blogid : 321 postid : 809696

भारत के इस सुपरहीरो की ट्विटर पर मची है धूम

Posted On: 28 Nov, 2014 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

774 Posts

457 Comments

बचपन से हम सपाइडरमैन, सुपरमैन जैसे सुपरहिरोज को फिल्मों में देखते आए हैं. फिर आया भारतीय सुपरहीरो शक्तिमान उसके बाद कृष पर ये सुपरहीरो भी काफी हदतक विदेशी सुपरहीरोज की नकल ही थे. इन सुपरहीरोज के साथ दिक्कत यह थी की ये सिर्फ पर्दे पर या कॉमिक्स में करतब दिखाते हैं पर ट्विटर पर एक ऐसे खालिस भारतीय सुपरहीरो की धूम मची हुई है जो हम आप की तरह आम आदमी है और उसके करतब पर्दे पर नहीं बल्कि असल जिंदगी में दिखाई देते हैं, जिसका एकमात्र मकसद देश को भ्रष्टचार मुक्त कराना है. इस सुपरमैन का नाम है ‘मफलरमैन’.


kejriwal


जी हां आपने सही पहचाना यह मफलरमैन कोई और नहीं बल्कि आम-आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल हैं जो पिछले साल दिल्ली विधानसभा चुनाव और अपने मुख्यमंत्री काल में ज्यादातर समय मफलर बांधे दिखाई देते थे. जल्द ही मफलर केजरीवाल की पहचान बन गया और केजरीवाल सर्दियों में गले में बांधे जाने वाले इस ऊनी वस्त्र का पहचान बन गए. वैसे केजरीवाल का मफलर ही नहीं बल्कि उनका इसे बांधने का तरीका भी काफी लोकप्रिय हुआ.


लोकसभा चुनावों में केजरीवाल की पार्टी कुछ खास कमाल नहीं कर सकी और जल्द ही उनकी पार्टी के नेता और समर्थक इधर-उधर छिटकने लगे. केजरीवाल की भ्रष्टाचार विरोधी तेवर की धार कुछ कुंद पड़ने लगी. अचानक लोगों का ध्यान गया की केजरीवाल काफी दिनों से मफलर बांधना छोड़ चुकें हैं. लाजमी भी था क्योंकि तबतक गर्मियों के दिन आ गए थे पर उनके समर्थक और विरोधियों के जेहन से केजरीवाल की मफलरमैन वाला गेटअप गायब नहीं हुआ. समर्थक और विरोधी दोनों को मफलर के बिना केजरीवाल कुछ अधूरे से लगते हैं. सड़क पर लेटे रजाई से बाहर मुहं निकाले मफलर बांधे केजरीवाल की तस्वीर जहां उनके समर्थकों में उत्साह भरती है वहीं विरोधियों की रातों की नींद उड़ाती है.


Read: क्या इस कानून के बाद बढ़ेगी पर्यटकों की संख्या…जानिए क्यों नहीं आना चाहते पर्यटक भारत में


kejriwal2


खैर सर्दियों का मौसम फिर से आ गया है पर मफलर की बिक्री जोर नहीं पकड़ पा रही है. कारण यह है कि मफलर का सबसे बड़ा ब्रांड अंबेसडर ने अबतक मफलर बांधना शुरू नहीं किया है. ऊन उद्योग से जुड़े लोग त्राही-त्राही कर रहें हैं. सोशल मीडिया पर यह खबर वायरल हो रही है कि प्रधानमंत्री मोदी से ऊन उद्योग से जुड़े उद्योगपतियों ने ये दरख्वास्त की है कि केजरीवाल को फिर से मफलरमैन के अवतार में आने के लिए मनाया जाए ताकि मफलर की बिक्री को बढ़ाकर ऊन उद्योग को बचाया जा सके.


दिल्ली विधानसभा भंग हो चुकी है और देश की राजधानी फिर से चुनावों के लिए तैयार बैठी है. केजरीवाल और उनकी पार्टी फिर से प्रचार अभियान में लगी हुई है, पर लोगों को जिस एक बात का इंतजार है वह यह कि केजरीवाल फिर कब मफलर बांधेंगे. ट्विटर पर पिछले 9 दिनों से #mufflerman ट्रेंड हो रहा है.


Read: उधर जयललिता को हुई जेल और इधर बन रही है फिल्म ‘अम्मा’

kejri asthma


जहां उनके विरोधी इस हैशटैग से उनकी खिल्ली उड़ा रहें हैं वहीं उनके समर्थक इसी हैशटैग को केजरीवाल और आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर रहें हैं. यूट्यूब पर मफलरमैन के कई रोचक वीडियो वायरल हो रहें हैं जहां यह सुपरहीरो गले में मफलर बांधे और हाथों में झाड़ू लिए भ्रष्टाचारियों की नींद उड़ा रहा है. यही नहीं पिछले एक साल से फेसबुक और ट्वीटर पर मफलरमैन के कारनामों के चुटकले चल रहें हैं.


कहना गलत न होगा कि इस सर्द मौसम में मफलरमैन का इंतजार सियासी गर्मी बढ़ा रहा है. लोगों को तो यहां तक कहते सुना जा रहा है कि जबतक मफलरमैन वापस नहीं आ जाता वे विश्वास नहीं कर सकते कि सर्दियां आ गई है. Next…


Read:

शीला दीक्षित: इस बार आसान नहीं है सत्ता पर काबिज होना


जिन्दा लोगों को पत्थर बना दिया, जानिए कैसे बनी एक आर्टिस्ट की ये अद्भुत पेंटिंग


इस तारीख को अंतिम बार नरेंद्र मोदी ने की थी जशोदा बेन से बात

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग