blogid : 321 postid : 1390335

चुनावी पोस्टर में प्रियंका गांधी को बनाया महिषासुर, नेताओं के ये विवादित पोस्टर भी बटोर चुके हैं सुर्खियां

Posted On: 5 Feb, 2019 Politics में

Pratima Jaiswal

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

961 Posts

457 Comments

प्रियंका गांधी को कांग्रेस महासचिव बनाए जाने के बाद से एक तरफ उनपर जुबानी हमले तेज हो गए। वहीं, सोशल मीडिया पर भी कई लोग उनपर अश्लील टिप्पणी करते दिख रहे हैं। अब ऐसी खबर आ रही है जिससे राजनीति का स्तर गिरता हुआ दिखता है। प्रियंका गांधी वाड्रा के कांग्रेस पार्टी की महासचिव के रूप में सक्रिय राजनीति में उतरने की घोषणा के दो सप्ताह के भीतर ही उत्तर प्रदेश में चल रहा पोस्टर गेम नए स्तर पर पहुंच गया है, जिसके तहत ताज़ातरीन पोस्टर में उन्हें ‘महिषासुर’ के रूप में दिखाया गया है, जिसका वध देवी दुर्गा ने किया था।

 

 

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में लगाए गए इन पोस्टरों में बीजेपी नेता और कांग्रेस नेता की नामराशि प्रियंका रावत का चेहरा देवी दुर्गा के चेहरे पर चिपका दिया गया है, और वह राक्षस महिषासुर (जिस पर प्रियंका गांधी वाड्रा का चेहरा चिपकाया गया है) का वध कर रही हैं। राजनीति में ये पहला मौका नहीं है, जब कोई विवादित पोस्टर सुर्खियों में आया है बल्कि इससे पहले भी राजनीति का स्तर गिर चुका है।

 

राजीव गांधी को दिखाया ‘मॉब लिंचिंग का फादर

 

2018 में बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने 1984 के सिख विरोधी दंगों पर विवादित पोस्टर जारी किया था। बग्गा ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को ‘मॉब लिंचिंग का फादर ‘ बताया था। बग्गा के इस कदम के बाद उनकी खूब आलोचना हुई थी।

 

पीएम मोदी और अमित शाह को बताया ‘रियल ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’

 


2018 में हबीस अहमद नाम के कांग्रेस नेता ने एक पोस्टर जारी किया था। इस पोस्टर में पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष और वित्तमंत्री को ‘रियल ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान’ बताया गया था। पोस्टर में पीएम के साथ ही अरूण जेटली और अमित शाह की फोटो भी लगाई गई थी।

 

मायावती संग अन्य नेताओं के विवादित पोस्टर

 

2016 में अम्बेडकर जयंती के मौके पर एक झांकी निकाली गई थी। इस झांकी में बसपा सुप्रीमो मायावती को उनकी पार्टी के लोगो ने मां काली का रूप दे दिया जिसके हाथ में मानव संसाधन मंत्री स्मृ ति ईरानी का कटा सर है और मोहन भगवत चरणों में पड़े हुए हैं। जबकि पीएम नरेंद्र मोदी को उनके सामने हाथ जोड़ते हुए दिखाया गया था। इस पोस्टर के सामने आते ही रैली रूकवाकर पोस्टर को जब्त कर लिया गया था।

 

राहुल गांधी को राम दिखाया जाना

 

हाल ही में कांग़्रेस द्वारा बिहार में आयोजित ‘जन आकांक्षा रैली’ को सफल बनाने के लिए राहुल गांधी के विवादित पोस्टर जगह-जगह चिपका दिए गए। इस पोस्टर में राहुल गांधी को भगवान श्रीराम की वेशभूषा में दिखाया गया था।

 

केशव प्रकाश मौर्या का कृष्ण अवतार!

2016 में बीजेपी नेता केशव प्रसाद मौर्या की ताजपोशी के बाद उनके स्वागत की तैयारी में चिपकाए गए पोस्टर ने एक नए विवाद को जन्म दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में लगाए गए इन पोस्टर्स में केशव मौर्य को भगवान कृष्ण का अवतार दिखाया गया था। वहीं, विवादित पोस्टर में उत्तर प्रदेश को द्रौपदी के रूप में दिखाया गया है, जबकि यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी प्रमुख मायावती, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, राज्यमंत्री आजम खां और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी को कौरवों की तरह ‘यूपी’ का चीरहरण करते दिखाया गया था। वाराणसी में यह पोस्टर बीजेपी के स्थानीय नेता रुपेश पांडे के सौजन्य से लगाए थे…Next

 

Read More :

राजस्थान की कमान संभालेंगे अशोक गहलोत, 1980 में पहली बार बने थे सांसद : जानें खास बातें

2019 में पीएम बनना चाहेंगे आप? इस सवाल का नितिन गडकरी ने मीडिया को दिया ये जवाब

कमलनाथ को अपना तीसरा बेटा कहती थीं इंदिरा गांधी, जानें एमपी के नए मुख्यमंत्री से जुड़े किस्से

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग