blogid : 26149 postid : 1348

क्या आप जानते हैं? किसी यूजर के मरने के बाद उसके अकांउट के साथ क्या करता है फेसबुक

Posted On: 30 May, 2019 Others में

Pratima Jaiswal

OthersJust another Jagranjunction Blogs Sites site

Others Blog

243 Posts

1 Comment

दुनिया में रोजाना मौतें होती हैं। बहुत से फेसबुक अकाउंट एडमिन भी रोजाना मरते हैं। ज़्यादातर लोग अपने अकाउंट का पासवर्ड अपने तक रखते हैं इसी वजह से फेसबुक पर मरे हुए लोगों के अकाउंट की संख्या करोड़ों तक पहुंचती जा रही है लेकिन क्या आप जानते हैं फेसबुक में एक ऐसा फीचर होता है, जिससे किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसकी याद में उसकी समाधि बना दी जाती है।

 

 

लिगेसी कॉन्टैक्ट
फेसबुक पर अपने अकाउंट की देखरेख के लिए एक ‘लिगेसी कॉन्टैक्ट’ रखना सबसे अच्छा विकल्प है। आपका लिगेसी कॉन्टैक्ट आपकी मौत के बाद आपका अकाउंट मैनेज कर सकता है। जिससे आपकी प्रोफाइल पिक्चर बदली जा सकती है, आपकी टाइमलाइन पर पोस्ट ‘पिन’ कर सकते हैं और फ्रेंड रिक्वेस्ट का जवाब दे सकते हैं। हालांकि, उन्हें कुछ पोस्ट करने या आपके मैसेज देखने की इजाज़त नहीं होती है। आपको ये ऑप्शन सिक्योरिटी ऑप्शन में मिलेगा।

 

 

 

मरे हुए लोगों के अकांउट के साथ ये करता है फेसबुक
फेसबुक मृत लोगों के अकाउंट को ‘मेमोरियलाइज’ कर देता है। यानी उनका अकाउंट डिलीट नहीं होता। बल्कि लोग मृत व्यक्ति की यादों को सहेज सकें, इसलिए उनके पोस्ट और तस्वीरें बचाकर रखता है। ‘मेमोरियलाइज्ड’ अकाउंट में व्यक्ति के नाम के आगे ‘रिमेंबरिंग’ जुड़ जाता है। यानी उन्हें याद किया जा रहा है। अगर मृत व्यक्ति ने अपनी टाइमलाइन लोगों के की पोस्ट के लिए खुली रखी हो, तो लोग उनकी टाइमलाइन पर पोस्ट भी कर सकते हैं। मेमोरियलाइज्ड अकाउंट न ही ‘people you know यानी ‘friend suggestion’ में दिखाई पड़ते हैं, न ही उनकी फ्रेंड लिस्ट में मौजूद लोगों को उनके जन्मदिन का नोटिफिकेशन जाता है। अगर मृत व्यक्ति ने कोई ऐसा पेज बनाया हो जिसका वो इकलौता एडमिन है, तो मौत की खबर मिलते ही वो पेज डिलीट कर दिया जाता है। अगर मृत व्यक्ति ने कोई ‘लिगेसी कॉन्टैक्ट’ तय किया हो तो वो अकाउंट में बदलाव कर सकता है।

 

 

मरे हुए लोगों की ऐसे खबर मिलती है फेसबुक को
लिगेसी कॉन्टैक्ट वाले पेज के अंत में फेसबुक आपसे पूछता है कि क्या आप किसी मृत व्यक्ति की जानकारी फेसबुक को देना चाहते हैं। उसपर क्लिक कर आप एक फॉर्म तक पहुंच जाते हैं, जो अकाउंट के मालिक को मृत घोषित करने के पहले आपको भरना पड़ता है लेकिन आप आसानी से या मजाक में अपने दोस्त को मृत घोषित नहीं कर सकते, इसके लिए मरने वाले व्यक्ति का डेथ सर्टिफिकेट अपलोड करना पड़ता है। जिसको वेरीफाई करने के बाद ही फेसबुक उस व्यक्ति को मृत घोषित करेगा।

इसके अलावा अगर आप चाहते हैं कि आपके जाने के बाद आपका अकाउंट हमेशा के लिए डिलीट हो जाए तो आपको ‘रिक्वेस्ट अकाउंट डिलीशन’ सेलेक्ट करना पड़ेगा। इस ऑप्शन की सबसे खास बात ये है कि आपके जाने के बाद भी फेसबुक किसी को आपके मैसेज पढ़ने या लॉग इन करने की इजाजत नहीं देता।…Next

 

Read More :

Menstrual Hygiene Day : गंभीर बीमारियों से बचने के लिए पीरियड के दौरान रखें स्वच्छता से जुड़ी इन बातों का ख्याल

WhatsApp पर आपकी मर्जी बिना कोई नहीं कर सकता ग्रुप में एड, इस नम्बर पर मैसेज करके खुद करें फेक न्यूज चेक

नेशनल वोटर डे : भारत में ज्यादातर मतदाता नहीं जानते ये अहम नियम

 

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग