blogid : 2222 postid : 659

हे मीरा के गिरधारी

Posted On: 7 Jul, 2011 Others में

MERI NAJARJust another weblog

rameshbajpai

78 Posts

1604 Comments

हे मीरा के गिरधारी |

लोग कहै यह बाऊरि तिरिया ,संत     कहै     यह न्यारी |

जनम जनम उर धरे चरण प्रभु , नाम भजन अधिकारी |

मीरा के मन गिरधर बसते ,     पीताम्बर              धारी |

राणा तो उत नाग     पठायो , इत    जो खुली      पिटारी |

शालिग्राम    मिले     मीरा को ,जय     हो किशन मुरारी  |

गरल हलाहल     अमृत लागा ,मोहन      की      बलिहारी |

मीरा      रानी जोगिनी     बनिगै ,किरपा      पाई तुम्हारी|

हे मन      मोहन हे     मुरलीधर  ,       हे बृष  भानु दुलारी |

अब “ रमेश” मीरा गुन गावत ,     चाहत    कृपा तुम्हारी  |

मीरा रानी चाकर     प्रभु की ,तरि गयी      चरण पखारी   |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग