blogid : 26149 postid : 1765

इतिहास का वो राजा जिसे तीन बार कब्र से निकाला गया लेकिन पता नहीं चली मौत की सच्चाई, आज भी रहस्यमय है यह कहानी

Posted On: 5 Aug, 2019 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

272 Posts

1 Comment

इतिहास में कई ऐसी घटनाएं रही हैं जिसके बारे में कई बातें कही जाती हैं। इन घटनाओं से जुड़ा सटीक सत्य कोई नहीं जानता, इसलिए इन्हें रहस्य मान लिया जाता है। ये रहस्यमय कहानियां भारत ही नहीं बल्कि हर देशों में घटती है। ऐसी ही रहस्यमय कहानी है मिस्र की दुनिया की। दुनिया के लिए मिस्र हमेशा से रहस्यमय रहा है, यहां से जुड़ी कई कहानियों पर रिसर्च हो चुकी है लेकिन फिर भी सटीक तौर पर कई कहानियों की सच्चाई पता नहीं लग पाई है। आज हम आपको मिस्र के राजा की ऐसी ही रहस्यमय कहानी के बारे में बताएंगे-

 

tut 3

 

19 साल की उम्र में मौत का शिकार हुए प्राचीन मिस्र के सबसे चर्चित राजा तूतनखामेन,  जिनकी मृत्यु लगभग तीन हजार सालों पहले हो चुकी है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि आज इतने सालों बाद भी तूतनखामेन की मौत को लेकर वैज्ञानिकों के तर्क अलग-अलग हैं। हालांकि, आज से 88 वर्ष पहले ब्रितानी पुरातत्ववेत्ता हॉवर्ड कार्टर ने तूतनखामेन की मौत के रहस्य को सुलझाने के लिए काफी सालों तक रिसर्च करके कुछ तथ्य पेश किए थे।

 

 

कौन था तूतनखामेन (टट)

प्राचीन मिस्र में राजा को ‘फराओं’ कहा जाता था। तूतनखामेन मिस्र का राजा था, जिसने मिस्र पर 1333 ईसापूर्व से लेकर 1324 ईसापूर्व तक शासन किया और महज 19 वर्ष की उम्र में उनकी मृत्यु हो गई लेकिन इस कम उम्र राजा की मौत एक पहेली ही बनकर रह गई। बहुत से लोगों का कहना था कि टट को राज घराने में चल रही रंजिश का शिकार होना पड़ा था। उनकी हत्या की गई थी जबकि आज तक किसी भी वैज्ञानिक ने ऐसा दावे के साथ नहीं कहा है।

 

tut5

 

 

रिसर्च में हुए चौंका देने वाले खुलासे

तूतनखामेन को जितनी प्रसिद्धि अपने शासनकाल में नहीं मिली होगी उतनी मौत के बाद मिली, जब 1922 में कार्टर ने उनकी ममी ढूंढ निकाली. ‘वैली ऑफ किंग्स’ में मिस्र के प्राचीन शासकों की ममी रखी गई हैं। उनके कब्र से सोने और हाथी दांत से बने आभूषणों का जखीरा निकला।कार्टर ने अपनी स्टडी में लिखा था कि ‘जब मैंने पहली बार तूतनखामेन की ममी को देखा, तो ममी ने ताबीज पहन रखा था और पूरा चेहरा सोने से बने मास्क से ढंका हुआ था। इन सामानों को निकालने के लिए कार्टर और उनकी टीम के सदस्यों ने तूतनखामेन के शरीर के कई टुकड़े कर दिए। सोने के मास्क को हटाने के लिए गर्म छुरियों और तारों का इस्तेमाल किया गया। इस मास्क को बाम की तरह तूतनखामेन के चेहरे पर चढ़ाया गया था। काटे हुए शरीर को दोबारा ठीक करने के बाद 1926 में उसे फिर से पुरानी जगह पर रख दिया गया। उसके बाद से ममी को एक्स-रे के लिए तीन बार बाहर निकाला गया है। 1968 में हुए एक्स-रे से ऐसा पता चला कि हड्डी का एक टुकड़ा उनकी खोपड़ी में धंसा हुआ है जिससे कयास लगे कि 19 वर्षीय तूतनखामेन की मौत स्वाभाविक नहीं थी बल्कि उनकी हत्या की गई होगी।

 

tut 4

 

 

रात में तूतनखामेन की ममी घूमते देखे जाने का दावा

मिस्र देश को पूरी दुनिया में रहस्यों के लिए जाना जाता है। कहा जाता है कि यहां रात के वक्त पिरामिडों के आसपास ममी घूमती दिखती हैं। साथ ही यहां अजीब तरह के संगीत की आवाज भी सुनाई देती है। तूतनखामेन के बारे में भी यही कहा जाता है कि कई बार सीटी स्कैन और पोस्टमार्टम से गुजरने के बाद भी मिस्र के पिरामिडों के पास तूतनखामेन की आत्मा को घूमते हुए देखा गया है…Next

 

 

Read more

कई रहस्यों को लिये बैठी है दुनिया की ये सबसे बड़ी गुफा

एक अद्भुत रहस्य: हर बार एक्सीडेंट वाली जगह पर कैसे आ जाती थी ये मोटरबाइक

जानना चाहेंगे इस सबसे पुरानी पहाड़ी का रहस्य जहां सबसे पहले च्यवनप्राश की उत्पत्ति हुई

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग