blogid : 321 postid : 1376960

योगी की राह पर शिवराज, यहां जाकर तोड़ेंगे वर्षों पुराना अंधविश्‍वास!

Posted On: 27 Dec, 2017 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

757 Posts

457 Comments

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का नोएडा आना पिछलों दिनों सुर्खियों में रहा। योगी आदित्यनाथ ने नोएडा पहुंचकर पिछले 29 वर्षों से चले आ रहे अंधविश्वास को तोड़ा। अब योगी की राह पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी चलने वाले हैं। वे भी इसी तरह का अंधविश्वास तोड़ने जा रहे हैं। शिवराज ने घोषणा की है कि वे मध्‍यप्रदेश के अशोक नगर जाएंगे, जहां जाने से राज्य के अब तक के मुख्‍यमंत्री कतराते रहे हैं।


shivraj singh


यात्रा के दौरान की घोषणा

शिवराज सिंह ने मंगलवार को अशोक नगर जिले के पिपराई कस्बे की यात्रा के दौरान घोषणा की कि वे अंधविश्वासी नहीं हैं और जल्द ही यात्रा कर अशोक नगर से जुड़े मिथक को तोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि मैं किसी गलतफहमी में विश्वास नहीं करता हूं और मैं अंधविश्वासी नहीं हूं। मैं इस मिथक को जल्द ही तोडूंगा और निश्चित रूप से अशोक नगर की यात्रा करूंगा। दरअसल, ऐसा माना जाता है कि अपने कार्यकाल के दौरान मध्य प्रदेश का जो भी मुख्यमंत्री अशोक नगर जिला मुख्यालय की यात्रा करता है, उसे कुर्सी छोड़नी पड़ती है। राज्य के कई ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिन्हें अशोक नगर जिला मुख्यालय की यात्रा के बाद पद छोड़ना पड़ा। इससे इस अंधविश्वास को बढ़ावा मिला।


Shivraj Singh2


अभी तक शिवराज भी आने से बचते रहे

बताया जाता है कि इससे पहले मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारका प्रसाद मिश्रा, सुंदरलाल पटवा, अर्जुन सिंह, दिग्विजय सिंह, उमा भारती, बाबूलाल गौर और लालू प्रसाद यादव (बिहार का मुख्‍यमंत्री रहने के दौरान) भी इस अंधविश्‍वास के कथित रूप से शिकार बने। इस तरह की मान्यता के कारण दूसरे मुख्यमंत्रियों ने अशोक नगर जिला मुख्यालय की यात्रा करने से परहेज किया। यहां तक कि पिछले 12 साल के कार्यकाल के दौरान शिवराज सिंह चौहान भी अशोक नगर जिला मुख्यालय नहीं गए। हालांकि, उन्‍होंने अब ऐसा करने की घोषणा की है।


Yogi Adityanath


नोएडा में मेट्रो के उद्घाटन समारोह में पहुंचे योगी

गौरतलब है कि पिछले दिनों मेट्रो के उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेने के लिए योगी आदित्यनाथ नोएडा पहुंचे। इसी के साथ उन्‍होंने उस मिथक को तोड़ दिया, जिसमें यह कहा जाता था कि जो भी मुख्‍यमंत्री नोएडा जाता है, उसकी कुर्सी चली जाती है। योगी के इस कदम की प्रधानमंत्री पीएम नरेंद्र मोदी ने भी प्रशंसा की थी। योगी के बाद अब शिवराज भी अशोक नगर से जुडे अंधविश्वास को तोड़ने जा रहे हैं…Next


Read More:

इस घटना ने बदल दी वाजपेयी की जिंदगी, दिलचस्‍प है पत्रकार से राजनेता बनने की कहानी
जेल भी जा चुके हैं विजय रुपाणी, कभी छोड़ना चाहते थे राजनीति!
2017 की वो 9 फिल्‍में, जिन्‍होंने 100 करोड़ क्‍लब में बनाई जगह

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग