blogid : 20534 postid : 841540

जयपुर ने जाना अफ्रीकन लिटरेचर

Posted On: 24 Jan, 2015 Others में

Rajasthan Hindi NewsRead Online Rajasthan Hindi News

Nandini

39 Posts

0 Comment

यूं तो लोगों ने साउथ अफ्रीका के बारे में युद्ध, गरीबी, अकाल के सन्दर्भ में खबरें पढ़ी होंगी, लेकिन जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान लोगों को वहां के साहित्य को जानने का मौका मिला।


पूरे सेशन के दौरान लेखकों ने साउथ अफ्रीकन लिटरेचर व लेखनी पर विस्तार से चर्चा की। मौजूद नाइजीरियन लेखक हेलोन हबीला ने बताया कि नाइजीरिया में लेखन के बहुत से प्रारूप हैं और वहां के लेखक अलगअलग स्तर पर स्थानीय रूप से लेखन करते हैं।

jpr 5RPJHONL025240120154Z38Z31 AM

इसी प्रकार लेखक हिशाम मटर ने बताया कि वह एक लीबियन राइटर हैं। उन्होंने एक वाकया याद करते हुए बताया कि कैसे लीबिया में एक लिटरेचर फेस्टिवल में आने वाले लोगों को दस साल की सजा मिली थी, क्योंकि साहित्य उनके हिसाब से सभ्यता और संस्कृति के खिलाफ था।

लेखक दामन गाल्गुत ने कहा कि बचपन में उन्हें हुई बीमारी ने पूरे परिवार को प्रभावित किया था।

5.00 pरू – 6.00pद्व

रीडिंग अफ्रीका, राइटिंग अफ्रीका

दामन गाल्गुत, मार्क गेविस्सेर, हिशाम मटर, हेलोन हबीला और क्वासि क्वाटेंग की चर्चाऔर पढ़े

Tags:     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग