blogid : 321 postid : 1254

घातक होगा उत्तर कोरिया की जिद का अंजाम

Posted On: 9 Apr, 2013 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

992 Posts

457 Comments

तीसरे विश्व युद्ध की संभावनाओं को और बल देते हुए उत्तर कोरिया चौथी बार परमाणु परीक्षण करने की तैयारी कर रहा है. गुप्त सूत्रों के हवाले से आ रही खबरों को सार्वजनिक करते हुए दक्षिण कोरिया का कहना है कि उत्तर कोरिया ने बेहद आक्रामक रूप धारण कर लिया है और विभिन्न चेतावनियों के बाद भी वह परमाणु परीक्षण करने की तैयारी कर रहा है.


Read – मोदी की मंशा देश भर में दंगे फैलाने की है !!


उल्लेखनीय है गत 12 फरवरी, 2013 को उत्तर कोरिया द्वारा तीसरा परमाणु परीक्षण किया गया था. उत्तर कोरिया के इस दुस्साहस के बाद अमेरिका द्वारा उस पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए थे जिसकी वजह से उत्तर कोरिया दुनिया से अलग-थलग पड़ गया था. लेकिन सूत्रों के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार अब उत्तर कोरिया चौथा परमाणु परीक्षण करने के लिए खुद को तैयार कर रहा है.



एक अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार यह कहा जा रहा है कि दक्षिण कोरिया के उच्चपदाधिकारी का कहना है कि उत्तर कोरिया के हेमग्योंग प्रांत में स्थित पंगये-री परमाणु परीक्षण स्थल पर आजकल लोगों का आना जाना तेज हो गया है. वहां हर रोज ढेरों गाड़ियों की आवाजाही देखी जा सकती है. परमाणु परीक्षण स्थल पर आवागमन और अन्य गतिविधियां तेज होने के कारण यह कहा जा सकता है कि उत्तर कोरिया अमेरिका और दक्षिण कोरिया पर दबाव बनाने के लिए या फिर वास्तव में परमाणु परीक्षण के लिए ऐसा कर रहा है.



Read – राहुल को बचाने के लिए मनमोहन की बलि ली जाएगी !!


उत्तर कोरिया के ऐसे आक्रामक रूप ने जहां एक ओर अमेरिका की चिंताएं बढ़ा दी हैं वहीं सहयोगी राष्ट्र चीन की मुश्किलें भी बढ़ा दी हैं. चीन द्वारा जारी अधिसूचना में यह कहा गया है कि उसने अपने नागरिकों को सुरक्षा देने के उपायों पर विचार करना शुरू कर दिया है, वहीं जापान ने भी उत्तर कोरिया को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उत्तर कोरिया की तरफ से मिसाइल हमला किया गया तो जापान उन मिसाइलों को मार गिराएगा.



अंतरराष्ट्रीय समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रही रिपोर्ट वाकई चिंता का विषय बन रही है क्योंकि यह सीधे तौर पर वैश्विक स्तर पर युद्ध की ओर इशारा कर रही है. उल्लेखनीय है कि 16 अप्रैल को दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच एक बैठक होने वाली थी लेकिन आपातकालीन हालातों को देखते हुए उसे भी स्थगित कर दिया गया है. कारण साफ है, दोनों देशों की प्रमुखता बैठक नहीं बल्कि उत्तर कोरिया के खिलाफ रणनीति तैयार करना और नागरिक सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाना है. दक्षिण कोरियाई अधिकारियों ने तो यह भी साफ कर दिया है कि युद्ध की आशंकाओं को देखते हुए राज्य में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया और सैन्य हमले की भी लगभग पूरी तैयारी कर ली गई है. वहीं दूसरी ओर उत्तर कोरिया के साथ बढ़ते तनाव और युद्ध की संभावनाओं के मद्देनजर कैलिफोर्निया में होने वाले अंतरमहाद्विपीय मिसाइल परीक्षण को टाल दिया गया है.


Read – यह कहीं तीसरे विश्व युद्ध की आहट तो नहीं !!


जाहिर सी बात है उत्तर कोरिया की बढ़ती हिमाकत ने विश्व की चिंताओं को बढ़ा दिया है. हालात प्रतिदिन और बिगड़ते जा रहे हैं. उत्तर कोरिया, अमेरिका से मात नहीं खाना चाहता तो वहीं महाशक्ति होने के कारण अमेरिका की साख इस बार दांव पर है. दोनों में से कोई भी झुकने के लिए तैयार नहीं है. अब आगे हालात किस ओर करवट लेते हैं यह वक्त ही बताएगा.



Read

लोकायुक्त मामले ने जाहिर की मोदी की तानाशाही

तो क्या अब मुलायम बनेंगे प्रधानमंत्री !!

श्रीलंकाई तमिलों के मुद्दे पर क्या होनी चाहिए भारतीय रणनीति


Tags: north korea, america, 3rd world war, third world war, North korea and america war, america, china japan, nuclear war, उत्तर कोरिया, तीसर विश्व युद्ध, अमेरिका, परमाणु विश्व युद्ध



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग