blogid : 26149 postid : 881

‘मेड इन इंडिया’ हैं भारत के ये 10 दमदार हथियार, जिनकी ताकत से घबराते हैं अमेरिका-चीन

Posted On: 24 Jan, 2019 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

203 Posts

1 Comment

कहते हैं युद्ध की मंशा न रखना एक अच्छा कदम हो सकता लेकिन हमेशा अपनी रक्षा के लिए या युद्ध से बचने के लिए हमारे पास तरीके और हथियार होने ही चाहिए। भारत भी हमेशा से शांति के सिद्धांत पर चलता रहा है लेकिन उसके साथ ही शक्ति संतुलन के जरूरी पहलू भी इसी सिद्धांत में शामिल है।
भारत के पास ऐसे 10 हथियार हैं, जिससे अमेरिका और रूस भी घबराते हैं। सबसे खास बात ये है कि इन हथियारों का निर्माण भारत में ही हुआ है।

 

अर्जुन टैंक

 

 

अर्जुन टैंक को दुनिया के कई देशों की टैंक के मुकाबले मजबूत माना जाता है। यह टैंक 1974 से भारतीय सेना में अपनी सेवा दे रही है।

 

नाग मिसाइल

 

 

डीआरडीओ की ओर से विकसित इस मिसाइल को बीडीएल की ओर से प्रोड्यूज किया जाता है। यह हवा और जमीन से दुश्मओन के टैंक को तबाह करने में सक्षम है। यह चार किलोमीटर तक वार कर सकती है।

 

आकाश मिसाइल सिस्टम

 

 

यह जमीन से हवा में मार करने वाली मिडिल रेंज की मिसाइल है। यह मिसाइल किसी एयरक्राफ्ट पर 30 किमी दूर से ही निशाना साध सकती है। यह फाइटर जेट, क्रूज मिसाइल और जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल के हमले को नाकाम करने में भी सक्षम है।

 

अग्नि 5

 

अग्नि पांच भारत की आधुनिकतम मिसाइलों में से एक है। यह इंटर कॉंटिनेंटल मिसाइल है। यह एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप पर मार कर सकती है। यह परमाणु और पारंपरिक दोनों तरह के हथियार ले जाने में सक्षम है।

 

रिसैट रडार सिस्टम

 

 

रिसैट (रडार इमैजिंग सैटेलाइट्स) भारतीय रडार सैटेलाइट है। इसके चलते कोई भी विदेशी लड़ाकू विमान और मिसाइल भारत की सीमा में प्रवेश नहीं कर सकता है। यह हर मौसम में काम करने में सक्षम है।

 

इंडियन बैलेस्टिक मिसाइल डिप्फेंमस सिस्ट

 

 

इस सिस्टम के जरिए भारत देश की सीमाओं को विदेश हमलों से महफूज रख सकता है। इसकी मदद से किसी भी हमलावर मिसाइल का पता लगाया जा सकता है और उसके निशाने पर लगने से पहले ही उसे गिराया जा सकता है।

 

पिनाक रॉकेट लॉन्चर

 

 

भारतीय सेना के लिए डीआरडीओ ने इस रॉकेट लॉन्चर को विकसित किया था जो कि बेहद घातक है। इसके फर्स्ट वर्जन की मारक क्षमता करीब 45 किलोमीटर है, जबकि इसके दूसरे वर्जन से 65 किलोमीटर तक मार की जा सकती है। यह लॉन्चर 44 सेकेण्ड के अंदर 12 रॉकेट दाग सकता है।

 

धनुष तोप

 

 

इस तोप को बोफोर्स तोप के आधार पर विकसित किया गया था। बाद में इसकी क्षमता को बढ़ाया गया। यह करीब 38 किलोमीटर तक मार कर सकती है। 15 सेकेण्ड के अंदर यह तीन राउंड फायरिंग कर सकती है।

 

ध्रुव हेलीकॉप्टर

 

मल्टीपर्पज हेलीकॉप्टर  जिसको हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने विकसित किया है। यह हेलीकॉप्टर 20 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है और एक बार में 800 किमी का सफर तय कर सकता है।

 

तेजस फाइटर जेट

 

भारत की ओर से डेवलप यह एक मात्र जेट फाइटर है। यह चौथी पीढ़ी का हल्काक मल्टीरोल एयरक्राफ्ट है। यह हवा से हवा और हवा से जमीन पर मिसाइल दागने में भी सक्षम है। इसमें बेहद आधुनिक रडार सिस्टयम में भी लगा है…Next

 

 

Read More :

एना बर्न्स को मिला लेखन का सबसे बड़ा मैन बुकर अवॉर्ड, इससे पहले ये भारतीय जीत चुके हैं अवॉर्ड

नोबेल पुरस्कार की कैसे हुई शुरुआत, कितने भारतीयों को अभी तक मिल चुका है नोबेल

ब्रिटिश शाही परिवार को ज्योतिबा फुले ने ऐसे दी थी चुनौती, उनकी जिंदगी के दिलचस्प किस्से

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग