blogid : 11045 postid : 162

जमाअत इस्लामी हिन्द की

Posted On: 16 Feb, 2013 Others में

http://puneetbisaria.wordpress.com/सोच पुनीत की

डॉ पुनीत बिसारिया

157 Posts

132 Comments

14.02.2013 को जब लोग प्रेम चतुर्दशी मनाने में व्यस्त थे, उस समय ललितपुर शहर में जमाअत इस्लामी हिन्द उ.प्र. पूरब की ललितपुर शाखा ने एक अभिनव आयोजन किया। मोक्ष प्राप्ति क्यों और कैसे? विषय पर जमाअत इस्लामी हिन्द के तत्वावधान में रात 8 बजे से एक विचारगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न धर्मों के धर्मगुरूओं को आमंत्रित कर इस विषय पर उनके विचार आमंत्रित किए गए थे। हिन्दू धर्म से प्रोफेसर भगवतनारायण शर्मा, मुस्लिम धर्म से डॉ. फरहत हुसैन, सिक्ख धर्म से ज्ञानी मोहकम सिंह, जैन धर्म से पण्डित जीवनलाल शास्त्री दर्शनाचार्य तथा ईसाई धर्म से फादर शिबू अब्राहम ने मोक्ष के विषय में विभिन्न धर्मों में अभिव्यक्त दृष्टिकोण को अभिव्यक्त किया। मैंने अपनी अल्प बुद्धि से जो कुछ समझा उसका सार यही है कि सभी धर्म मानवता की सेवा, सत्कर्म और ईश्वर के प्रति अगाध भक्ति को ही मुक्ति या मोक्ष का मार्ग मानते हैं। मोह और वांछाओं से मुक्ति तथा कर्मनिष्ठा से ही मोक्ष सम्भव है। लगभग तीन घण्टे तक चले इस कार्यक्रम से धर्मों को एक दूसरे के निकट लाने में सहायता तो मिलेगी ही, साथ ही समाज में सर्वधर्मसमभाव और सौहार्द्र की भावना भी बलवती होगी। कार्यक्रम का सफल संचालन मशहूर शायर ज़हीर ललितपुरी ने किया। इस सुन्दर और सार्थक पहल के लिए जमाअत इस्लामी हिन्द ललितपुर के हाजी मुहम्मद नईम खान, मिर्जा अशफाक बेग, अजमल खां मंसूरी, मुहम्मद खलील, मुहम्मद इलियास, मुहम्मद तारिक, मुख्तार खां, इरफान, रियाज खां मंसूरी, मुहम्मद जुबेर खां एवं जमाअत इस्लामी हिन्द ललितपुर के सभी कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं। ज्ञात हुआ है कि जमाअत इस्लामी हिंद उ.प्र. पूरब शाखा समूचे पूर्वी उत्तर प्रदेश में ऐसे आयोजन 10 से 17 फरवरी के बीच कर रही है। ऐसे आयोजन निश्चय ही देश की जनता के बीच विभिन्न धर्मों को समझने हेतु सेतु का कार्य करते हैं। जमाअत इस्लामी हिन्द भविष्य में भी ऐसे ही सकारात्मक आयोजन करता रहेगा, ऐसी आशा है।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग