blogid : 321 postid : 1390071

विधानसभा चुनाव 2018: कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में इन नेताओं का नाम टॉप पर, इन वजहों जनता के बीच हुए पॉपुलर

Posted On: 4 Dec, 2018 Politics में

Pratima Jaiswal

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

844 Posts

457 Comments

जनता किसी नेता को वोट देगी या नहीं, इस पर सटीक तौर पर तो कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन चुनाव से पहले रैलियों और भाषण सभा में जनता की भीड़ देखकर कुछ अंदाजा जरूर लगाया जा सकता है। ऐसे में अपने भाषण में जनता को इकट्ठा करना भी नेता की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। साफ तौर पर देखा जाए, तो प्रचार किसी भी पार्टी के लिए बहुत मायने रखता है और स्टार प्रचारक के रूप में किसी नेता की पार्टी में एक अलग ही पैठ होती है।
बात करें, कांग्रेस पार्टी के स्टार प्रचारकों की, तो ऐसे नेताओं की तादाद कम ही रह गई है, जो पार्टी के लिए स्टार प्रचारक से कम नहीं है और जनता के बीच खासे पॉपुलर है।

 

फाइल फोटो

 

राहुल गांधी के अलावा नवजोत सिंह सिद्धू की बड़ी डिमांड
हर राज्य में कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है, जिसमें राहुल समेत 50 नेता शामिल हैं। लेकिन दिलचस्प बात है कि, कांग्रेस के बड़े दिग्गज नेताओं से ज़्यादा डिमांड सिद्धू की है। छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान की तस्वीर भी कुछ ऐसी ही है।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में बड़े पैमाने पर प्रचार में जुटे रहे हैं। राहुल अपने बिजी शेड्यूल की वजह से हर जगह नहीं पहुंच सकते। लिहाजा पार्टी के दूसरे लोकप्रिय नेताओं को प्रचार के लिए भेजा जा रहा है। इस लिस्ट में राहुल गांधी और राज्य के बड़े नेताओं के बाद सिद्धू की मांग सबसे ज़्यादा है। अपनी बेहतरीन संवाद शैली के लिए फेमस सिद्धू के भाषण वोटरों के बीच काफी लोकप्रिय हैं।

 

 

 

 

दूसरे नम्बर पर हैं राज बब्बर
कांग्रेस की ओर से अगर भीड़ जुटाने की बात की जाए तो इस सूची में क्रिकेटर से पॉलिटिशियन बने सिद्धू के बाद दूसरा नंबर किसी नेता का नहीं बल्कि फिल्म जगत से राजनीति में आए राज बब्बर का है।

 

सिंधिया भी जनता के बीच पॉपुलर
केंद्रीय नेताओं में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी डिमांड में हैं, लेकिन मध्य प्रदेश में अहम चेहरा होने के चलते वो अपने ही राज्य में देर तक उलझे रहे। एमपी में मतदान के बाद सिंधिया जैसे ही फ्री हुए तो राजस्थान का रुख कर लिया उनकी भी जबरदस्त डिमांड चल रही है।

 

 

 

आरपीएन सिंह का जलवा
छत्तीसगढ़ में हाथ में गंगाजल लेकर 10 दिन में किसान कर्ज माफ करने की सौगंध खाने वाले आरपीएन सिंह भी छत्तीसगढ़ के बाद अब राजस्थान में भी डिमांड पर हैं। राजपरिवार से आने वाले आरपीएन राजस्थान में राजघरानों में खासा दखल रखते हैं, इसलिए उनका भी खासा इस्तेमाल हो रहा है…Next

 

 

Read More :

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव : वोटिंग के बाद कुछ ऐसे बीता नेताओं का दिन, किसी ने बनाई जलेबी तो किसी की डोसा-सांभर पार्टी

मध्यप्रदेश चुनाव : चुनावी अखाड़े में आमने-सामने खड़े रिश्तेदार, कहीं चाचा-भतीजे तो कहीं समधी में टक्कर

इन घटनाओं के लिए हमेशा याद रखे जाएंगे वीपी सिंह, ऐसे गिरी थी इनकी सरकार

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग