blogid : 26149 postid : 2739

मधुमक्खियों में फैल रही महामारी, रिसर्च में खुलासा- खतरे में हैं दुनियाभर की मधुमक्खियां

Posted On: 14 Jul, 2020 Others में

Rizwan Noor Khan

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

368 Posts

1 Comment

 

 

 

एक ओर मनुष्य कोरोना महामारी से जूझ रहा है। वहीं, मधुमक्खियों भी अपने जीवन को बचाने के लिए अलग तरह की महामारी की चपेट में आ रही हैं। जीव वैज्ञानिकों की रिसर्च में खुलासे के बाद यह बात सामने आई है कि मधुमक्खियों का जीवन संकट में आ गया है।

 

 

 

 

कोलोराडो बोल्डर ​यूनिवर्सिटी ने जारी किए डॉक्यूमेंट
डेलीमेल की रिपोर्ट के मुताबिक कोलोराडो बोल्डर ​यूनिवर्सिटी ने एक स्टडी के बाद दस्तावेज जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि किस तरह से मुधमुक्खियां एक खास तरह के संक्रमण की चपेट में आ रही हैं। स्टडी में पाया गया है कि यूरोप में फूलों से खास तरह का जानलेवा फंगस (कवक) निकलकर मधुक्खियों को अपना शिकार बना रहा है।

 

 

 

फूलों से फैल रहा नोसिमा फंगस
रिसर्चर्स के मुताबिक जब मधुमक्खियां परागण के दौरान फूलों पर बैठती हैं तब वह इस जानलेवा फंगस से ग्रसित हो जाती हैं। वैज्ञानिकों ने इस फंगस को नोसिमा नाम दिया है। नोसिमा के संपर्क में आते ही मधु​मक्खियां मरने लगती हैं। नोसिमा में मौजूद पैरासाइट मधुमक्खी के शरीर को खा जाते हैं।

 

 

 

वैज्ञानिकों ने महामारी घोषित किया
कोलोराडो बोल्डर ​यूनिवर्सिटी की स्टडी में खुुलासा किया गया है कि नोसिमा दुनियाभर में फैल रहा है और मधुमक्खियों में महामारी बनता जा रहा है। अब तक इस फंगस की वजह से अमेरिका, ब्राजील, रूस, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका और केन्या में बड़ी संख्या में मधुमक्खियां मारी गई हैं।

 

 

 

 

मधुमक्खियों के जीवन के लिए सबसे बड़ा संकट
रिसर्चस ने बताया है कि नोसिमा मधुमक्खियों में महामारी की तरह फैल रही है। नोसिमा से संक्रमित मधुमक्खी की जगह बैठने वाली दूसरी मधुमक्खी इस फंगस की चपेट में आ जाती है। इस तरह से यह संक्रमण एक से दूसरी मधुमक्खी में फैल रहा है। रिसर्च में चिंता जताई गई है कि मधुमक्खियों की यह बीमारी उनके जीवन के लिए सबसे बड़ा सकंट बनकर उभरी है।…NEXT

 

 

 

Read more:

फरार चल रहे कुख्यात अपराधी के घर बैंड बाजा लेकर पहुंची पुलिस तो लगी भीड़

ट्रांसजेंडर जोया खान ने रचा कीर्तिमान, कानून मंत्री जयशंकर प्रसाद ने की तारीफ

6 करोड़ लोगों पर लटकी गरीबी की तलवार, विश्वबैंक के खुलासे से दुनियाभर में चिंता बढ़ी

35 देश अपने ही बच्चों के भविष्य के लिए खतरा बने, अफगानिस्तान समेत एशिया के कई देश लिस्ट में

पाकिस्तान से 30 साल बाद रिहा होगा एशियाई हाथी, जनरल जियाउल हक को गिफ्ट में मिला था

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग