blogid : 18968 postid : 1308893

सुसंस्कार

Posted On: 22 Jan, 2017 Others में

अनथक Just another Jagranjunction Blogs weblog

rampalsrivastava

34 Posts

3 Comments

dreamsसंस्कार जीवन के सभी क्षेत्रों और विभागों पर आच्छादित है | सुसंस्कार नहीं हैं ,तो कुभाव आएगे और मनुष्य को अपराध की ओर ले जाएंगे | अमर्यादित बनाएंगे | संस्कारों से बंधा व्यक्ति गंभीर अपराध कर ही नहीं सकता | डर मानव प्रकृति के विरुद्ध चीज़ है , इसीलिए महान संत अरबिंदो ने डर से सर्वथा दूर रहने की शिक्षा दी है , क्योंकि यह व्यक्तित्व का नाशक है | सामयिक रूप से इसे व्यवहृत किया जा सकता है | दीर्घकालिक केवल सुसंस्कारों को ही बनाना चाहिए |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग