blogid : 26149 postid : 2419

सप्ताह में चार दिन वर्किंग डे करने की योजना, महामारी के मद्देनजर न्यूजीलैंड ने शुरू की तैयारी

Posted On: 22 May, 2020 Others में

Rizwan Noor Khan

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

312 Posts

1 Comment

कोरोना महामारी से दुनियाभर के देश परेशान हैं। लॉकडाउन के चलते कामकाज की बंदी चल रही है। ऐसे में अर्थव्यवस्था को चरमराने से से बचाने के लिए सप्ताह में 4 दिन काम करने की योजना पर विचार किया जा रहा है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने इस विचार को लागू करने के संकेत दिए हैं।

 

 

 

 

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने दिया सुुझाव
सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने बंदी के कारण अर्थव्यवस्था पर छाई सुस्ती को दूर करने के लिए नया आइडिया शेयर किया है। उनके अनुसार कोरोना महामारी से इकोनॉमी पर बुरा असर पड़ा है। उद्योग धंधों और कारखानों के बंद होने से लगातार नुकसान हो रहा है।

 

 

 

 

 

सप्ताह में 4 दिन काम करने का प्लान
रिपोर्ट के अनुसार न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया है कि वर्किंग डे 4 दिन कर दिया जाए। उन्होंने एंप्लॉयर्स का साहस बढ़ाते हुए वर्क कल्चर को असान बनाने की अपील की है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते न्यूजीलैंड की टूरिज्म इंडस्ट्री को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है।

 

 

 

 

 

 

कोरोना के चलते डगमगाई अर्थव्यवस्था पटरी पर आएगी
न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री के इस सुझाव को उनके देश में लागू करने पर विचार चल रहा है। वैसे पहले भी सप्ताह में 4 दिन वर्किंग डे करने की वकालत की जाती रही है। लेकिन, मौजूदा समय में इस तरीके से कंपनियों और कर्मचारियों को अपने घाटे से उबरने की उम्मीद बढ़ जाएगी।

 

 

 

 

2018 में सक्सेस हो चुका है ये प्लान
रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में इस वर्किंग डे प्लान को न्यूजीलैंड की कंपनी प्रेपेचुअल गार्जियन ने ग्राहकों की मदद के लिए दो महीने तक अपने यहां इस प्लान का ट्रायल किया था। कंपनी के अनुसार इस ट्रायल के अच्छे रिजल्ट सामने आए थे और उसने 4 डे वर्किंग इन वीक प्लान को हमेशा के लिए लागू करने की इच्छा जताई थी।

 

 

 

 

एंप्लॉयर्स को नियमों में रखनी होगी नरमी
विशेषज्ञों का मानना है कि 4 डे वर्किग प्लान तब ही कामयाब हो सकता है। जब एंप्लायर्स अपने कर्मचारियों के प्रति नियमों में नरमी बरतें और ढील दें। इससे नुकसान होने की बजाय उत्पादन में इजाफे की संभावना प्रबल होगी। वहीं, नौकरी खोने और रिसेशन के खौफ से घबराए कर्मचारियों को हौसला मिलेगा।…NEXT

 

 

 

Read more:

कोरोना से जंग के लिए मैदान में उतारे गए रोबोट, जांच से लेकर दवा पहुंचाने तक हर काम चुटकियों में करेंगे

कोरोना के बाद रहस्यमयी बीमारी का शिकार बन रहे बच्चे, कई देशों में फैला संक्रमण

लॉकडाउन में बेटे को सब्जी लेने भेजा तो बीवी लेके लौटा, जानिए फिर क्या हुआ

खाली समय में घर पर बना डाला हेलीकॉप्टर, टू सीटर है लकड़ी से बना एयरक्राफ्ट

 

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग