blogid : 26149 postid : 95

असुमल हरपलानी ऐसे बना आसाराम, 2300 करोड़ की है संपत्ति!

Posted On: 25 Apr, 2018 Others में

Shilpi Singh

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

92 Posts

1 Comment

तंत्र-मंत्र करने के बहाने नाबालिग से बलात्कार करने के आरोपी अध्यात्मिक गुरु आसाराम पर जोधपुर की विशेष कोर्ट आज फैसला सुनाएगी, इस मामले में उन्हें 10 साल तक की सजा हो सकती है। आसाराम पर इसके आलावा दो बच्चों की नरबलि, सूरत की दो बहनों के बलात्कार और 9 गवाहों पर हुए जानलेवा हमलों में 3 की हत्या जैसे गंभीर आरोप लगे हैं। इस स्थिति को देखते हुए फैसले से पहले देश के 8 राज्यों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है और 30 अप्रैल तक जोधपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है। चलिए एक नजर ड़ालते हैं आसाराम के सफर पर।

 

 

 

असली नाम असुमल हरपलानी है

आसाराम का असली नाम असुमल हरपलानी है और उनका जन्म साल 1941 में पाकिस्तान के सिंध इलाके में हुआ था। विभाजन के बाद सिंधी व्यापारी समुदाय से संबंध रखने वाला उनका परिवार अहमदाबाद आ गया और 20 साल की उम्र में असमुल ने अध्यात्म की राह पकड़ी और लीलाशाह को अपना गुरु माना। बस यहीं से असमुल का नाम आसाराम हो गया। साल 1972 में आसाराम ने अहमदाबाद से लगभग 10 किलोमीटर दूर मुटेरा कस्बे अपना पहला आश्रम शुरू किया।

 

 

आसाराम के हैं 4 करोड़ भक्त

आसाराम के आश्रमों की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक दुनिया भर में उनके 4 करोड़ अनुयायी हैं। इसके आलावा उनके दुनिया भर में 400 से ज्यादा आश्रम भी हैं। बता दें कि आसाराम की पहुंच बढ़ाने के लिए उनके बेटे नारायण साईं ने भी खुद को अध्यात्म के हवाले कर दिया था।

 

 

ये सब रहे हैं आसाराम के वकील

आसाराम के केस देश के सबसे महंगे वकील लड़ते रहे हैं। इन वकीलों में राम जेठमलानी, राजू रामचंद्रन, सुब्रमण्यम स्वामी, सिद्धार्थ लूथरा, सलमान ख़ुर्शीद, केटीएस तुलसी और यूयू ललित जैसे नाम शामिल हैं। यूयू ललित तो आजकल सुप्रीम कोर्ट में जज हैं। बता दें कि अलग-अलग अदालतों ने आसाराम की ज़मानत की अर्जियां अभी तक 11 बार ख़ारिज की हैं।

 

 

2300 करोड़ रुपए की अघोषित आय है

बता दें कि आयकर विभाग की जांच में पता चला था कि आसाराम ने 2008-09 से लगातार 2300 करोड़ रुपए की अघोषित आय को विभाग से छुपाए रखा था। जांच में ऐसे बेनामी निवेश का पता चला जिनका संबंध आसाराम और उनके शिष्यों से था। ये निवेश रियल एस्टेट, म्यूचुअल फंड्स, शेयर, किसान विकास पत्र और फिक्स्ड डिपोजिट के रूप में किए गए।

 

 

यह आंकड़े 2016 में आई एक रिपोर्ट के आधार पर है

आसाराम और उनके अनुयायियों ने 1991-92 से पूरे भारत में 1400 से अधिक लोगों को ऋण के दौर पर 3800 करोड़ रुपए दिए, सारा कर्ज कैश के रूप में दिया गया। सिक्योरिटी के रूप में पोस्ट डेटेड चेक्स, प्रोमिसरी नोट्स और ज़मीन के कागजात जमा करवाए गए। यह आंकड़े 2016 में आई एक रिपोर्ट के आधार पर है।

 

 

किस मामले में आएगा फैसला

आरोप है कि 15 अगस्त 2013 की रात को राजस्थान के जोधपुर स्थित मणाई आश्रम में आसाराम ने पीड़िता नाबालिग के साथ यौन शोषण किया। लड़की के परिजनों ने 20 अगस्त को दिल्ली के कमला नेहरू बाजार थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। आसाराम पर ज़ीरो नंबर की एफआईआर दर्ज हुई थी, जिसे बाद में जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया था। आसाराम के खिलाफ आईपीसी की धारा 342, 376, 354-ए, 506, 509/34, जेजे एक्ट 23 व 26 और पोक्सो एक्ट की धारा 8 के तहत केस दर्ज हुआ था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 31 अगस्त की रात को इंदौर स्थित आश्रम से आसाराम को गिरफ्तार कर लिया।Next

 

 

 

Read More:

100 लग्जरी कारें और 12 हजार की सिगरेट पीता है किम जोंग, चीयरलीडर से की है शादी

हॉलीवुड जाने के बाद बॉलीवुड की ये 6 फिल्में ठुकरा चुकी हैं प्रियंका चोपड़ा!

पाकिस्तान में बैन हैं भारतीय टीवी के ये 7 मशहूर सीरियल और शोज

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग