blogid : 321 postid : 1379699

ऐसे गोपनीय रखा जाता है बजट, इस खास सेरेमनी के बाद शुरू होती है प्रिंटिंग

Posted On: 14 Jan, 2018 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

757 Posts

457 Comments

इन दिनों देश में जिन मुद्दों की सबसे ज्‍यादा चर्चा है, उनमें आम बजट भी एक है। देश के आम नागरिक से लेकर खास नागरिक तक की नजर इस पर रहती है। बजट के प्रावधानों का असर देश के हर वर्ग के व्‍यक्ति पर पड़ता है। ऐसे में इसे बड़ी सतर्कता और गोपनीयता के साथ तैयार किया जाता है। बजट आने के बाद लोग कई तरह से उसकी समीक्षा करते हैं। बजट किसी भी सरकार का गोपनीय दस्तावेज होता है। आइये आपको बताते हैं कि पेश किए जाने से पहले बजट को किस तरह गोपनीय और सुरक्षित रखा जाता है।


Arun


हलवा सेरेमनी के बाद शुरू होती है प्रिंटिंग


arun jaitley1


केंद्र सरकार ने बजट की तैयारियां शुरू कर दी हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली की प्री-बजट मीटिंग भी हो रही हैं। माना जा रहा है कि 19-20 जनवरी के बीच हलवा सेरेमनी के साथ ही बजट की प्रिंटिंग शुरू हो जाएगी। बजट में किए गए प्रावधान पेश होने से पहले किसी भी सूरत में सार्वजनिक न हों, इसके लिए पुख्ता इंतजाम किए जाते हैं। दरअसल, बजट प्रिंटिंग की तैयारी हलवा सेरेमनी के साथ शुरू होती है। वित्त मंत्री हलवा सेरेमनी में भाग लेते हैं। यह हलवा उन 100 अधिकारियों में बांटा जाता है, जो इस सेरेमनी के अगले एक से दो हफ्ते तक के लिए एक बिल्डिंग में बंद हो जाएंगे।


मंत्रालय के निजी प्रेस में होती है छपाई


arun jaitley budget


खासबात यह है कि बजट प्रिंटिंग में शामिल होने वाले अधिकारियों में ज्‍यादातर अधिकारी अपनी इच्‍छा से इसमें शामिल होते हैं। ये सभी करीब दो हफ्ते तक नई दिल्ली के नॉर्थ ब्लॉक में बंद होते हैं। बजट वित्त मंत्रालय के निजी प्रेस में छपता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बजट प्रिंटिंग के दौरान इन अधिकारियों के पास एक बेसिक फोन ही रहता है। इस फोन से भी वे किसी को कॉल नहीं कर सकते, सिर्फ कॉल रिसीव कर सकते हैं।


सुरक्षा व्‍यवस्‍था रहती है सख्‍त


arun jaitley budget1


खबरों की मानें, तो इस दौरान नॉर्थ ब्लॉक के आसपास कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए जाते हैं। पूरे क्षेत्र में आसपास पुलिस तैनात रहती है, ताकि बजट की गोपनीयता किसी भी तरह भंग न हो। अधिकारियों के भोजन-पानी आदि की व्यवस्था उसी इमारत में की जाती है। जब वित्त मंत्री बजट पेश कर लेते हैं, उसके बाद ही सभी अधिकारी बाहर निकलते हैं। जब तक बजट पेश होता है, तब तक वे अधिकारी बिल्डिंग से बाहर नहीं आते…Next


Read More:

अमरीश पुरी के वो 10 किरदार, जो हमेशा रहेंगे यादगार
TV के इन 5 चाइल्ड आर्टिस्‍ट की कमाई है जबरदस्‍त, एक एपिसोड की फीस है इतनी ज्‍यादा!
राहुल द्रविड़ के वो 7 बड़े कारनामे, जो उन्‍हें बनाते हैं महान बल्‍लेबाज

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग