोल मॉडल
हितेश आईआईएम-ए की फीस के लिए 23 लाख रुपये का लोन लेना चाह रहे हैं। वह डेयरी सेक्टर में कॅरियर बनाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि सोढ़ी उनके लिए प्रेरणा रहे हैं। परिवार दिल्ली के आरकेपुरम में एक कमरे वाले किचन अपार्टमेंट में रहता था। सोढ़ी ने नगरनिगम के स्कूल में अपनी शुरुआती पढ़ाई की। सोढ़ी ने अपनी ओर से हितेश को कॅरियर को लेकर बेहतरीन सुझाव दिया और उसका मार्गदर्शन किया। वह कहते हैं कि हितेश की सफलता अन्यों के लिए प्रेरणा का स्रोत होगी।

हितेश ने स्कूल में गुजराती माध्यम से पढ़ाई की थी लेकिन भाषा कभी मेरे लिए बाधा नहीं बनी। उन्होंने आणंद में दो कमरे के फ्लैट में अपने परिवार के रहने वाले हितेश ने SMC कॉलेज ऑफ डेयरी साइंस से डेयरी टेक्नोलॉजी में बीटेक में टॉप स्थान हासिल किया था।…Next

 

Read More :

90 के दशक का मशहूर गाना घर से निकलते ही फेम ‘मयूरी कांगो’ गूगल में करती हैं जॉब

WhatsApp पर आपकी मर्जी बिना कोई नहीं कर सकता ग्रुप में एड, इस नम्बर पर मैसेज करके खुद करें फेक न्यूज चेक

नेशनल वोटर डे : भारत में ज्यादातर मतदाता नहीं जानते ये अहम नियम

 

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग