blogid : 321 postid : 1389268

जानें कैसे होता है राज्यसभा का चुनाव, किस तरह तय होती है प्रत्याशियों की जीत

Posted On: 22 Mar, 2018 Politics में

Political Blogराजनीतिक नेताओं के व्यक्तित्व-कृतीत्व सहित उनकी उपलब्धियों को दर्शाता ब्लॉग

Politics Blog

992 Posts

457 Comments

23 मार्च को देश के 16 राज्यों की 58 राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने जा रहे हैं और सभी पार्टियां प्रत्याशी के ऐलान में जुटी है। राज्यसभा का सदस्य भी लोकसभा के सदस्य की तरह संसद का अहम सदस्य होता है। राज्यसभा संसद का उच्च सदन होता है, लोकसभा में बिल पास होने के बाद राज्यसभा में भी पास होना आवश्यक है। राज्यसभा बिल पास नहीं होने पर वो कानून नहीं बन पाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं आखिर राज्यसभा के सांसदों का चुनाव कैसे होता है। तो चलिए एक नजर ड़ालते हैं राजसभा पर और कैसे जुना जाता है इसका सदस्य।

 

 

 

 

कितने होते हैं सदस्य

राज्यसभा में कुल 238 सदस्य चुने जाते हैं, जबकि राष्ट्रपति अधिकतम 12 सदस्य नॉमिनेट कर सकते हैं। इनमें से हर 2 साल में एक तिहाई सदस्यों का कार्यकाल खत्म होता है, इसलिए उतनी सीटों के लिए चुनाव होते हैं। राज्यसभा के चुनाव की प्रक्रिया लोकसभा और विधानसभा चुनावों से अलग है, इसके सदस्य का कार्यकाल 6 साल होता है।

 

 

कौन बन सकता है सांसद

सांसद बनने के लिए किसी भी शख्स को भारतीय नागरिक होने के साथ ही 30 साल का होना आवश्यक है। संविधान के अनुच्छेद 102 के अनुसार उम्मीदवार को दिवालिया और कुछ अन्य वर्ग के लोगों को राज्यसभा सदस्य बनने के लिए अयोग्य घोषित किया गया है।

 

 

 

कौन देता है वोट

राज्यसभा सदस्य के चुनाव में लोकसभा चुनाव की तरह आम आदमी वोट नहीं करता है, बल्कि जनता द्वारा चुने गए जन-प्रतिनिधि (विधायक) इन चुनावों में हिस्सा लेते हैं और वहीं वोट भी ड़ालते हैं।

 

 

कैसे होती है गिनती

इसमें हर राज्य के विधायकों की संख्या के आधार पर जीत होती है। राज्यों की कुल विधानसभा सीटों के आधार पर ये तय किया जाता है कि जीतने के लिए कितने वोट की आवश्यकता होगी। उदाहरण के तौर पर राजस्थान में कुल 200 विधायक हैं और अगर यहां 9 सीटों पर राज्यसभा चुनाव है तो कुल 200 सीटों में चुनाव होने वाली सदस्यों की संख्या में एक जोड़कर यानि 9 में एक जोड़कर भाग देते हैं। इसका मतलब 200 भाग 10. उसके बाद उसमें एक जोड़ दिया जाता है, यानि जीत के लिए 21 वोट आवश्यक है।इस चुनाव में हर विधायक प्राथमिकता के आधार पर वोट देता है। इसमें विधायक को बताना होता है कि उम्मीदवारों में पहली पसंद कौन है और फिर दूसरी-तीसरी पसंद कौन है।…Next

 

 

 

Read More:

मायावती ने अखिलेश के सामने रखी ऐसी मांग, जया बच्‍चन के लिए हो सकती है मुश्किल

राज्‍यसभा में रेखा की सीट पर अक्षय कुमार समेत इन सितारों के बीच ‘रेस’!

यूपी में ब्राह्मण कार्ड खेल सकती है कांग्रेस, इन 4 नेताओं के बीच प्रदेश अध्‍यक्ष की रेस!

 

 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग