blogid : 26149 postid : 2692

चीनी प्रोडक्ट के बायकॉट का अनोखा तरीका, कोर्ट ने आरोपी को दिया 'देशी' टीवी लगाने का आदेश

Posted On: 3 Jul, 2020 Others में

Rizwan Noor Khan

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

358 Posts

1 Comment

 

 

लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों के कायराना हमले में शहीद हुए 20 जवानों की घटना के बाद से देश में चीन के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा है। आम लोगों समेत सरकार के मंत्रियों ने भी चीनी प्रोडक्ट के बहिष्कार का ऐलान कर दिया है। अब कोर्ट ने भी एक आरोपी को सजा के तौर पर चीनी प्रोडक्ट का बायकॉट करते हुए देशी टीवी लगाने का आदेश दिया है। कोर्ट ने आरोपी से टीवी की तस्वीर भेजने को भी कहा है।

 

 

 

 

ग्वालियर हाईकोर्ट बेंच ने दिया आदेश
एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने दो आरोपियों को मुरार जिला अस्पताल के आश्रय भवन में एक एलईडी टीवी लगाने का आदेश दिया है। आदेश में कहा गया है कि यह टीवी चाइना मेड नहीं होना चाहिए। दोनों आरोपियों ने 26 जून को एक आपराधिक मामले में जमानत याचिका दायर की थी। कोर्ट ने सशर्त जमानत देते हुए यह सजा सुनाई है।

 

 

 

 

जमानत पाने के लिए करना होगा ये काम
हाईकोर्ट ग्वालियर बेंच के अतिरिक्त महाधिवक्ता ने एएनआई को बतया कि आरोपियों ने बेल एप्लिकेशन फाइल की थी। कोर्ट ने बेल दी है और आदेश दिया कि उन्हें अस्पताल के रैन बसेरा में LED TV लगाना होगा और वो टीवी मेड इन चाइना नहीं होगा। इससे देशभर में एक स्ट्रोंग मैसेज जाएगा।

 

 

 

 

 

LED TV चाइना मेड नहीं होगा तभी मिलेगी मंजूरी
MP हाईकोर्ट ग्वालियर बेंच ने दोनों आरोपियों को यह भी आदेश दिया है कि LED TV लगाने के बाद उसकी तस्वीर हाईकोर्ट की रजि​स्ट्री शाखा में पेश करनी होगी। ताकि, पुष्टि की जा सके। पालन होने पर ही जमानत मंजूर की जाएगी। हाईकोर्ट के इस आदेश से साफ हो गया है कि अब भारत हर मोर्चे पर चीन को सबक सिखाने वाला है।

 

 

 

 

गलवान घाटी की घटना से गुस्से में है देश
बता दें कि 15—16 जून की रात को लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने कायराना हरकत करते हुए भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था। हमले में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। घटना के बाद से लोगों का गुस्सा भड़क उठा और चीन के खिलाफ लोग सड़क पर उतर आए। चीनी प्रोडक्ट के बहिष्कार के ऐलान के बाद सरकार ने तीन दिन पहले ही 59 चीनी मोबाइल एप्लीकेशन को बैन करते हुए चीन को कड़ा सबक सिखाया है।…NEXT

 

 

 

Read more:

कोरोना के चलते हरी सब्जियों की मांग बढ़ी, WHO ने कहा- इम्यूनिटी बढ़ाने का बेस्ट ऑप्शन

6 करोड़ लोगों पर लटकी गरीबी की तलवार, विश्वबैंक के खुलासे से दुनियाभर में चिंता बढ़ी

35 देश अपने ही बच्चों के भविष्य के लिए खतरा बने, अफगानिस्तान समेत एशिया के कई देश लिस्ट में

लॉकडाउन में बेटे को सब्जी लेने भेजा तो बीवी लेके लौटा, जानिए फिर क्या हुआ

पाकिस्तान से 30 साल बाद रिहा होगा एशियाई हाथी, जनरल जियाउल हक को गिफ्ट में मिला था

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग