blogid : 23471 postid : 1135255

तनहा तनहा इन राहों पे

Posted On: 28 Jan, 2016 Others में

chand ka anchalJust another Jagranjunction Blogs weblog

rahuluniyal

23 Posts

7 Comments

तनहा तनहा इन राहों पे  कोई नहीं आया बुलाने मुझे,

उस काफिले से छूटा तो में भी था.

जब रूठे सब तो मेने मनाया मुझे नहीं मनाया किसी ने,

एक जरा सी बात पे ही सही, पर रूठा तो में भी था.

शीशा टुटा आवाज आई, सबने कई बाते बनाई,

मेरा हाल न पूछा किसी ने,

दिल से ही सही, पर टुटा  तो में भी  था.

उस काफिले से छूटा तो  में भी था.

written by- Rahul Uniyal

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग