blogid : 321 postid : 679

Jaya Prada - अभिनय व राजनीति की सफल शख्सियत जया प्रदा

Posted On: 4 Nov, 2011 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

961 Posts

457 Comments

jaya pradaजया प्रदा का जीवन परिचय

तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री से बॉलिवुड में प्रवेश करने वाली फिल्म अभिनेत्री जया प्रदा ना सिर्फ अभिनय के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाने में सफल रहीं बल्कि राजनीति के क्षेत्र में भी एक अच्छी खिलाड़ी मानी जाती हैं. समाजवादी पार्टी की पूर्व सदस्या और तीन सौ से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुकी जया प्रदा का जन्म 3 अप्रैल, 1962 को राजामुंद्री, आन्ध्र प्रदेश के एक मध्य वर्गीय परिवार में हुआ था. इनके पिता कृष्ण राव तेलुगू फिल्मों के फाइनेंसर थे. जया प्रदा की मां नीलावनी ने उन्हें छोटी उम्र में नृत्य प्रशिक्षण दिलवाना प्रारंभ कर दिया था. वर्ष 1986 में जया प्रदा ने फिल्म निर्माता श्रीकांत नहाटा से विवाह किया, वह नहाटा की दूसरी पत्नी थीं. इन दोनों का विवाह भी बहुत विवादास्पद रहा, क्योंकि श्रीकांत नहाटा ने अपनी पहली पत्नी को तलाक दिए बिना ही जया प्रदा से विवाह रचा लिया था. हालांकि नहाटा की पहली पत्नी ने आपसी सहमति के बाद ही जया प्रदा और श्रीकांत के रिश्ते को स्वीकृति दी थी.


जया प्रदा का फिल्मी सफर

चौदह वर्ष की उम्र में एक स्कूल फंक्शन के दौरान तेलूगू फिल्म निर्माता ने जया प्रदा के नृत्य को देखा. जया प्रदा के नृत्य से वह इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने अपनी आगामी फिल्म भूमिकोसम में उन्हें तीन मिनट के नृत्य का प्रस्ताव दे दिया. इस नृत्य के लिए जया प्रदा को 10 रूपए दिए गए. यहीं से जया प्रदा के फिल्मी सफर की शुरूआत हुई. वर्ष 1976 तक वह एक प्रतिष्ठित अदाकारा के रूप में अपनी पहचान बना चुकी थीं. कई बड़े निर्देशकों और निर्माताओं के साथ काम कर चुकी जया प्रदा की पहली रंगीन फिल्म वर्ष 1976 में प्रदर्शित हुई तेलुगू भाषा की फिल्म सिरी सिरी मुव्वा थी. अदावी रमुडु फिल्म की सफलता ने उन्हें एक स्टार का दर्जा दिलवा दिया. जया प्रदा कमल हसन और रजनीकांत जैसे मशहूर अभिनेताओं के साथ भी काम कर चुकी हैं. वर्ष 1979 में प्रदर्शित हुई फिल्म सरगम जया प्रदा की पहली हिंदी फिल्म थी. इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड भी प्रदान किया गया. कामचोर फिल्म उनकी पहली ऐसी हिन्दी फिल्म थी जिसमें जया प्रदा ने बिना किसी परेशानी के हिंदी भाषा में संवाद बोले थे. अमिताभ बच्चन और जितेंद्र जैसे बड़े अभिनेताओं के साथ जया प्रदा की जोड़ी बहुत लोकप्रिय हुई. वर्ष 2002 में जया प्रदा आधार फिल्म में मेहमान भूमिका भी निभा चुकी हैं. उन्हें दक्षिण भारतीय फिल्मों में लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है. फिल्मों में अभिनय करने के अलावा जया प्रदा चेन्नई में जया प्रदा थियेटर की भी मालकिन हैं.


जया प्रदा का राजनैतिक जीवन

सह-कलाकार और आन्ध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन.टी. रामा राव के कहने पर जया प्रदा ने 1994 में तेलुगू देशम पार्टी की सदस्यता के साथ राजनीति में प्रदार्पण किया. एन.टी. रामा राव से संबंध तोड़ने के बाद जया प्रदा चंद्रबाबू नायडू के साथ जुड़ गईं. वर्ष 1996 में जया प्रदा आंध्र प्रदेश से राज्य सभा की सदस्या चुनी गईं. पार्टी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू से कुछ मनमुटाव पैदा होने के बाद जया प्रदा तेलुगू देशम पार्टी छोड़ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गईं. जया प्रदा वर्ष 2004 में हुए आम चुनावों में उत्तर प्रदेश के रामपुर निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कर चुकी हैं. 2009 में हुए लोकसभा चुनावों में इसी निर्वाचन क्षेत्र से वह दूसरी बार भी चुनी गईं.


वर्ष 2004 में चुनावी प्रचार के दौरान जया प्रदा पर महिलाओं को सामान वितरित करने का आरोप लगाया गया. इतना ही नहीं 2009 में चुनावों के दौरान जया प्रदा ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान पर उनकी अश्लील तस्वीरें सार्वजनिक करने का भी आरोप लगाया.


2 फरवरी, 2010 को जया प्रदा को समाजवादी पार्टी से निकाल दिया गया. उन पर सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने और अपने कृत्यों से पार्टी की छवि खराब करने जैसे आरोप लगाए गए.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग