blogid : 1662 postid : 1574

“महिलाओं का रिमोट कंट्रोल”

Posted On: 8 Jun, 2012 Others में

RAJ KAMAL - कांतिलाल गोडबोले फ्राम किशनगंजसोचो ज़रा हट के

Rajkamal Sharma

203 Posts

5655 Comments

“ऊ लहंगा उठावे रिमोट से” भोजपुरी गाने का यह मुखड़ा ही नहीं बल्कि पूरे का पूरा गाना और इसकी कोरिओग्राफी भी मुझको बहुत ही अच्छी लगती  है ….. यह गाना कल्पना के साथ -२ मजाक का भी पुट लिए हुए है ….. लेकिन हकीकत में भी हमारे आसपास की जिन्दगी में यही सब कुछ तो हो रहा है …..

जब से नारी जाति में शिक्षा के प्रति जागरूकता आई है और उसने अपने मुबारक कदम अपनी घर की दहलीज से बाहर  निकाले है उसके बाद से ही उसका ज्यादातर रिमोट पुरुषों ने अपने हाथ में रखने की कोशिश की है तो किन्ही विशेष परिस्थितियों में उसने खुद ही पुरुषों के हाथ में चाहे और अनचाहे , अनजाने में ही अपना रिमोट सिस्टम सौंप दिया है …..

अपने नम्बर बढ़वाने + पास करवाने की ऐवज में  कभी भूले भटके वोह खुद ही , और  ज्यादातर मामलों में जबरन उसका रिमोट कलियुगी शिक्षकों द्वारा अपने हाथ में ले लिया जाता है ….. उसके बाद नौकरी का नियुक्ति पत्र पाने + तरक्की पाने के लिए भी महिलाए अपना रिमोट पुरुषों के हाथ में स्वेच्छा से देती रही है ….. रिशेप्शनिस्ट तथा पर्सनल सेक्रटरी की पोस्ट पर कार्यरत महिलाओं से तो यह आशा हर हाल में की ही जाती है + रखी जाती है की वोह अपने बॉस के रंग में रंग कर उसकी  चहेती बन कर दिखलाये …..

महिलाएं किसी भी क्षेत्र में चली जाए बस उनसे एक ही आशा रखी जाती  है और बस एक ही अपेक्षा की जाती  है ….. महिलाए किसी भी जगह पर सुरक्षित नहीं है यहाँ तक की धार्मिक स्थलों पर भी धर्म के ठेकेदारों ने धार्मिक स्थलो की मान मर्यादा को बार बार भंग किया है तथा वहां पर भी औरतों की इज्जत को तार तार किया है ….. दुःख की बात है की किसी भी धर्म के धार्मिक स्थान इन कामो से अछूते  नहीं है , और आजकल के आधुनिक ढ़ोंगी और पाखण्डी बाबाओं के तो कहने ही क्या ?….. शिकायत मिलने पर इनके डेरों से अक्सर ही छापामारी में अश्लील सामग्री  के साथ साथ लड़किया मिल जाती  है जिनकी आत्मा तक का कंट्रोल स्वामी जी के हाथ में पकडे अद्रश्य रिमोट में समाया होता है …..

और अगर हम राजनीति की बात करे तो इसके बारे में एक बड़ी ही मशहूर कहावत है की “लुच्चा लफंगा चौधरी और बदनाम औरत प्रधान” ….. इस क्षेत्र में कोई विरली ही महिला होगी जिसका की रिमोट किसी नेता के हाथ में ना हो …. आप सोचते होंगे की सब कुछ पता होते हुए भी औरते इस क्षेत्र में अपनी किस्मत क्यों आजमाती है ….. इस फील्ड  में पैसा + शोहरत और सत्ता का आकर्षण इनको अपनी तरफ खींचता है ….. लेकिन अपने अकेली के बलबूते भी शायद ही किसी ने राजनीती में प्रवेश किया हो + पैर रख कर अपना मुकाम बनाया हो ममता दीदी की तरह ….. उनको शुरुआत में या फिर बाद में किसी ना किसी पुरुष का सहारा लेना ही पड़ता है कुमारी जयललिता और कुमारी मायावती की तरह ….. और इस फील्ड के यह घाघ नेता इनका क्या हश्र करते है यह खुद इनके इलावा कोई भी नहीं जानता …..

राजनीति के बाद बात आती है माडलिंग तथा फ़िल्मों से जुड़े हुए  क्षेत्र की ….. इसमें नारी कितनी सुरक्षित है यह किसी से कहने या बताने की जरूरत नहीं है ….. लेकिन यहाँ पर उसका रिमोट अलग अलग समय में अलग -२ पुरुषों के हाथो में बदलता रहता है ….. बड़े पर्दे पर दिखने की चाहत  की बात तो रहने दीजिए हमारे बुद्धू बक्से में प्रसारित होने वाले धारावाहिकों में भी रोल देने के नाम पर पर्दे के पीछे बहुत कुछ होता है …..

इसके बाद बारी आती है जबरन वैश्याव्रती के धन्धे में धकेल दी  गई महिलायों की …. अपने पिछले जन्म के पापों की सज़ा भुगत रही उन बेचारियों के एक ही समय में अनेको हाथों में रिमोट कंट्रोल रहते है जैसे की कोठे वाली बाई और दलाल वगैरह तथा इस पेशे से जुड़े हुए गुंडों के हाथों में …. लेकिन आजकल की  आधुनिक हाई फाई सोसाइटी की देन  कालगर्ल देखने में चाहे अपनी मर्जी से इस धन्धे में आई हुई दिखती हो लेकिन असल में उसका रिमोट भी किसी ना किसी रूप में किसी पुरुष के हाथ में ही होता है ……

और मुझको सबसे ज्यादा दुःख तो तब होता है जब मै इस प्रकार की खबरों को पढ़ता हूँ की शादी / नौकरी  का झांसा देकर शारीरिक शोषण / बलात्कार  करता रहा” ….. मै नौकरी वाले केसों में कुछ करने में तो खुद को लाचार पाता हूँ लेकिन शादी के नाम पर अपने जिस्म और रूह का रिमोट कंट्रोल पराये पुरुष को देने वाले केसों के बारे में मेरी ऐसी सभी महिलाओं को यह नेक सलाह है की आप अपने घर बैठे हुए ही मेरे नाम की चुनरिया ओढ़ कर मेरे नाम का सिंदूर अपनी मांग में सजा सकती है और अपने नाम के साथ मिसिज राजकमल शर्मा लगा सकती है , मुझको इस बात में ऐतराज़ की बजाय खुशी ही होगी …. उसके बाद अगर आपको मुझसे ज्यादा कोई योग्य वर मिल जाता है तो आप स्वेच्छा से उस के गले में वर माला डाल  कर मुझसे अलग हो सकती है , मेरा आशीर्वाद हमेशा ही आपके साथ रहेगा ….. लेकिन आज के बाद मुझको  अखबार में शादी के नाम पर शारीरिक शोषण की खबर नहीं मिलनी चाहिए …..

शादी के नाम पर शोषित सभी महिलायों का बिना वरमाला के रिमोट कंट्रोल धारी

राजकमल शर्मा

( आजकल के समय में अपने घर परिवार में पूरी इज्जत से अपने पति परमेश्वर के हाथों में अपनी इज्जत रूपी  गहने का रिमोट कंट्रोल थमाने वाली  औरत सबसे ज्यादा भाग्यशाली तथा खुशकिस्मत है – ऐसी सभी पतिव्रता नारियों को मेरा नमन )

“महिलाओं  का  रिमोट  कंट्रोल”

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग