blogid : 321 postid : 1341588

परचून की दुकान चलाते थे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पिता, 6 किलोमीटर चलकर जाते थे स्कूल

Posted On: 21 Jul, 2017 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

772 Posts

457 Comments

रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में 25 जुलाई को संसद के सेंट्रल हॉल में शपथ लेंगे. राष्ट्रपति चुनावों में उन्होंने यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार को शिकस्त दी है. कोविंद को करीब 66 फीसदी वोट मिले जबकि मीरा कुमार को 33 फीसदी वोट मिले. इतने बड़े पद पर काबिज होने वाले रामनाथ कोविंद का जीवन पहले कैसा था, आइए इसपर एक नजर डालते हैं.



cover president




दलित परिवार में हुआ था जन्म

बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में चुन लिए गए हैं. कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को कानपुर के डेरापुर में हुआ था. उनका जन्म एक बहुत ही साधारण परिवार में हुआ. उस वक्त देश अंग्रेजों का गुलाम था. उस समय दलित होना किसी अपराध से कम न था. कोविंद का बचपन गरीबी में गुजरा. पर इन सभी मुसीबतों को भेदते हुए कोविंद आज उस मुकाम पर खड़े हैं, जहां पर आने का सपना शायद उन्होंने खुद नहीं देखा होगा.


Ramnath Kovind



परचून की दुकान चलाते थे पिता

रामनाथ कोविंद के पिता मैकू लाल एक व्यापारी थे. वो परचून की दुकान चलाते थे. हालांकि, परौख गांव में सिर्फ चार दलित परिवार थे, मगर कोविंद के पिता ‘गांव के चौधरी’ कहलाते थे. परचून की दुकान चलाने के अलावा कोविंद के पिता एक कपड़ा दुकान के मालिक भी थे. इसके अलावा वो वैद्य भी थे. कोविंद के परिवार पिता के अलावा मां कलावती थी. इनके अलावा कोविंद के चार भाई और तीन बहनें हैं.



ram nath



6 किलोमीटर पैदल चलकर स्कूल जाते थे कोविंद

कोविंद के बारे में बताया जाता है कि वो 6 किलोमीटर पैदल चलकर स्कूल जाते थे और फिर पैदल ही 6 किलोमीटर वापस आते थे. उन्होंने वो वक्त देखा है जब देश अंग्रेजों का गुलाम था, उस समय दलित होना किसी अभिशाप से कम नहीं था.



Ram Nath Kovind1



बेहद सामान्य है जीवन

योग के शौकीन रामनाथ कोविंद की पत्नी पत्नी सविता कोविंद रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी हैं. कोविंद के बेटे का नाम प्रशांत है और बेटी का नाम स्वाति है. कोविंद के परिवार में बाकी लोग सामान्य जीवन बिताते हैं. कोविंद के एक भाई मध्य प्रदेश में अकाउंट अफसर के पद से रिटायर हुए हैं. एक और भाई सरकारी स्कूल में टीचर हैं. बाकी अपना कारोबार करते हैं.



president



किराए पर रहते थे कोविंद

रामनाथ का परिवार बेहद सामान्य जीवन गुजारता था. खुद रामनाथ कोविंद ने भी अपने राजनीतिक जीवन से पहले बेहद साधारण अंदाज में जिंदगी व्यतीत की.1993 में परौख गांव से वह कानपुर शहर रहने आए और यहां पर वह कल्याणपुर इलाके के न्यू आजाद नगर में एक प्रोफेसर के घर किराए पर रहे. कोविंद यहां पर 30 रुपया किराया देते थे. करीब 12 साल तक कोविंद का परिवार यहां पर रहा और 2005 में इसी इलाके के दयानंद विहार में अपना मकान बनवा लिया.



Ramnath Kovind2



रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे

फिलहाल, एक परचून की दुकान चलाने वाले का बेटा आज देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर आसीन हो रहा है. रामनाथ कोविंद का पूरा परिवार जश्न में डूबा है. अब रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे…Next




Read More:

रिटायरमेंट के बाद भी रहेगी प्रणब मुखर्जी की ठाट, मिलेगी इतनी सैलेरी और शानदार लाइफस्टाइल

कभी दीवारों पर चुनावी पोस्टर लगाया करते थे वेंकैया नायडू, आज हैं उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

रामनाथ कोविंद या मीरा कुमार जानें कौन करेगा राष्ट्रपति की लग्जरी कार की सवारी, इतने करोड़ है कीमत

रिटायरमेंट के बाद भी रहेगी प्रणब मुखर्जी की ठाट, मिलेगी इतनी सैलेरी और शानदार लाइफस्टाइल
कभी दीवारों पर चुनावी पोस्टर लगाया करते थे वेंकैया नायडू, आज हैं उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार
रामनाथ कोविंद या मीरा कुमार जानें कौन करेगा राष्ट्रपति की लग्जरी कार की सवारी, इतने करोड़ है कीमत

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग