blogid : 26149 postid : 1812

अंतरिक्ष के अलावा पृथ्वी के इस क्षेत्र में नहीं है ग्रेविटी, हवा में उड़ते हुए फोटो क्लिक कराते हैं लोग!

Posted On: 13 Aug, 2019 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

267 Posts

1 Comment

आपने अंतरिक्ष से जुड़ी जानकारी में पढ़ा होगा कि ग्रेविटी न होने की वजह से अंतरिक्ष में चीजें स्थिर नहीं हो सकती लेकिन क्या आप जानते हैं पृथ्वी पर एक ऐसी जगह है, जहां पर ग्रेविटी नहीं है और लोग हवा में उड़ते हैं। कनाडा के कुछ भागों में विशेष रूप से ‘हडसन खाड़ी’ के आस-पास के क्षेत्र में गुरुत्वाकर्षण की क्षमता विश्व के अन्य स्थानों की अपेक्षा कम है, जिसके कारण को जानने के लिये वैज्ञानिक पिछले 50 वर्षों से निरंतर प्रयोग कर रहे हैं। 1960 में जब पृथ्वी के  क्षेत्रों की गुरुत्वाकर्षण क्षमता का निर्धारण किया जा रहा था, तभी वैज्ञानिकों ने पाया कि हडसन के नजदीकी इलाकों का गुरुत्वाकर्षण बल अन्य स्थानों की तुलना में बहुत कम है। इस भिन्नता को जानने से पहले गुरुत्वाकर्षण बल को जानना जरूरी होगा।

 

canda

 

 

साधारण शब्दों में आकर्षण बल द्रव्यमान अथवा भार पर निर्भर करता है। इस सिद्धान्त अनुसार किसी स्थान का कम द्रव्यमान उसके बल में भी कमी का कारण होता है। इस प्रकार भिन्न स्थानों का गुरुत्वाकर्षण बल भी अलग-अलग होता है।

 

Fooling gravity

 

 

इस अनियमितता के लिए वैज्ञानिकों ने मुख्य रूप से दो कारणों को उत्तरदायी मानते है- पृथ्वी दिखने में एक बॉल जैसे होती है, जो भूमध्य रेखा के आस पास उभरी हुई होती है और धुरी पर घूमने के कारण ध्रुवों की सतह चपटी होती है, इस कारण पृथ्वी की बनावट में भिन्नता के कारण उसके द्रव्यमान में असमानता होती है जो समय समय पर परिवर्तित होती रहती है।

 

 

sppcae

 

यह प्रतिक्रिया संवहन (Convection) क्रिया के नाम से जानी जाती है, जो पृथ्वी के आवरण पर निर्भर करती है। यह आवरण मॉल्टेन रॉक की लेयर होती है, जिसे मैग्मा कहते हैं जो पृथ्वी की सतह के भीतर पाई जाती है, जो एक जगह से दूसरी जगह घूमती रहती है कभी ऊपर उठती है कभी नीचे गिरती है जिसके कारण संवहन धारा का प्रवाह होता है और यह संवहन पृथ्वी के द्रव्यमान को कम करता और साथ ही गुरुत्वाकर्षण बल भी कम हो जाता है।

दूसरे सिद्धान्त के अनुसार ‘लौरेंटाइड आइस लेयर’ उत्तरी यूनाइटेड स्टेट के साथ कनाडा के अनेक स्थानों को ढके हुए है, जो लगभग 3. 2 किलोमीटर तक मोटी  होती है जो पृथ्वी पर दबाव बढ़ा देती है जिसके कारण हडसन क्षेत्रों के गुरुत्वाकर्षण बल में कमी आ जाती है। इस कमी के कारण कई बार लोग पृथ्वी की सतह से कई फ़ीट ऊँचाई तक हवा में उड़ने का अनुभव भी करते हैं। हालांकि, इस पर अभी तक कोई ठोस प्रमाण नहीं है।…Next

 

 

Read More :

मुमताज महल की 14वें बच्चे को जन्म देते हुए की हो गई थी मौत, शाहजहां ने कसम तोड़कर बेगम की छोटी बहन से कर ली शादी

भारत-पाक की सरहदों को पार करके फिजाओं में गूंजती थीं मेंहदी हसन की गजलें, कुछ चुनिंदा शायरी

प्यार के बीच आने वाली इन 7 मुश्किलों को कर लिया पार, तो निभा लेंगे एक-दूसरे का साथ

 

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग