blogid : 26149 postid : 2226

लॉकडाउन में बेटे को सब्जी लेने भेजा तो बीवी लेके लौटा, जानिए फिर क्या हुआ

Posted On: 30 May, 2020 Others में

Rizwan Noor Khan

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

336 Posts

1 Comment

कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। इसके तहत लोगों को घरों से निकलने पर पाबंदी है। निश्चित समय पर घरेलू सामान खरीदने के लिए ही बाहर निकला जा सकता है। एक मां ने अपने बेटे को सब्जी लेने के लिए बाहर भेजा तो वह बीवी लेकर घर लौटा। बेटे की हरकत पर मां का रो—रोकर बुरा हाल है।

 

 

 

 

सब्जी की बजाय बीवी ले आया बेटा
लॉकडाउन से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है। ऐसे में प्रशासन की ओर से जरूरी काम करने की ही छूट दी गई है। जानकारी के अनुसार गाजियाबाद के साहिबाबाद इलाके की रहने वाली एक महिला ने अपने बेटे को घरेलू सामान लेने के लिए घर से बाहर भेजा। जब बेटा घर आया वह शादी करके अपने साथ बीवी लेकर लौटा।

 

 

 

 

मां ने घर में घुसने से रोका
बेटे के इस तरह शादी करने और शादी के जोड़े में लड़की को लाने पर मां ने ऐतराज जताया और उन्हें घर में आने से रोक दिया। बेटा अपनी कथित बीवी को घर में ले जाने पर अड़ गया। बेटे की हरकत से दुखी मां ने पुलिस से शिकायत की तो मामला संबंधित थाने पहुंच गया।

 

 

 

 

आर्य समाज मंदिर में की शादी
इस संबंध में एएनआई ने एक वीडियो भी जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस के सामने युवक ने अपना नाम गुड्डू उम्र 26 वर्ष और युवती का नाम सविता बताया। सविता दिल्ली में किराए के मकान में रहती है। युवक के अनुसुार दो महीने पहले उसने सविता से आर्य समाज मंदिर हरिद्वार में विवाह किया है। इस दौरान लॉकडाउन लागू होने के चलते शादी कराने वाले पुजारी ने मैरिज शर्टिफिकेट बाद में देने की बात कही है।

 

 

 

Click Here  To Watch Video

 

दिल्ली में रहेगा कपल
सविता और गुड्डू अपने अपने घर आ गए। मां ने गुड्डू को जब सब्जी लेने के लिए बाहर भेजा तो पहले से बीवी को लाने की सारी जुगाड़ फिट किए बैठा गुड्डू सब्जी की बजाय बीवी को घर ले आया। बेटे की हरकत से दुखी मां का रो रोकर बुरा हाल हो गया। उसने बेटे और बहू को घर में रखने से इनकार कर दिया। पुलिस ने दिल्ली में सविता के मकान मालिक से नवविवाहित जोड़े को लॉकडाउन खत्म होने तक रहने की इजाजत देने को कहा है।…NEXT

 

 

Read more:

दौड़ते समय टूटा पैर फिर भी 8 घंटे रेंगकर पहुंचा रेसर, डॉक्‍टरों ने बचा ली जान

एक करोड़ किसानों को बर्बाद कर पाकिस्‍तान पहुंचे लाखों टिड्डे, जहां जाते हैं कोहराम मचाते हैं

विश्‍व के 13 फीसदी लोग क्‍यों मौत के मुहाने पर हैं और 34 करोड़ बच्‍चों की जिंदगी कैसे खतरे में है

टीपू सुल्‍तान ने ऐसा क्‍या किया जो कहलाए फॉदर ऑफ रॉकेट, जानिए कैसे अंग्रेजों के उखाड़ दिए पैर

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग