blogid : 321 postid : 1390796

मार्शल आर्ट में ब्लैक बेल्ट होल्डर हैं राहुल गांधी, राजनीति से अलग यह भी हैं उनकी खास बातें

Posted On: 19 Jun, 2019 Politics में

Pratima Jaiswal

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

960 Posts

457 Comments

कभी वो अपने भाषणों की वजह से सुर्खियों में रहते हैं तो कभी उनका कोई बयान चर्चा का विषय बन जाता है। राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष होने के अलावा कई दूसरी वजहों से भी सुर्खियां बटोरते हुए भी नजर आते हैं। राजनीति में राहुल के बारे में आप काफी खबरें पढ़ते हैं लेकिन इससे अलग उनकी जिंदगी से और भी कई पहलू जुड़े हुए हैं। आज उनका जन्मदिन है, आइए एक नजर उनकी खास बातों पर-

 

 

 

अकीडो (Aikido) में ब्लैक बेल्ट
बहुत कम लोगों को पता है कि राहुल गांधी मार्शल आर्ट अकीडो में ब्‍लैक बेल्‍ट होल्डर हैं। इस बात का खुलासा कोई एक साल पहले तब हुआ जब बॉक्सर विजेंदर कुमार ने राहुल गांधी से उनसे खेलों में रुचि के बारे में पूछा था, तब उन्‍होंने बताया था कि उन्हें अकीडो (Aikido) में ब्लैक बेल्ट हासिल है। उसके बाद कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी सोशल मीडिया पर उनकी अकीडो वाली तस्वीरें जारी की गई थीं। बता दें कि अकीडो जापानी मार्शल आर्ट है, वैसे राहुल गांधी को बैडमिंटन खेलने में भी दिलचस्पी है।

 

 

राहुल गांधी ने ब्रिटेन की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से डेवलपमेंट स्टडीज में एमफिल किया है, उन्होंने अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई की है। 2004 में जब पहली बार अमेठी से चुनावी मैदान में उतरे तो अपने हलफनामे में पेशे के कॉलम में ‘किसान’ लिखा, हालांकि 2009 में इसको बदलकर ‘स्ट्रैटजिक कंसल्टेंट’ लिख दिया।

 

 

दुनिया की नजरों में फिट दिखने वाले राहुल को स्टीम मोमोज बेहद पंसद है और कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार बताया था कि राहुल को स्वामी विवेकानंद की किताबें पढ़ना अच्छा लगता है।

 

 

राहुल गांधी भले ही मीडिया के सामने इस बात को कभी नहीं माना हो, लेकिन निर्भया की मां ने कहा था कि राहुल की वजह से उनका परिवार आज यहां है। दरअसल, निर्भया के भाई को राहुल ने ही हौसला दिया था कि वो पायलट बने और निर्भया के भाई से राहुल अक्सर बातें करते थे और उनका हौसला बढ़ाते थे, यही वजह है कि आज निर्भया का भाई पायलट है।

 

 

2004 में लड़ा अपना पहला चुनाव

राहुल गांधी के सियासी जीवन की शुरुआत भी अचानक ही हुई, वे साल 2003 में कांग्रेस की बैठकों और सार्वजनिक समारोहों में नजर आए। एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट श्रृंखला देखने के लिए एक सद्भावना यात्रा पर वह अपनी बहन प्रियंका गांधी के साथ पाकिस्तान भी गए। इसके बाद जनवरी 2004 में उन्होंने अपने पिता के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र अमेठी का दौरा किया, तो उनके सियासत में आने की चर्चा शुरू हो गई।

 

 

मार्च 2004 में लोकसभा चुनाव का ऐलान हुआ, तो राहुल गांधी ने सियासत में आने का ऐलान कर दिया। उन्होंने अपने पिता के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ा। राहुल ने अपने नजदीकी प्रतिद्वंदी को एक लाख वोटों से हराकर शानदार जीत हासिल की थी।…Next

 

Read More :

मोदी सरकार के इस फैसले से खुश हुए हार्दिक पटेल, 2019 लोकसभा चुनाव में उतर सकते हैं मैदान में

कभी टीवी शो में ऑडियन्स पर बरसीं तो कभी कार्टूनिस्ट को कराया गिरफ्तार, ममता बनर्जी का विवादों से रहा है पुराना नाता

बीजेपी में शामिल हुई ईशा कोप्पिकर, राजनीति में ये अभिनेत्रियां भी ले चुकी हैं एंट्री

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग