blogid : 26149 postid : 701

क्या है मंगल पर पहुंचा नासा का इंसाइट लैंडर, अंतरिक्ष के खुल सकते हैं ये राज

Posted On: 27 Nov, 2018 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

92 Posts

1 Comment

अंतरिक्ष की दुनिया हमेशा से ही इंसानों के लिए उत्सुकता से भरी रही है। अंतरिक्ष के अनछुए पहलुओं को दुनिया के सामने लाने के लिए वैज्ञानिक नए-नए मिशन पर काम करते रहते हैं। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने हाल ही मंगल के अनछुए पहलुओं को उजागर करने के लिए एक मिशन की शुरुआत की है। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का अंतरिक्ष यान इंसाइट लैंडर भारतीय समयानुसार मंगलवार रात करीब डेढ़ बजे मंगल ग्रह पर उतर गया। मंगल के लिए भेजे गए इस नए रोबोट ने सात मिनट के बेहद अहम वक्त में यह लैंडिंग की।

 

 

नासा के इंसाइट मिशन का लक्ष्य मंगल के जमीनी और आंतरिक भागों का अध्ययन करना है और पृथ्वी के अलावा यह इकलौता ऐसा ग्रह है जिसकी नासा इस तरह जांच करने जा रहा है।

 

 

क्या है इंसाइट लैंडर 

मंगल पर उतरने के लिए इस यान के लिए सात मिनटों को बेहद अहम समझा जा रहा था। इसके लिए यान को अपनी रफ़्तार 20 हजार किलोमीटर प्रति घंटे तक कम करनी थी। इंसाइट मंगल ग्रह के बारे में ऐसी जानकारियां दे सकता है, जो अरबों सालों से नहीं मिली हैं। अपने अभियान के दौरान यह यान मंगल पर एक साइज़्मोमीटर रखेगा, जो इसके अंदर की हलचलें रिकॉर्ड कर सकेगा। यह पता लगाएगा कि मंगल के अंदर कोई भूकंप जैसी हलचल होती भी है या नहीं।

 

 

 

मिल सकती हैं अहम जानकारियां 

यह पहला यान है जो मंगल की खुदाई करके उसकी रहस्यमय जानकारियां जुटाएगा। साथ ही एक जर्मन उपकरण भी मंगल की ज़मीन के पांच मीटर नीचे जाकर उसके तापमान का पता लगाएगा। ग्रह के इस तापमान से यह पता चल सकेगा कि मंगल ग्रह अभी भी कितना सक्रिय है…Next

 

 

Read More :

आसमान में अपना अलग चांद भेजेगा चीन! ऐसे करेगा काम

श्राद्ध से मिलता-जुलता है मेक्सिको में बनाया जाने वाला ‘डे ऑफ डेड’ फेस्टिवल, इसे कहते हैं आत्माओं का दिन

एना बर्न्स को मिला लेखन का सबसे बड़ा ‘मैन बुकर’ अवॉर्ड, इससे पहले ये भारतीय जीत चुके हैं अवॉर्ड

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग