blogid : 26149 postid : 614

दीवाली पर यहां 600 कर्मचारियों को गिफ्ट में मिलेगी कार और 900 को एफडी

Posted On: 25 Oct, 2018 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

92 Posts

1 Comment

अगर आप नौकरी पेशा हैं, तो दीवाली पर आपको भी ऑफिस की तरफ से मिलने वाले गिफ्ट्स का इंतजार रहता होगा। वहीं दिवाली से कई दिन पहले ऑफिस के कर्मचारी मिलने वाले गिफ्ट्स के बारे में अंदाजे लगाने लग जाते हैं। दीवाली के गिफ्ट को लेकर एक इसी उत्सुकता के बीच एक खबर ऐसी है, जिसे जानकार आपको लगेगा कि काश! आप भी इसी कंपनी में काम करते। दरअसल, पिछले कुछ वर्षों से दिवाली के मौके पर अपने कर्मचारियों को खास तोहफा देकर सुर्खियां बटोरने वाले हीरा कारोबारी और हरि कृष्णा एक्सपोर्ट्स के चेयरमैन सावजी ढोलकिया इस बार फिर चर्चा में हैं।

 

प्रतीकात्मक तस्वीर

 

600 कर्मचारियों को कार और 900 कर्मचारियों को एफडी
कंपनी के चेयरमैन के मुताबिक लॉयल्टी प्रोग्राम के तहत इस वर्ष 1500 कर्मचारी चयनित हुए हैं। इसमें से 600 कर्मचारियों ने गिफ्ट के रूप में कार पर सहमति दी जबकि 900 कर्मचारियों ने बैंक में एफडी की मांग की। पहली बार हमारे चार कर्मचारी पीएम नरेंद्र मोदी के हाथ से यह गिफ्ट प्राप्त करेंगे। इस साल उनकी कंपनी दिवाली बोनस के बतौर कुल 50 करोड़ रुपये कर्मचारियों पर खर्च कर रही है। यह उस लॉयल्टी प्रोग्राम का हिस्सा है जिसे 2011 में इस कंपनी की तरफ से शुरू किया गया था।

 

हरि कृष्णा एक्सपोर्ट्स के चेयरमैन सावजी ढोलकिया

 

पिछले साल बांटी थी मर्सेडीज कार
पिछले महीने ही ढोलकिया ने अपने तीन कर्मचारियों को (जिन्होंने नौकरी के 25 वर्ष पूरे कर लिए हैं) मर्सेडीज बेंज गिफ्ट की थी, कार की चाबियां गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के हाथों से कर्मचारियों को दिलाई गईं। 1 करोड़ रुपये की कीमत की जीएल फॉर्मेटिक मॉडल वाली कारें इन कर्मचारियों को बतौर सरप्राइज गिफ्ट दिए गए थे। ढोलकिया 2011 से हर साल कर्मचारियों को इसी तरह के दिवाली बोनस देते रहे हैं। 2015 में उनकी कंपनी ने अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर 491 कार और 200 फ्लैट बांटे थे। 2014 में भी कंपनी ने कर्मचारियों के बीच इन्सेंटिव के तौर पर 50 करोड़ रुपये बांटे थे…Next

 

Read More

एना बर्न्स को मिला लेखन का सबसे बड़ा मैन बुकर अवॉर्ड, इससे पहले ये भारतीय जीत चुके हैं अवॉर्ड

गिनीज बुक में दर्ज होने के लिए शेफ ने पकाई 3,000 किलो खिचड़ी, इससे पहले इस शेफ के नाम है रिकॉर्ड

नोबेल पुरस्कार की कैसे हुई शुरुआत, कितने भारतीयों को अभी तक मिल चुका है नोबेल

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग